Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    ग़ाज़ीपुर। उत्तर प्रदेश सरकार के एंबुलेंस रोज लोगों को दे रही है नई जीवन

    ग़ाज़ीपुर। 102 और 108 एंबुलेंस में तैनात ईएमटी जिन्हें तैनाती से पूर्व एंबुलेंस में किसी भी क्रिटिकल मरीज को रिस्पांस करने की ट्रेनिंग दी जाती है। ताकि वह एंबुलेंस में मरीज को ले जाते वक्त किसी भी तरह का मामला क्रिटिकल होने पर उनकी देखभाल कर सकें। और कुछ इसी तरह का मामला इन दिनों 102 एंबुलेंस में देखने को मिल रही है जहां आए दिन 102 एंबुलेंस में गर्भवती की डिलीवरी कराए जाने का क्रम जारी है।

    108 एंबुलेंस के ब्लॉक प्रभारी दीपक राय ने बताया कि 28 मार्च को मनिहारी ब्लॉक के अकराव गांव से 102 एंबुलेंस के लिए फोन आया कि एक गर्भवती जिसका डिलीवरी होना है, और पेन बढ़ गया है। जिसके बाद 102 एंबुलेंस के पायलट महेश के द्वारा तत्काल बताए गए लोकेशन पर एंबुलेंस लेकर पहुंचा और जब वह स्वास्थ्य केंद्र के लिए लेकर चला लेकिन रास्ते में दर्द बढ़ जाने के कारण 102 एंबुलेंस में ही ईएमटी शैलेंद्र के द्वारा उसकी डिलीवरी करानी पड़ी। इसके अलावा 29 मार्च मंगलवार को भी मोहम्मदपुर मनिहारी ब्लॉक से भी कॉल आया। जिसके बाद पायलट शिव शक्ति के द्वारा बताए गए लोकेशन पर एंबुलेंस पहुंची और तत्काल गर्भवती का रेस्क्यू करते हुए पास के स्वास्थ्य केंद्र पर ले जाने के लिए निकला। लेकिन गर्भवती के दर्द बढ़ जाने के कारण रास्ते में ही एंबुलेंस में तैनात ईएमटी ब्रजभूषण के द्वारा महिला का डिलीवरी कराया गया। उसके पश्चात जच्चा और बच्चा को स्वास्थ्य केंद्र पर ले जाकर एडमिट कराया गया जहां पर दोनों को ब्लॉक के डॉक्टरों के द्वारा स्वस्थ बताया गया। डॉक्टरों के द्वारा जच्चा और बच्चा को स्वस्थ बनए जाने पर दोनों परिजनों में खुशियों की लहर दौड़ गई। और उन लोगों ने एंबुलेंस के पायलट और ईएमटी को ढेर सारे आशीर्वाद भी दिए।

    उन्होंने बताया कि लगातार 102 एंबुलेंस में ईएमटी के तकनीकी सहयोग के द्वारा प्रसव कराए जाने के बाद अब लोगों में 102 एंबुलेंस के पायलट और ईएमटी के प्रति विश्वास बढ़ता जा रहा है। और इसी विश्वास के तहत अब तक जनपद में सैकड़ों डिलेवरी एंबुलेंस के अंदर कराया जा चुका है।

    महताब आलम 

    Initiate News Agency (INA),  ग़ाज़ीपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.