Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अलीगढ़: CM योगी ने कहा,दंगा ओर बेटियों की सुरक्षा के साथ करेंगे खिलवाड़ तो दुर्योधन और दुशासन जैसे हो जाएंगे कांड? बुलडोजर से है सपा को परेशानी

    अलीगढ़: जनपद अलीगढ़ में यूपी 2022 विधानसभा चुनाव का चुनावी बिगुल प्रथम चरण की तरफ बढ़ चुका है। 10 फरवरी को प्रथम चरण का चुनाव संपन्न होना है। इस बार यूपी चुनाव जीतने के लिए सभी दलों के दिग्गज, चाणक्य, सूरमा एडी चोटी का जोर लगाए हुए हैं।इस दौरान सभी दलों के प्रत्याशियों व समर्थकों ने अपनी अपनी ताकत इस विधानसभा चुनाव में फूंक दी है। जबकि 2017 विधानसभा के चुनाव में अलीगढ़ जिले की सातों सीटें भारतीय जनता पार्टी के खाते में गई थी। लेकिन इस बार भी भारतीय जनता पार्टी 7 सीट जीतने के लिए कोई कसर अपनी तरफ से बाकी छोड़ने वाले नहीं हैं। 

    क्योंकि इस बार के 2022 विधानसभा चुनाव में भाजपा की सातों विधानसभा सीट जीतना उनके प्रतिष्ठा का सवाल बना हुआ है। इसी कड़ी में प्रथम चरण के चुनाव से पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बीजेपी प्रत्याशियों के समर्थन में अलीगढ़ पहुंचे जहां उन्होंने जनसभा को संबोधित किया है। इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने समाजवादी पार्टी पर हमला बोलते हुए कहा कि सपा को उनके बुलडोजर से परेशानी होती है। 

    जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश के जनपद अलीगढ़ के अकराबाद क्षेत्र के नानऊ पेंठ मैदान में 10 फरवरी को होने वाले मतदान को लेकर योगी आदित्यनाथ की जनसभा आयोजित की गई। बीजेपी प्रत्याशी के समर्थन में योगी आदित्यनाथ के द्वारा जनसभा को संबोधित किया गया। इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सपा को उनके बुलडोजर से ज्यादा परेशानी हो गई है। कहा कि अब समाजवादी पार्टी के नेता बताएं कि उनके काम दिखाई दे रहे हैं। लेकिन समाजवादी पार्टी ने कोई विकास कराया हैं तो बोले,उन्होंने कहा हमने कब्रिस्तान की बाउंड्रीबाल बनाई है। 

    जबकि बीजेपी की सरकार में सात सौ धाम ओर मंदिरों पर काम हुए हैं। अयोध्या विकसित हो रही है। जबकि काशी को अत्याधुनिक बनाया जा रहा है।तो वहीं मथुरा कैसे बच जाएगा। येे काम होने चाहिए न? बुलडोजर चलना चाहिए न ? इसके साथ ही योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पहले यूपी से पलायन होता था।लेकिन अब प्रगति हो रही है। क्योंकि यूपी के दंगाइयों को पता है कि अगर वह धंधा करेंगे तो उनके गले में तख्ती टांग दी जाएगी।

    जबकि अलीगढ़ में राजा महेंद्र प्रताप सिंह के नाम पर बीजेपी सरकार ने विश्वविद्यालय का निर्माण शुरू कराया। अलीगढ़ ओर आसपास के छात्रों को जब डिग्री मिलेगी तो उस डिग्री पर राजा महेंद्र प्रताप सिंह का नाम होगा। तब उनके नाम के बारे में पता लगेगा कि राजा महेंद्र प्रताप ने 1915 में भारत की अंतरिम सरकार का गठन अफगानिस्तान में रहकर कर दिया था। क्या राजा महेंद्र प्रताप के नाम पर विवि की स्थापना पहले क्यों नहीं हो पाई। 

    जिस अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के लिए उन्होंने अपनी भूमि दान दी थी, उस अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के अंदर राजा महेंद्र प्रताप के नाम से कोई शिलापट क्यों नहीं लग पाया था। इससे कारण साफ है कि देश के महापुरुषों के प्रति सम्मान का भाव नहीं था। कभी राजा महेंद्र प्रताप सिंह भुला दिया जाता तो कभी लोह पुरुष सरदार बल्लभवाई पटेल भुला दिए जाते हैं।लखनऊ में सरकार ने कल्याण सिंह के नाम पर एक हजार करोड़ के कैंसर रिसर्च सेंटर का नाम कल्याण सिंह के नाम पर रखा है।

    जबकि भाजपा की डबल इंजन की सरकार में दंगे नहीं होते ओर अराजकता नहीं हो सकती हैं गुंडागिर्दी भी नहीं हो सकती। बहन बेटियों की सुरक्षा के साथ कोई खिलवाड़ नहीं कर सकता। क्योंकि सबको मालूम है कि अगर दंगा करेंगे, बेटियों की सुरक्षा के साथ अगर खिलवाड़ करेंगे तो दुर्योधन और दुशासन जैसे कांड हो जाएंगे।

    क्योंकि दंगा फसाद समाजवादी पार्टी की सरकार से विरासत में मिला था। बरेली, कोसी कभी आगरा अलीगढ़ के दंगा। जबकि सपा की सरकार की समय उनकी संवेदना गरीब, किसान, बेटियों की सुरक्षा के लिए नहीं थीं।बल्कि उनकी संवेदना दंगाइयों के लिए थी। परदेस में पेशेवर माफिया के प्रति थी। माफिया को संरक्षण देकर अराजकता पैदा करते थे। यह किसी से छिपा हुआ नहीं है।

    सीएम ने कहा की अलीगढ़ के डिफेंस कारिडोर में जो तोप तैयार होगी उस पर बैठकर अलीगढ़ का युवा सीमा पर जाएगा और सीमा पर दुश्मन के छक्के छुड़ायेगा। उन्‍होंने कहा विकास के कार्यों में लूट मचती थी। उदाहण आपके सामने हैं। विकास का पैसा सड़क, विवि. एयरपोर्ट पर खर्च नहीं होता था। विकास का पैसा खानदान पर खर्च होता था या फिर इत्र वाले मित्र का विकास करने पर खर्च होता था।जब इत्र वाले मित्र के यहां बुलडोजर चलता है। तो वहां नोट के पहाड़ निकल पड़ते हैं। इससे साबित है कि सपा की सरकार में विकास के कार्य में डकैती डाली जाती थी।

    उन्होंने कहा कि बहन मायावती की सरकार होती तो हाथी का पेट तो कभी भरता ही नहीं है।उन्होंने कहा कि समाजवादी नेता मिले ओर बोले आपके यहां विकास तो दिखाई देता है पर ये बुलडोजर का मतलब क्या है। मैंने कहा बुलडोजर का मतलब समझ जाओगे।क्योंकि भगवान कृष्ण ने क्या कहा था। एक में सस्त्र और दूसरा में शास्त्र। 

    शास्त्र लोक कल्याण का मार्ग प्रशस्त करने के लिए, विकास का लिए और और ससत्र दुस्टों को उनके अंजाम तक पहुंचाने के लिए हैं। क्योंकि विकास होगा कल्याण के लिए और बुलडोजर माफियाओ की छाती पर चढ़ाने के लिए होगा। उनके अवैध कब्ज़े ढहाने के लिए। सपा परेशान है।अब सपा को बुलडोजर से ज्यादा परेशानी हो गई है।



    Initiate News Agency(INA)

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.