Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अयोध्या। अयोध्या जनपद में पांचो विधानसभा क्षेत्र में कांटे की टक्कर, परिणाम कुछ भी हो सकता है

    --अयोध्या सदर की सीट भाजपा के नाक का सवाल बनी, लहर न होने से पार्टी बेचैन

    अयोध्या। मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम के जनपद अयोध्या में 5 विधानसभा क्षेत्र हैं। पांचों विधानसभा क्षेत्र में सपा और भाजपा के बीच कड़ा मुकाबला है। यद्यपि नामांकन और प्रचार को देखने से जनता में कोई उत्साह नहीं है।अयोध्या में 2022 विधानसभा चुनाव के लिए सभी राजनीतिकदलों की सेनाएं सजकर मैदान में आमने-सामने हैं। वर्तमान विधानसभा चुनाव में  लहर न होने से राजनैतिक दलों में बेचैन देखी जा रही है। 

    अयोध्या विधानसभा के चुनावी समर में जिले की सभी पांचों सीटों पर अब लगभग तस्वीर स्पष्ट हो गई है। सभी प्रमुख दलों के प्रत्याशी घोषित हो चुके हैं।बहुजन समाज पार्टी के अलावा सभी प्रमुख दल पुराने चेहरे के भरोसे ही हैं।भाजपा को उसके गढ़ में ही घेरने में पूरा विपक्ष जुट गया है और अयोध्या सदर की सीट पार्टी के नाक का सवाल बनी हुई हैl लहर न होने से  बेचैन हैं तो सपा पांचों सीटों पर भाजपा को घेरने में पूरी ताकत से जुट गई है।

    अयोध्या विधानसभा क्षेत्र से बहुजन समाज पार्टी ने काडर पर ही भरोसा जताया है और युवा चेहरे रवि प्रकाश मौर्य को मैदान में उतारा है, वहीं कांग्रेस ने भी  रीता मौर्य को टिकट दिया है। प्रमुख प्रतिद्वंद्वी भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी वेद प्रकाश गुप्ता और समाजवादी पार्टी से पूर्व मंत्री तेज नारायण पांडेय पवन फिर आमने सामने हैं। चुनाव में दावे  सभी राजनैतिक दल करते हैं किन्तु मुख्य मुकाबला सपा व भाजपा में ही देखा जा रहा है। वैसे यहां से भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के प्रत्याशी सूर्य कांत पांडेय भी ताल ठोंक रहे हैं। 

    गोशाईगंज में दो बाहुबली खब्बू तिवारी की धर्मपत्नी आरती व अभय सिंह मैदान में हैं। चूंकि खब्बू तिवारी जेल के सलाखों में है। जहां पर कड़ा मुकाबला सपा भाजपा में है। बहुजन समाज पार्टी ने यहां से राम सागर वर्मा को चुनावी समर में उतार कर यहां मुकाबला कड़ा कर दिया है।उनकी बिरादरी के वोट इस इलाके में अच्छे खासे हैं जो उलटफेर करने के लिए पर्याप्त हैं। 

    गोसाईगंज विधानसभा क्षेत्र में अभय सिंह पहली बार कुर्मी वोट के बलबूते पर जीते थे। किंतु दोबारा वहीं स्थित खब्बू तिवारी के साथ हुई अपना दल के गठबंधन से खब्बू तिवारी को कुर्मी बिरादरी का वोट मिला जिससे वह विजई घोषित हुए। इस बार बसपा ने कुर्मी बिरादरी का प्रत्याशी देकर दोनों बाहुबलियों के माथे पर चिंता की लकीर खींची है।गोशाईगंज में दोनों बाहुबलियों खब्बू तिवारी व अभय सिंह के समर्थकों के बीच जंग तेज हो चुकी हैl

    बीकापुर में देवकाली मंदिर महंत परिवार के सुनील पाठक बसपा से आकर बदल रहे समीकरण। बीकापुर में बसपा ने कांग्रेस से पार्टी में आए सुनील पाठक को टिकट देकर यहां के समीकरण बदल दिए हैं।  सुनील पाठक साकेत महाविद्यालय के छात्रसंघ अध्यक्ष रह चुके हैं और बीते तीन दशक से वह सक्रिय राजनीति में कांग्रेस में विभिन्न पदों पर रह चुके हैं। बीकापुर क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी वर्तमान विधायक शोभा सिंह के पुत्र  अमित कुमार सिंह मैदान में हैं।  कांग्रेस ने जिलाध्यक्ष अखिलेश यादव को टिकट दे दिया है। 

    मिल्कीपुर सुरक्षित से समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी पूर्व मंत्री अवधेश प्रसाद मैदान में हैं।भाजपा ने वर्तमान विधायक गोरखनाथ बाबा पर ही भरोसा जताया है,जबकि बसपा ने नये चेहरे संतोष कुमार उर्फ सूरज चौधरी को मुकाबले में खड़ा किया है। रुदौली में  अब्बास अली जैदी रुश्दी मियां बीमार हैं।उन्हें बदले जाने की मुहिम सपाई ही चला रहे हैं। फिलहाल जब तक वह स्वयं दावेदारी न छोड़ें पार्टी अपनी तरफ से बदलाव के पक्ष में नहीं दिख रही है।

    रूदौली विधानसभा क्षेत्र से भाजपा ने रामचंद्र यादव का टिकट बरकरार रखा है। बसपा ने यहां से रसूखदार चौधरी परिवार के चौधरी शहरयार को टिकट दिया है।इसके पहले भी बसपा यहां अन्य दलों को कड़ी चुनौती देती रही है।चौधरी शहरयार सपा और बसपा दोनों ही दलों की चुनावी राह में बड़ी अड़चन रहेंगे। इस प्रकार अयोध्या जनपद में पांचों विधानसभा क्षेत्र में कड़ा चुनावी मुकाबला होगा। परिणाम चाहे जो हो।यह मतदाता पर निर्भर है।


    देव बक्श वर्मा

    Initiate News Agency(INA) अयोध्या

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.