Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    पलवल। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने गर्भपात के आरोप में छापा मार कर की कार्यवाही।

    पलवल। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने गुप्त सूचना के आधार पर बल्लभगढ़ के सोहना रोड पर फ्रेंड्स कॉलोनी में स्थित ठाकुर क्लीनिक पर छापा मारा लंबे समय से इस क्लीनिक पर गर्भपात किए जाने की सूचना के आधार पर छापामार कार्यवाही की गई स्वास्थ्य विभाग की टीम ने क्लीनिक संचालक के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करा दिया है।

    डॉ ब्रह्मदीप सिंह जिला सिविल सर्जन पलवल
    भले ही गर्भपात को रोकने के प्रदेश सरकार और स्वास्थ्य विभाग द्वारा लाख प्रयास किए जा रहे हैं बावजूद इसके चंद रुपयों के लालच में कुछ लोग आज भी इस तुच्छ धंधे में लिप्त है इसी कड़ी में पलवल स्वास्थ्य विभाग की टीम मुख्य चिकित्सा अधिकारी ब्रह्मदीप सिंह के मुख्य निर्देशानुसार बल्लभगढ़ सोहना रोड पर स्थित ठाकुर क्लीनक पर छापामार कार्यवाही करने पहुंची। छापामारी टीम में नोडल अधिकारी डॉ प्रवीण कुमार, पीएनडीटी डॉक्टर महेश नरवत, मेडिकल ऑफिसर डॉ प्रियंका व ड्रग कंट्रोलर पूजा चौधरी मौजूद रहे। जिला सिविल सर्जन डॉ ब्रमदीप सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि क्लीनिक पर पहुंचकर टीम ने एक नकली ग्राहक को गर्भपात कराने के लिए क्लीनिक में भेजा। ठाकुर क्लीनिक के संचालक डॉ परवेश ठाकुर ने नकली महिला मरीज से ₹900 लेकर उसे गर्भपात करने के लिए एमटीपी किट की 5 गोलियां दी और उसे खाने की विधि बताई। नकली ग्राहक ने जैसे ही बाहर आकर टीम को इशारा किया टीम ने छापामार कार्यवाही करते हुए डॉक्टर प्रवेश ठाकुर से दवा के लिए वसूले गए ₹900 भी बरामद किए। स्वास्थ्य विभाग फरीदाबाद की टीम ने आरोपी डॉक्टर के खिलाफ थाना प्रभारी पुलिस सिटी को शिकायत दर्ज करवा दी है तो वही पलवल जिला मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ ब्रह्मदीप कहा कि प्रदेश सरकार के निर्देशानुसार एमटीपी किट बेचते हुए एमटीपी करते हुए जिला पलवल में कोई आरोपी पकड़ा जाता तो उसके खिलाफ विभागीय कार्यवाही सख्त से सख्त की जाएगी आपको बता दें स्वास्थ्य विभाग पलवल की टीम द्वारा लगातार गर्भपात सेंटरों पर छापामार कार्रवाई करते रहने के चलते हड़कंप मचा हुआ है लगातार सख्त कार्रवाई होने के चलते जिला पलवल का सेक्स रेशों भी निरंतर बढ़ता नजर आ रहा है जिसके चलते हैं पलवल जिले में 1000 लड़कों के पीछे 971 लड़कियों का रेशों आ चुका है यह स्वास्थ्य विभाग के सराहनीय प्रयास के चलते संभव हो पाया है।

    ऋषि भारद्वाज

    Initiate News Agency (INA), पलवल

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.