Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    गया\बिहार। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गृह विभाग से संबंधित विषयों की उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक की ।

    गया\बिहार। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से राज के सभी 38 जिले के अधिकारियों के साथ मुख्य रूप से विधि व्यवस्था, शराब विनस्टीकरण, शराब में प्रयुक्त वाहनों की नीलामी, भूमि विवाद,  कब्रिस्तान घेराबंदी सहित अन्य विषयों पर उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक की। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में डीजीपी बिहार द्वारा बताया गया कि जिले अपराधिक घटनाओं  के  त्वरित गति से  निष्पादन हेतु सभी थानों में  जीपीएस युक्त 22 गश्ती वाहन उपलब्ध कराए गए हैं। गया जिला के समीक्षा में बताया गया कि गया जिले में अपराधिक घटनाओं के त्वरित समाधान करने वाले सभी गश्ती वाहन दल के 20 पुलिस पदाधिकारियों/ कर्मियों द्वारा बेहतर कार्य करने हेतु  उन्हें पुरस्कृत किया गया हैं ।

    मुख्य सचिव बिहार ने सभी वरीय पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिया कि सभी थानों में दिए गए जीपीएस युक्त गश्ती वाहन का निरंतर जांच किया करें। बैठक में बताया गया कि पूरे बिहार में सभी थानों में ऑनलाइन चरित्र प्रमाण पत्र जुलाई 2021 से प्रारंभ किया गया है,  वर्तमान में4, 32, 203 आवेदन में से3, 24711 व्यक्तियों का ऑनलाइन चरित्र प्रमाण पत्र निर्गत किया जा चुका है । देश आवेदनों का सत्यापन का कार्य जारी है। भूमि विवाद के समीक्षा के दौरान बताया गया कि जमीन से संबंधित आपसी विवाद को खत्म करने के लिए महीने में एक बार जिला अधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक 15 दिनों में एक बार एसडीओ और एसडीपीओ तथा सप्ताह के प्रत्येक शनिवार के दिन अंचल अधिकारी एवं थाना अध्यक्ष निश्चित रूप से बैठक करें,  शनिवार के दिन चौकीदार रेड में चौकीदार गांव से जुड़ी समस्याओं की जानकारी थाने में दें तथा अंचला अधिकारी एवं थाना अध्यक्ष  उसके समाधान के लिए तेजी से कार्य करें। बैठक में सभी बैठक में सभी पदाधिकारियों को निर्देश दिया गया कि जमीन से संबंधित मामलों का गुणवत्तापूर्ण सुनवाई करें ।

    वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में जिला पदाधिकारी गया द्वारा बताया गया कि थाना स्तर पर कुल 656 अनुमंडल स्तर पर 51 तथा जिला स्तर पर कुल 8 बैठकों का आयोजन किया गया है । पूरे बिहार में विधि व्यवस्था को संधारित रखने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री बिहार ने सभी जिला पदाधिकारियों एवं पुलिस अधीक्षकों को सख्त निर्देश दिया कि सभी थाना क्षेत्रों में रात्रि गश्ती के साथ साथ नियमित प्रातः कालीन गति एवं पैदल गति भी करवाना सुनिश्चित करें  समीक्षा में बताया गया कि गया जिला,  अन्य राज्यों की सीमा से जुड़ा हुआ है जिसमें मुख्य रुप से झारखंड बॉर्डर काफी नजदीक है,  शराब की आवाजाही को ध्यान में रखते हुए संबंधित बॉर्डर पर विशेष निगरानी रखें तथा शराब जांच अभियान चलाते रहे शराब की खेप आवाजाही शराब जप्त इत्यादि मामलों में जीरो टॉलरेंस का अनुपालन सुनिश्चित करें,  एवं जरूरत पड़ने पर ड्रोन के माध्यम से भी संबंधित क्षेत्रों का निगरानी कराएं।

    वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में आयुक्त मगध प्रमंडल गया मयंक बरवाड़ा,  पुलिस महानिरीक्षक विनय कुमार,  जिला पदाधिकारी गया  डॉo त्यागराजन एसएम,  वरीय पुलिस अधीक्षक हरप्रीत कौर, अपर समाहर्ता, मनोज कुमार,  जिला जनसंपर्क पदाधिकारी सहित अन्य संबंधित पदाधिकारी उपस्थित थे। 

    प्रमोद कुमार यादव

    Initiate News Agency (INA), बिहार

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.