Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अलीगढ़: अलीगढ़ देखें? दूधिया के पीछे घर में घुसे डकैत,फिर पुलिस चौकी के पास परिवार को बंधक बनाकर हथियारबंद डकैतों ने डाली डकैती

    अलीगढ़: उत्‍तर प्रदेश के जनपद अलीगढ़ के थाना सासनी गेट क्षेत्र में देर शाम आधा दर्जन डकैत दूध देने के लिए  पहुंचे दूधिया के पीछे मीणा भवन में घुस गए। घर में घुसे डकैतों ने परिवार के लोगों को बंधक बना लिया फिर चाकू मारकर महिला काेे घायल कर दिया। इसके बाद डकैतों ने हथियारों के बल पर परिवार के लोगों को धमकाकर लाखों रुपये के जेवरात व नकदी लूट ली। डकैती की वारदात के बाद खास बात यह है कि घटना को महिला ने अपने पति के खिलाफ ही रिपोर्ट दर्ज कराई है।

    अलीगढ़ में पुलिस चुनाव में लोगों को निडर होकर वोटिंग के लिए जगह जगह मार्च निकाल रही है। तमाम फोर्स बाहर से भी आया हुआ है। लेकिन बदमाशों के अंदर पुलिस का जरा सा भी खौफ नही दिखाई दे रहा। अलीगढ़ के थाना सासनी गेट क्षेत्र की पुलिस चौकी के पास आरकेपुरम कलोनी के मीना भवन में करीब आधा दर्जन हथियारबंद डकैतों ने रिटायर्ड एबीएसए के मकान में धावा बोल दिया। हथियारों के बल पर घर में घुसे डकैतों ने घर से लाखों रुपये के जेवर व नगदी की लूट करते हुए डकैती डाली गई। 

    जिसके बाद डकैत घर में डकैती डाल आराम से फरार हो गए। सूचना पर पहुंची पुलिस मामले की छानबीन में लगी हुई है। डकैती करने वाले बदमाशों की तलाश में पुलिस की तीन टीमें लगाई गई हैं। साथ ही इलाके के सीसीटीवी कैमरे खंगाले।लेकिन पुलिस को कोई सुराग नहीं मिला है।नेहा ने कहा कि उसको पूरा शक है कि उसके पति कुलदीप ने ही अपने साथियों से घटना करवाई है। तहरीर में जेवरात व नकदी की राशि नहीं बताई गई है। इस आधार पर पुलिस ने कुलदीप के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।

    मीना तोमर, पीड़िता

    जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश के जनपद अलीगढ़ के थाना सासनी गेट क्षेत्र में आधा दर्जन से ज्यादा हथियारबंद डकैतों ने आरके पुरम कॉलोनी के मीणा भवन में घुसकर सबसे पहले परिवार के लोगों को बंधक बनाया और चाकू तमंचे के बल पर घर में लूटपाट करते हुए डकैती डालनी शुरू कर दी। घटना के समय घर में रिटायर्ड एबीएसए स्वर्गीय कोमल सिंह तोमर की पत्नी मीना तोमर उनकी बड़ी बेटी नेहा और मेघा मौजूद थी। साथ ही घर में एक टीचर भी था जो नेहा के 1 बच्चे को पढ़ा रहे थे। 

    बताया जाता है कि बदमाशों ने घर में घुसने का सहारा दूधवाले के साथ लिया। दूध वाला जैसे ही दूध देने के लिए घर में घुसा तभी उसके पीछे-पीछे आधा दर्जन के करीब डकैत डकैती डालने के लिए घर में घुस गए। इस दौरान घर में घुसे हथियारबंद डकैतों ने हाथों में मौजूद हथियारों से घर में मौजूद परिवार के लोगों को डरा कर बंधक बना लिया व घर मे जम कर लूटपाट करते हुए डकैतों ने डकैती डाली। इस दौरान हथियारों के बल पर डकैतों ने करीब 30 तौला सोना, व घर मे रखी नगदी भी लूट ली व मौके से फरार हो गए। डकैती के बाद मौके पर पहुंची पुलिस मामले की छानबीन में लगी है।

    डकैती के दौरान घर में मीना, मेघा, नेहा थे। एक कमरे में पड़ोस में रहने वाले शिक्षक प्रियदर्शन नेहा के बेटे को ट्यूशन पढ़ा रहा था। नेहा के बताये अनुसार रात आठ बजे के करीब पांच-छह लोग घर में घुस आए। तमंचे, पिस्टल व चाकू के बल पर सिर्फ उसको ही निशाना बनाया फिर नेहा को कमरे में अंदर ले गए।जहां मेघा भी कमरे में आ गईं। इसके बाद बदमाशों ने अलमारी में रखे जेवरात व नकदी निकाल ली। इसमें करीब 15 तोला सोना व 50-60 हजार की नकदी बताई जा रही है। घर में घुसे सभी बदमाशों ने मास्क लगा रखे थे। लेकिन वारदात के बाद जाते वक्त मास्क भी नीचे कर लिया। चाकू से नेहा को दाहिने हाथ में खरोंच भी आई है।

    राघवेंद्र सिंह क्षेत्राधिकारी प्रथम

    सीओ प्रथम राघवेंद्र सिंह ने बताया कि नेहा की ओर से पुलिस को दी तहरीर में कहा है कि वर्ष 2013 में कुलदीप के साथ शादी हुई थी। पति तलाक का दबाव बना रहे थे। इसी के चलते पांच फरवरी को कुछ लड़के तमंचे व छुरे लेकर घर में घुसे। नेहा का मोबाइल भी ले गए। आरोप है कि तमंचा व चाकुओ से डराया-धमकाया। अलमारी में रखे जेवरात लूटकर ले गए। आरोपियों की तलाश में सीसीटीवी कैमरे खंगाले जा रहे हैं।


    Initiate News Agency(INA)

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.