Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अलीगढ़। माहौल बिगाड़ने की कोशिश:मंदिर में घुसकर तोड़ी देवी देवताओं की मूर्तियों, अराजक तत्वों ने की माहौल बिगाड़ने की कोशिश

    अलीगढ़। जनपद अलीगढ़ जिले में एक बार फिर अराजक तत्वों के द्वारा फिजा में जहर घोलने की कोशिश की गई।थाना मडराक इलाके में अराजक तत्वों के द्वारा 200 साल पुराने मंदिर के अंदर घुस कर हिंदू देवी देवताओं की मूर्तियों को खंडित करते हुए तोड़ दिया। ग्रामीणों का आरोप है कि अराजक तत्वों के द्वारा मंदिर के अंदर घुसकर मूर्तियों को तोड़ा गया है,और मंदिर की मूर्तियां तोड़कर हिंदू-मुस्लिम कराने की कोशिश की गई है। अराजक तत्वों ने मंदिर की मूर्तियां तोड़ने के बाद एक पत्र भी मौके पर छोड़ा गया है। इस पत्र में लिखा है जो अपनी रक्षा नहीं कर सकते...वो आपकी रक्षा क्या करेंगे.... सबका मालिक एक है।

    यूपी के अति संवेदनशील अलीगढ़ जिले में अराजक तत्वों द्वारा साजिश रचते हुए क्षेत्र का माहौल बिगाड़ने की कोशिश की गई। थाना मडराक इलाके में हिंदू समुदाय के लोगों की 200 साल से पुराना आस्था का प्राचीन मंदिर बना हुआ है। ग्रामीण क्षेत्र के अंदर बने इस प्राचीन मंदिर के अंदर घुसकर कुछ अराजक तत्वों के द्वारा मंदिर के अंदर रखी देवी देवताओं की मूर्तियों को खंडित करते हुए तोड़ दिया है। मंदिर के अंदर देवी देवताओं के मूर्ति तोड़ने की सूचना मिलते ही प्रशासनिक अधिकारियों सहित भारी तादात में पुलिस फोर्स घटनास्थल पर पहुंच गया। लेकिन मामला संज्ञान में आने पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया और अब फिजा में जहर घोलने वाले आरोपियों की तलाश की जा रही है। पुलिस का कहना है कि मंदिर में मूर्ति तोड़ने वाली आरोपी जल्द ही कानून की गिरफ्त में होंगे। जबकि ग्रामीणों का आरोप है किसी उपद्रवियों द्वारा मंदिर की मूर्तियां तोड़कर हिंदू-मुस्लिम दंगा कराने की कोशिश की गई है।

    जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश के जनपद अलीगढ़ के मडराक थाना इलाके के एक गांव में स्थित प्राचीन मंदिर में किसी असामाजिक तत्व ने मंदिर में रखी मूर्तियों को खंडित कर दिया। जिसके बाद इलाके के लोगों ने एकत्रित होकर पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है।पुलिस ने मामले में मुक़द्दमा पंजीकृत कर संदिग्ध व्यक्तियों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है।वहीं असामाजिक तत्वों ने माहौल बिगाड़ने के लिए  मंदिर में मूर्ति  खंडित करने के बाद एक पत्र भी छोड़ा है जिसमें लिखा है,,,,जो अपनी रक्षा नहीं कर सकते वो आपकी रक्षा क्या करेंगे,,,सबका मालिक है।


    वही पूरे मामले पर ग्रामीणों के द्वारा जानकारी देते हुए बताया गया 200 साल पहले इस मंदिर का जीवोद्धार हुआ था। लेकिन आज सुबह जब  सूचना मिली के मंदिर में मूर्ति खंडित पड़ी हुई है। इसकी सूचना उनके द्वारा पुलिस को दे दी गई है।ग्रामीणों का आरोप है कि अराजक तत्वों के द्वारा मंदिर के अंदर रखी मूर्तियां तोड़कर इलाके में हिंदू मुस्लिम कराने की कोशिश की गई है। मंदिर के अंदर मूर्ति तोड़े जाने की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। जहां पुलिस के द्वारा जांच पड़ताल की जा रही है। फॉरेंसिक टीम के द्वारा मौके पर पहुंचकर मूर्तियों के करीब से नमूने भी लिए हैं। वहीं प्रशासन के द्वारा सुरक्षा व्यवस्था की दृष्टि से पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। पूरे मामले पर उपजिलाधिकारी कोल संजीव ओझा के द्वारा जानकारी देते हुए बताया गया। कि आवारा तत्वों के द्वारा माहौल बिगाड़ने की कोशिश की गई है। पूरे मामले को लेकर मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है। आवारा तत्वों की शिनाख्त कर कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

    अजय कुमार

    Initiate News Agency (INA), अलीगढ़

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.