Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अलीगढ़। हिजाब के जवाब में छात्र भगवा वस्त्र ओढ़कर चंदन लगा पहुंचे डीएस कॉलेज,कहा बुर्खा टोपी बंद करो

    अलीगढ़। यूपी के अलीगढ़ जिले में हिजाब कांड की आग लगातार बढ़ती जा रही है।जहां हिजाब के जवाब में छात्र अपने तन पर भगवा वस्त्र ओढ़कर और अपने अपने माथे पर चंदन का तिलक लगाकर और रुद्राक्ष की माला पहनकर धर्म समाज कॉलेज पहुंच गए। जहां नारेबाजी की गई और नारे लगाते हुए कहा की बुरखा टोपी बेन करो, अगर तुम हिजाब पहनकर आओगे हम भगवा पहनकर आएंगे। हिजाब के जवाब में भगवा वस्त्र ओढ़कर और चंदन माथे पर लगाकर कॉलेज पहुंचने के बाद छात्र अलग-अलग अपनी-अपनी कक्षाओं में शामिल हुए और कक्षाओं में पहुंच कर पढ़ाई करने में जुट गए।

    बता दें हिजाब प्रकरण को लेकर देशभर में चल रहे विरोध-प्रदर्शन के बीच धर्म समाज महाविद्यालय में भी अब लगभग भगवा गमछे की एंट्री हो गई।बीए बीएससी के कुछ छात्रों ने भगवा गमछा ओढ़कर और माथे पर चंदन लगाकर कक्षाओं में पढ़ाई की। कक्षा में पढ़ाई करते छात्रों की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं। तो वहीं महाविद्यालय परिसर में भी इनकी खूब चर्चा रही। इसके बाद छात्रों ने प्रॉक्टर को ज्ञापन सौंपा। छात्र नेताओं ने शिक्षा का इस्लामीकरण न होने देने की भी चेतावनी दी।

    जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश के जनपद अलीगढ़ में हिजाब को लेकर राजनीति लगातार अपने चरम सीमा की तरफ बढ़ती जा रही है। अलीगढ़ में हिजाब के जवाब में छात्र भगवा वस्त्र गले में धारण कर और माथे पर चंदन लगाकर ओर रुद्राक्ष की माला पहन कर कॉलेज पहुंचकर सभी छात्र अपनी अपनी कक्षाओं में शामिल हुए।आपको बताते चलें कि कर्नाटक में हुए हिजाब प्रकरण के समर्थन में बीते दिनों अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में छात्र-छात्राओं ने मार्च निकाला था और अल्लाह हूं अकबर के नारे भी लगाएं गए थे। जिसको लेकर बीजेपी सांसद सतीश गौतम,बीजेपी की पूर्व मेयर शकुंतला भारती सहित सपा महिला नेत्री रुबीना खानम समेत तमाम राजनेताओं ने भड़काऊ और विवादित बयान दिए थे।इस दौरान धर्मसमाज महाविद्यालय में कुछ छात्र हिजाब का जवाब देते हुए अपने-अपने गले में भगवा वस्त्र धारण कर और माथे पर तिलक लगाकर कॉलेज में दाखिल हुए। जिसके बाद सभी छात्र अलग-अलग कक्षाओं में भगवा वस्त्र धारण कर और माथे पर तिलक लगाएं इसी वेशभूषा में बैठ गए। जिसके बाद छात्रों द्वारा एक ज्ञापन कॉलेज प्रशासन को सौंपा गया। कॉलेज प्रशासन को सौपें गए ज्ञापन में बुर्का व हिजाब पहनकर कॉलेज आने वाली छात्राओं के प्रवेश पर रोक लगाने की मांग की। कहा कि यदि ऐसा न हुआ तो हिंदू छात्र-छात्राएं भी भगवा गमछा, तिलक लगाकर कॉलेज आने के लिए मजबूर होंगे।

    डॉ. आरके वर्मा प्राचार्य डीएस कॉलेज

    इस दौरान पूर्व छात्रनेता और बीजेपी के जिला उपाध्यक्ष सौरभ चौधरी के द्वारा इन सभी भगवाधारी छात्रों का समर्थन किया। हालांकि भाजपा नेता ने हिंदू छात्रों का समर्थन करते हुए कहा कि पूरे देश में विशेष समुदाय के लोग हिजाब को लेकर बवाल मचा रखा है। उनका मानना है कि हिजाब की आड़ में हिन्दुस्तान के अंदर शिक्षा का इस्लामीकरण नही होने दिया जा सकता। जो लोग ड्रैस कोड का पालन न करके संविधान की अवेहलना कर शैक्षिक संस्थानों का इस्लामीकरण करना चाहते है उनके ऐसे नापाक मंसूबो को सार्थक नही होने दिया जा सकता।उन्होंने कहा कि हमारे द्वारा कॉलेज प्रशासन से मांग की गई है कि अगर कोई छात्रा हिजाब व बुरखा पहनकर आती है। तो अन्य छात्र-छात्राएं भी भगवा वस्त्र गले में ओढ़कर और माथे पर चंदन लगाकर ही कॉलेज आएंगे। कहा अभी तो ये शरुआत हुई हैं।इसके बाद देश के समस्त हिंदू समुदाय के लोग बाध्य हो जाएंगे ओर हर स्कूल कॉलेज शिक्षण संस्थान में भगवा धारण कर कॉलेज जाएंगे।

    धर्म समाज महाविद्यालय के प्राचार्य डॉक्टर राजकुमार वर्मा ने कहां की महाविद्यालय का अपना ड्रेस कोड है। किसी विद्यार्थी को भी धार्मिक वेशभूषा में आने की अनुमति नहीं है। कुछ छात्र भगवा वस्त्र पहनकर कॉलेज में पहुंचे थे। इसकी जानकारी हुई है। जिन छात्रों ने कॉलेज परिसर में पहुंच कर भगवा गमछा ओढ़कर पढ़ाई की उनके खिलाफ मामले में जांच बैठा दी गई है।

    अजय कुमार

    Initiate News Agency (INA), अलीगढ़

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.