Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अलीगढ़। AMU में पहुंची कर्नाटक बुर्का कांड की आग, अल्लाह हू अकबर लगा नारा,कहा इंतजामियां के दल्ले डर और खौफ की वजह कैंसिल नहीं किया? प्रोटेस्ट मार्च

    ..... AMU प्रॉक्टर कार्यालय ने प्रोटेस्ट मार्च की नहीं दी अनुमति, कर्नाटक की घटना के खिलाफ 12 को ठोकेंगे छात्र-छात्राएं प्रोटेस्ट की ताल

    अलीगढ़। उत्तर प्रदेश के जनपद अलीगढ़ में कर्नाटक में बुर्का पहने स्कूली छात्रा के साथ हुए बुर्का कांड की आग अब अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में पहुंच गई है। सोशल मीडिया पर बुर्का पहने मुस्लिम महिला के साथ हुई बदसलूकी के बाद वीडियो वायरल हुआ था। सोशल मीडिया पर बुर्का पहनें मुस्लिम छात्रा के साथ हुई बदसलूकी को लेकर अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी छात्र-छात्राओं कर्नाटक की इस घटना को लेकर कैंपस की सड़कों पर उतर कर प्रोटेस्ट मार्च निकालने के लिए सैकड़ों की तादात में इकट्ठा हुए थे। लेकिन अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के प्रॉक्टर कार्यालय की तरफ से मतदान और कोरोना को मद्देनजर प्रोटेस्ट मार्च निकालने की छात्र छात्राओं को अनुमति नहीं दी गई। जिसके चलते छात्र छात्राओं ने एएमयू इंतजामियां पर बड़ा आरोप लगाते हुए दल्ला तक कह डाला और कहा किसी चाटुकार या फिर डर और खौफ की वजह से उन्होंने अपना प्रोटेस्ट मार्च कैंसिल नहीं किया है।

    उत्तर प्रदेश के जनपद अलीगढ़ के अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्र और छात्राओं के द्वारा कर्नाटक के एक निजी स्कूल में बुर्का पहने मुस्लिम छात्रा के साथ बुर्का पहनने को लेकर हुई बदसलूकी और बवाल को लेकर अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्र छात्राओं द्वारा विरोध प्रदर्शन करते हुए एएमयू कैंपस से बाबे सैयद गेट तक प्रोटेस्ट मार्च निकाला जाना था।जहां सैकड़ों की तादात में छात्र-छात्राएं इकट्ठा होकर बाबा सैयद गेट पर पहुंच गए। बाबा सैयद गेट पर प्रोटेस्ट मार्च निकालने के लिए पहुंचे सैकड़ों छात्र छत्राओं को एक साथ इकट्ठा देख एएमयू इंतजामियां प्रशासन मौके पर पहुंच गया। जिसके बाद प्रोटेस्ट मार्च निकालने को इकट्ठा हुई प्रदर्शनकारी छात्र छात्राओं ने हंगामा करते हुए जमकर विरोध किया गया। लेकिन अलीगढ़ जिले में 10 फरवरी को होने वाले मतदान और कोरोना को देखते हुए अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन के प्रॉक्टर कार्यालय ने छात्र छात्राओं को एएमयू कैंपस में प्रोटेस्ट मार्च निकालने की अनुमति नहीं दी गई।जिसके चलते कर्नाटक में हुई घटना को लेकर अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्र-छात्राएं के द्वारा आह्वान किया है कि अब 12 फरवरी को प्रोटेस्ट मार्च निकालेंगे। 

    तो वही कर्नाटक में बुर्का पहने मुस्लिम छात्रा के साथ हुई बदसलूकी के विरोध में प्रदर्शनकारी छात्र छात्राओं के द्वारा आगामी 12 फरवरी को एक बार फिर कर्नाटक की घटना को लेकर विरोध प्रदर्शन दर्ज कराया जाएगा। इस दौरान एएमयू छात्राओं ने कहा कि प्रोटेस्ट मार्च निकालने से उन्हें कोई रोक नहीं सकता है क्योंकि उनके कॉन्स्टिट्यूशन में विरोध दर्ज कराने की अनुमति दी गई। इस दौरान अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्रों ने नारा ए तकबीर अल्लाह हू अकबर का नारा लगाया गया। इसके साथ ही एएमयू छात्र नेता आरिफ त्यागी ने कहा कि कर्नाटक के निजी स्कूल में जो बुर्का पहने उनकी मुस्लिम बहन के साथ जो कुछ भी बदसलूकी की गई है। यह बदसलूकी उसके साथ आरएसएस और भारतीय जनता पार्टी के इशारों पर हुआ है। क्योंकि पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव संपन्न होना है। ये बीजेपी जानती हैं। इसलिए यह सब सांप्रदायिक ध्रुवीकरण के लिए बीजेपी और आरएसएस के द्वारा किया जा रहा है। इस दौरान छात्रों ने कहा कल अलीगढ़ जिले में मतदान है। इसलिए अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्र नहीं चाहते कि सांप्रदायिक ताकतें शहर के माहौल को खराब करें। 

    हालांकि एएमयू प्रॉक्टर कार्यालय की तरफ से प्रोटेस्ट ना करने के लिए कोरोना और मतदान की वजह बताई गई थी। लेकिन छात्र कोरोना को इसकी वजह नहीं मानते। जबकि मतदान के चलते सभी छात्रों ने एक दूसरे से मशवरा करके ही विरोध प्रदर्शन टाला गया है। कहा यह प्रोटेस्ट मार्च किसी इंतजामियां के दवाब या किसी इंतजामियां के दल्ले या चाटुकार या फिर डर और खौफ की वजह से छात्र छात्राओं के द्वारा प्रोटेस्ट मार्च कैंसिल नहीं किया गया है। बल्कि इसके बाद उनके द्वारा बड़ा विरोध प्रदर्शन उनके द्वारा 12 फरवरी को किया जाएगा।

    एएमयू प्रॉक्टर वसीम अली ने कहा कि एएमयू छात्र छात्राओं के द्वारा फोन कॉल कर कर्नाटक की घटना को लेकर सूचना दी गई थी। उसी कर्नाटक की घटना को लेकर उनकी तरफ से प्रोटेस्ट मार्च निकालने को लेकर मना किया था। उन्होंने छात्र छात्राओं को बताया था कि कल अलीगढ़ जिले में मतदान होना है। उनके प्रोटेस्ट मार्च का असर लॉयर ऑर्डर पर भी पड़ सकती थी। क्योंकि प्रोटेस्ट मार्च के दौरान लायन आर्डर बिगड़ने की जिम्मेदारी एएमयू इंतजा मियां के ऊपर पड़ेगी। लिहाजा ये मुनासिब नहीं था कि एएमयू कैंपस में कोई प्रोटेस्ट मार्च निकाला जाए।

    अजय कुमार

    Initiate News Agency (INA), अलीगढ़

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.