Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अलीगढ़। आप कह रहे गलती हम कह रहे,ये अपराध है, दलित छात्रों के साथ भेदभाव, जनरल एवं अन्य के लिए 65% पर एडमिशन

    अलीगढ़। वार्ष्णेय कालेज में एडमिशन में धांधली का मामला दलित छात्र छात्राओं के अभिभावकों के साथ काफी संख्या में पहुंचे लोग जहां एसवी कालेज प्राचार्य कार्यालय में एडमिशन में भेदभाव को लेकर प्रदर्शन का हंगामा किया गया है।


    अलीगढ़ के धर्म समाज महाविद्यालय पर एडमिशन में भेदभाव को लेकर दलित छात्र छात्राओं के अभिभावकों ने कॉलेज परिसर में पहुंचकर प्रदर्शन करते हुए हंगामा किया। दलित अभिभावकों का आरोप है कि 65% पर जनरल एवं अन्य जाति के छात्रों का एडमिशन किया जा रहा है। लेकिन दलित छात्र छात्राओं के साथ भेदभाव किया जा रहा है। हंगामा कर रहे छात्र छात्राओं समेत परिवार के लोगों ने कॉलेज प्रशासन पर एडमिशन के नाम पर भेदभाव करने का आरोप लगाया है। हंगामा कर रहे लोगों ने कॉलेज प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर कॉलेज में एडमिशन के नाम पर भेदभाव खत्म नहीं किया गया तो थाने पर मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।

    जानकारी के अनुसार श्री वार्ष्णेय महाविद्यालय में एडमिशन प्रक्रिया में धांधली का मामला संज्ञान में आने पर काफी छात्र व अभिभावक एसवी कालेज पहुंच गए जहां छात्रों के परिवारीजनों ने कॉलेज प्रशासन पर प्रवेश प्रक्रिया में एससी छात्रों के साथ भेदभाव का आरोप लगाया वहीं अभिभावकों ने इसकी सूचना भाजपा जिला मंत्री एडवोकेट संजू बजाज को सूचना दी प्रकरण की सूचना पाकर संजू बजाज कार्यकर्ताओं के साथ कालेज पहुंच गए जहाँ प्रकरण की जानकारी की तब पता चला कि विश्वविद्यालय द्वारा हाल ही में 33 प्रतिशत सीटें प्रत्येक कालेज में बढ़ाई गई है जिसकी प्रवेश प्रक्रिया सभी कॉलेजों द्वारा शुरू करदी गई है वहीं एसवी कालेज में 33 प्रतिशत की बढ़ी हुई सीटों पर मनमाने तरीके कम मेरिट वाले सामान्य वर्ग के छात्रों के एडमिशन में वरीयता देकर एससी ओबीसी के अधिक मेरिट वाले पात्र छात्रों का सूची में नाम न आने व कालेज प्रशासन द्वारा एडमिशन न देने  का मामला तूल पकड़ गया। 

    जिसके कुछ देर में भाजपा से सन्देश राज बाल्मीकि जगदीश माहौर गोपेश माहौर,हरिओम माहौर, भी पहुचं गए। छात्र व अभिभावकों के साथ एसवी कालेज प्राचार्य के कार्यालय में घुस गए। जहां काफी देर तक हंगामे की स्थिति बनी रही। प्राचार्य के अवकाश पर होने व कार्यवाहक प्राचार्य की भूमिका में ब्रजेश सिंह व चीफ प्रॉक्टर अनिल वार्ष्णेय से एडवोकेट संजू बजाज ने प्रवेश प्रक्रिया को रद्द कर दूसरी सरकारी आरक्षण संविधान के अनुसार पात्र छात्रों को वरीयता देने की वकालत की काफी देर गहमा गहमी की स्थिति बनी रही तथा कई बार नोंकझोंक भी हो गई उसके बाद कार्यवाहक प्राचार्य व चीफ प्रॉक्टर ने कॉलेज की गलती स्वीकार करते हुए कहा कि आगे से ऐसी कोई गलती नही होगी तथा अभी लगाई गई सभी सूची कैंसिल कर नई पात्रता सूची बनाई जाएगी जिसके आधार पर एडमिशन किये जायेंगे साथ ही इस मिस्टेक के लिये विभागीय जांच भी कराई जाएगी जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी।

    वहीं संदेश राज बाल्मीकि ने कहा कि कॉलेज प्रशासन द्वारा सीधे सीधे एससी वर्ग के बच्चों के साथ भेदभाव किया गया है जिसे किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नही किया जाएगा। संजू बजाज ने कहा कि संविधान को चुनोती देने का काम कालेज प्रशासन द्वारा किया गया है एससी वर्ग के पात्र छात्रों को दरकिनार किया गया है ऐसी हरकत करने वाले किसी भी व्यक्ति को बर्दाश्त नही किया जाएगा कालेज प्रशासन द्वारा पात्र छात्रों के एडमिशन व जांच कर कार्यवाही  करने का आश्वासन दिया गया है।

    अजय कुमार

    Initiate News Agency (INA), अलीगढ़

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.