Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अलीगढ़। जमीर उल्लाह RSS की सदस्यता करे ग्रहण ले RSS में ट्रेनिंग सीखे देशभक्ति,देवबंद के मदरसे में वो क्या रघुराज का एडमिशन कराएगा, बीजेपी पूर्व महापौर शकुंतला भारती

    अलीगढ़। यूपी के अलीगढ़ में दर्जा प्राप्त राज्य मंत्री द्वारा मदरसों को आतंकवादियों का अड्डा बताने को लेकर दिए गए विवादित बयान के बाद सपा के पूर्व विधायक ने दर्जा राज्य प्राप्त मंत्री रघुराज सिंह का एडमिशन देवबंद के मदरसे में कराने और उनको देशभक्ति का पाठ पढ़ाते हुए कहा था कि रघुराज देशभक्त नहीं है। सपा विधायक के इस बयान पर अब भाजपा की पूर्व महापौर शकुंतला भारती ने पलटवार करते हुए सपा विधायक को चेतावनी देते हुए नसीहत दे डाली और कहा कि जमीर उल्लाह को अगर देशभक्ति सीखनी है तो RSS की संघ शाखा में आकर सदस्यता ग्रहण करें आरएसएस से ट्रेनिंग लेने के बाद देशभक्ति सीखें। क्योंकि ऐसे लोग जब हिंदुस्तान और पाकिस्तान का क्रिकेट मैच होता है तो पाकिस्तान जिंदाबाद के ही नारे लगाते हैं।

    शकुंतला भारती पूर्व महापौर बीजेपी अलीगढ़

    उत्तर प्रदेश के जनपद अलीगढ़ में समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक जमीर उल्लाह खान द्वारा प्रदेश सरकार में दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री के द्वारा देश के मदरसों को लेकर दिए गए विवादित बयान के बाद उनके द्वारा ठाकुर रघुराज सिंह का एडमिशन देवबंद के मदरसे में कराने के साथ ही कहा गया था कि रघुराज सिंह देशभक्त नहीं बताते हुए जमीर उल्ला ने विवादित बयान दिया था। सपा विधायक द्वारा दिए गए बयान को लेकर अब बीजेपी की पूर्व महापौर शकुंतला भारती भी मैदान में उतर गई और उन्होंने देवबंद के मदरसे में ठाकुर रघुराज का एडमिशन कराने की निंदा की गई हैं। इसके साथ ही शकुंतला भारती ने देवबंद के मदरसे में एडमिशन कराने के बयान पर पलटवार किया और कहा है कि जमीर उल्लाह खान देवबंद के मदरसे में तो ठाकुर रघुराज सिंह का एडमिशन नहीं करा पाएगा। क्योंकि उनके द्वारा कही गई एडमिशन के बात हास्यपद लगती है। आखिर जमीर उल्लाह क्या जाने देशभक्ति होती क्या चीज है। अगर ऐसे में जमीर उल्ला खान को देशभक्ति सीखनी ही है तो जमीर उल्ला खान आरएसएस (RSS) की सदस्यता का ग्रहण कर ले और आरएसएस मैं ट्रेनिंग लेने के बाद देशभक्ति सीखें की आखिर देश भक्ति होती क्या चीज है। आरएसएस संघ से जुड़ने के बाद ही जमीर उल्ला को प्रेरणा मिलेगी। ऐसे में जमीर उल्लाह क्या देवबंद के मदरसे में का एडमिशन कराएगा। बीजेपी के लोग कह रहे हैं की जमीर उल्लाह आरएसएस संघ के ट्रेनिंग कैंप में एडमिशन लेने के बाद देशभक्ति सीखें।


    जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश के जनपद अलीगढ़ में प्रदेश सरकार में दर्जा प्राप्त राज्य मंत्री के द्वारा देश के सभी मदरसों को आतंकवादियों का अड्डा बताने और मौका मिलने पर देश के मदरसे बंद करने का विवादित बयान देने के बाद अलीगढ़ के पूर्व सपा विधायक जमीर उल्ला खान द्वारा पलटवार करते हुए दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री ठाकुर रघुराज सिंह का एडमिशन देवबंद के मदरसे में कराने का विवादित बयान दिया था। पूर्व सपा विधायक द्वारा दिए गए बयान के बाद बीजेपी की पूर्व महापौर शकुंतला भारती ने सपा विधायक के बयान पर पलटवार करते हुए कहा है कि वह इस बयान की पूरी तरह से निंदा करती है और रघुराज सिंह कोई छोटे बच्चे नहीं हैं जो उनका एडमिशन देवबंद के मदरसे में करा दिया जाएगा। बयान देने वाले सपा विधायक अपने शब्दों को वापस ले आखिर वे होते कौन है देवबंद के मदरसे में रघुराज का एडमिशन कराने वाले और जब बीजेपी के लोग अपनी पर आएंगे तो ऐसे लोग कल्पना भी नहीं कर सकते कि उनका एडमिशन कहां कहां कराएंगे। जबकि भारतीय जनता पार्टी ऐसा काम नहीं करती जिससे कि उस पर अनुशासनहीनता का कोई दाग लगे। लेकिन एक बार एडमिशन कराने से पहले उसको सोचना चाहिए था।क्योंकि देवबंद मदरसा तो दूर की चीज हैं में उसको चेतावनी देती हूं यहां के मदरसे में ही जमीर उल्लाह रघुराज सिंह का एडमिशन करा कर दिखा दे,फिर बीजेपी के लोग जमीर उल्लाह की बुद्धि और शुद्धि दोनों चीज करा देंगे।

    विवादित बयान के साथी जमीर उल्लाह खान ने रघुराज सिंह को कहा था कि वह देश भक्त नहीं है।इस पर पूर्व महापौर बीजेपी शकुंतला भारती ने कहा अगर इन जालिमों की कहानी बताने लगेंगे तो पत्थर भी अपने आंसू बहाने लगेंगे। आखिर ऐसे लोग क्या जानेंगे की देश भक्ति होती क्या है। ऐसे लोग अनुशासनहीनता के सिवा कुछ नहीं जानते। जबकि आजम खान और ओवैसी जैसे लोग अन हिंदुस्तान का खाते हैं और डायन भारत माता की जमीन को बताते हैं और जब-जब हिंदुस्तान और पाकिस्तान का क्रिकेट मैच होता है तो पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाते हैं। जबकि ऐसे लोग अपने दिमाग में एक को ध्यान से ठूस ले प्रदेश में सपा की सरकार नहीं बल्कि बीजेपी की सरकार हैं। जमीर उल्लाह खान देवबंद के मदरसे में तो ठाकुर रघुराज सिंह का एडमिशन नहीं करा पाएगा। क्योंकि उनके द्वारा कही गई एडमिशन के बात हास्यपद लगती है। आखिर जमीर उल्लाह क्या जाने देशभक्ति होती क्या चीज है। अगर ऐसे में जमीर उल्ला को देशभक्ति सीखनी ही है। तो जमीर उल्लाह आरएसएस RSS की सदस्यता का ग्रहण कर ले और आरएसएस मैं ट्रेनिंग लेने के बाद देशभक्ति सीखें की आखिर देश भक्ति होती क्या चीज है। आरएसएस संघ से जुड़ने के बाद ही जमीर उल्ला को प्रेरणा मिलेगी।ऐसे में जमीर उल्लाह क्या देवबंद के मदरसे में का एडमिशन कराएगा। बीजेपी के लोग कह रहे हैं की जमीर उल्लाह आरएसएस संघ के ट्रेनिंग कैंप में एडमिशन लेने के बाद देशभक्ति सीखें।

    अजय कुमार

    Initiate News Agency (INA), अलीगढ़

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.