Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    देवबंद। संविधान व प्रर्यावरण दिवस पर डा० अम्बेडकर को विभिन्न संस्थाओं द्वारा दी गई श्रद्धांजली

     ......... बाबा साहब अम्बेडकर दिवस पर स्कूलो में कार्यक्रम में मौजूद अतिथिगण

    देवबंद। के0 एम0 पब्लिक स्कूल में संविधान दिवस व प्रर्यावरण दिवस के अवसर पर संविधान कमेटी के अध्यक्ष डाक्टर भीमराव अम्बेडकर को श्रद्धा सुमन अर्पित कर सविंधान व प्रर्यावरण की रक्षा का संकल्प लिया गया।शिक्षक नगर स्थित के एम पब्लिक स्कूल में आयोजित कार्यक्रम में बिजेन्द्र गुप्ता पूर्व महामंत्री भाजपा ने कहा कि भारत का संविधान भारत का सर्वोच्च विधान है जो संविधान सभा द्वारा 26 नवम्बर 1949 को पारित हुआ तथा 26 जनवरी 1950 से प्रभावी हुआ। यह दिन (26 नवम्बर) भारत के संविधान दिवस के रूप में घोषित किया गया है ेजबकि 26 जनवरी का दिन भारत में गणतन्त्र दिवस के रूप में मनाया जाता है। 


    भीमराव अम्बेडकर जी को भारतीय संविधान का प्रधान वास्तुकार या निर्माता कहा जाता है। भारत के संविधान का मूल आधार भारत सरकार अधिनियम 1935 को माना जाता है। भारत का संविधान विश्व के किसी भी गणतान्त्रिक देश का सबसे लम्बा लिखित संविधान है। भारत का संविधान भले ही 26 जनवरी 1950 को अमल में आया हो, लेकिन देश की संविधान सभा ने इसे 26-11-1949 को ही स्वीकार कर लिया था। 389 सदस्यीय संविधान सभा द्वारा रचित संविधान सभा का मसोदा तैयार करने में महिलाओं की भी विशेष भूमिका है। इनमे विजयलक्ष्मी पंडित,दुर्गाबाई देशमुख, अम्मू स्वामी नाथन, बेगम एजाज रसूल, रेणूका रे, सरोजनी नायडू,एनी मसकैरिनी आदि बहुत सी महिलाओं का योगदान है।

    स्कूल प्रबधंक अंशुल शर्मा ने संविधान की प्रस्तावना पर प्रकाश डालते हुये कहा कि हम,भारत के लोग भारत को एक सम्पूर्ण प्रभुत्व, सम्पन्न, समाजवादी पंथनिरपेक्ष,लोकतंत्रात्मक गणराज्य बनाने के लिए, तथा उसके समस्त नागरिकों को सामाजिक, आर्थिक और राजनैतिक न्याय, विचार,अभिव्यक्ति, विश्वास, धर्म और उपासना की प्रधानाचार्य श्रीमति रंजिता पंवार ने कहा कि आज हम संविधान दिवस  व प्रर्यावरण दिवस मना रहे है। इस अवसर पर हम सबको संविधान का पालन करने व प्रर्यावरण की रक्षा करने का संकल्प लेना चाहिये। इस अवसर पर छोटे छोटे बच्चो ने सुदर प्रस्तुति देकर सबका मन मोह लिया। कार्यक्रम में शिक्षिका श्रीमती प्रियंका शर्मा, राशी शर्मा, कुमारी, अंशुल चैधरी, कुमारी मीनू, कुमारी शालु प्रजापति आदि उपस्थित रहे।सविधान दिवस पर मोहल्ला किला स्थित विजन पब्लिक स्कूल में पूर्व विधायक शशिबाला पुण्डीर व पूर्व सभासद सिकन्दर अली ने बाबा साहब डॉ. भीमराव अम्बेडकर के जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि बाबा साहब ने सविधान के जरिये गुलामी की बेड़िया काटी और आजादी से जीने का हक दिलाया। इस अवसर पर स्कूल प्रबंधतंत्र ने पूर्व विधायक शशिबाला पुण्डीर व पूर्व सभासद सिकन्दर अली को शाल ओढ़ाकर व प्रतीक चिन्ह व फूलों का गुलदस्ता भेंटकर सम्मान किया। इस अवसर पर डॉ.इसरार कुरैशी,फरीद खान, अनीस प्रधान, डॉ.नासिर कुरैशी, डॉ.जुबैर आलम, जहांगीर गुर्जर, आदि मौजूद रहे।इस्लामिया कालेज आफ लाॅ कालेज देवबंद के सभागार में धुमधाम से मनाया गया। जिसमें कानून के छात्र-छात्राओं ने बढचढकर हिस्सा लिया। इस अवसर पर कानून के विभागाध्यक्ष डा0 बुस्रा शरीफ द्वारा कहा गया कि आज का दिन बडे गौरव का दिन है आज के ही दिन भारतीय संविधान को मान्यता मिली और समविषम परिस्थितियों में भी भारतीय संविधान हमे प्रेरणा देता रहता है आज ही के दिन संविधान सभा ने भरतीय संविधान को अंगीकृत किया। इस मौके पर डा0 मो0 अखलाक, नूरूलहसन, डा0 अनवर पाशा, तरूण यादव, मो0 नदीम, साहिबा खान, आदि प्रवक्ता उपस्थित रहे।

     Shibli Iqbal 

    Initiate News Agency (INA), देवबंद

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.