Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    शाहजहांपुर। रासलीला में चौथे नाम दिन कालिया नाग का मान मर्दन किया गया

    शाहजहांपुर। वृन्दावन की प्रख्यात रासलीला मण्डली द्वारा मुमुक्षु आश्रम परिसर में किये जा रहे मंचन के चौथे दिन दिखाया गया कि जिस कालिया नाग के चलते मथुरावासियों में भय व्याप्त हो गया था और जिस कालिया नाग के चलते मथुरा में बहने वाली नदी का जल काला हो गया था। 


    उसी कालिया नाग का भगवान मधुसूदन ने अपनी बाल लीला के माध्यम से कैसे मान मर्दन किया और मथुरा वासियों के साथ साथ यमुना में रहने वाले जीवों को कालिया नाग के भय से मुक्त करते हुए किस प्रकार  अभय प्रदान किया। डॉ. देवकीनन्दन शर्मा के मण्डली के कलाकाराें ने दर्शाया कि कंस ने नंद बाबा को संदेश भेजा कि एक करोड़ कमल के फूल आने चाहिए। अगर नहीं आए तो श्रीकृष्ण और बलराम को मरवा दिया जाएगा। जब यह संदेश गोकुल गांव पहुंचा तो सभी दुखी हो गए। भगवान श्रीकृष्ण से भक्तों का दुख नहीं देखा गया। वे साथियों के साथ यमुना किनारे गेंद खेलने लगे। गेंद यमुना में चली गई। 

    गेंद को लाने के बहाने श्रीकृष्ण यमुना में कूद गए। कालिया को हराने के बाद भगवान श्रीकृष्ण कालिया नाग के फन पर खड़े होकर बंशी बजाते हुए जल से बाहर निकले। इस अद्भुत लीला को देखकर मौजूद सभी श्रद्धालु भाव विभोर हो गए । इस दौरान भक्तों द्वारा लगाए गए श्रीकृष्ण के जयकारों से पूरा पण्डाल गूंजता रहा। आज के आयोजन में मुख्य यजमान के रूप में शाहजहांपुर के  एडीएम रामसेवक द्विवेदी और स्वामी चिन्मयानंद ने राधा कृष्ण की झांकी की आरती उतार कर लीला का आरम्भ कराया। 

    मेला व्यवस्थापक चन्द्रभान त्रिपाठी ने बताया कि कल लीला में कंस वध का मंचन प्रतिदिन की तरह शाम 3:30 आरंभ होगा। इस अवसर पर डॉ. एस पी डबराल, ईशपाल सिंह, डॉ. अनुराग अग्रवाल, डॉ. एके मिश्र, मचकेन्द्र सिंह,डॉ शिशिर शुक्ला, डॉ. चन्दन गिरि, डॉ. आलोक सिंह सहित हज़ारों श्रद्धालु उपस्थित रहे।

    फ़ैयाज़ उद्दीन 

    Initiate News Agency (INA) , शाहजहाँपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.