Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अलीगढ़। वायुसेना अधिकारी ने बीकानेर में की आत्महत्या, मौत से पहले विंग कमांडर व ग्रुप कैप्टन पर आरोप लगा छोड़ा सुसाइड नोट, रिपोर्ट दर्ज

    अलीगढ़। मृतक वेदपाल वायु सेना अधिकारी आत्महत्या से पहले छोड़े गए सुसाइड नोट में विंग कमांडर और ग्रुप कैप्टन पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया गया था। सीनियर अधिकारियों द्वारा प्रताड़ित करने के चलते की गई सुसाइड नोट के बाद मृतक वायुसेना अधिकारी के भाई ने बीकानेर सदर थाने में रिपोर्ट लिखाई हैं। मृतिका की पत्नी बच्चे समेत परिवार ने सीबीआई जांच की मांग की है।

    उत्तर प्रदेश के जनपद अलीगढ़ के थाना टप्पल क्षेत्र गांव जलालपुर निवासी जूनियर वारंट ऑफीसर वेदपाल ने बीकानेर में संदिग्ध परिस्थितियों में आत्महत्या कर ली गई थी। वेदपाल ने आत्महत्या करने से पहले विंग कमांडर सहित ग्रुप कैप्टन पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाते हुए मौत से पहले दोनों को जिम्मेदार ठहराते हुए सुसाइड नोट छोड़ा गया था। परिजनों ने वायु सेना ऑफिसर की मौत के बाद सुसाइड नोट के आधार पर दोनों अधिकारियों के खिलाफ राजस्थान के बीकानेर सदर थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया है। तो वहीं पीड़ित परिजनों के द्वारा पूरे मामले में सीबीआई जांच की मांग की गई है।


    थाना टप्पल क्षेत्र के गांव निवासी ने राजस्थान के बीकानेर में वायु सेना क्षेत्र में अलीगढ़ के थाना टप्पल के जूनियर वारंट ऑफिसर वेदपाल ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। जूनियर वारंट ऑफीसर ने आत्महत्या करने से पहले उसके द्वारा एक सुसाइड नोट लिखा है। इसमें विंग कमांडर और ग्रुप कैप्टन पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है। लिखा है कि दोनों उन्हें गालियां देने के साथ ही अवकाश पर जाने की अनुमति नहीं देते थे। आत्महत्या करने के बाद मृतक जूनियर वारंट ऑफीसर वेदपाल का शव सैनिक सम्मान के साथ टप्पल के उनके गांव पहुंचा। जहां सैनिक सम्मान के साथ ऑफिसर का अंतिम संस्कार किया गया। इस पूरे मामले में वेदपाल सिंह के छोटे भाई ने राजस्थान बीकानेर के सदर थाने में मुकदमा दर्ज करा दिया है। वहीं, परिजनों ने मामले की सोबीआई जांच की मांग उठाई है। संबंधित जानकारियां परिजनों ने ही दीं हैं।


    जानकारी के अनुसार अलीगढ़ के थाना टप्पल इलाके के गांव कस्बा जट्टारी के निकटवर्ती गांव जलालपुर निवासी जूनियर वारंट ऑफीसर वेदपाल सिंह के साथी गुरुवार को जब उनके कमरे पर पहुंचे तो वह फंदे पर लटके हुए मिले। उन्हें बीकानेर शहर के पीबीएम अस्पताल ले जाया गया। जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। परिवार ने बताया है कि पुलिस के अनुसार वेदपाल के पास मिले सुसाइड नोट में विंग कमांडर एम एस राठौड़ और ग्रुप कैप्टन पीयूष धवन पर परेशान करने का आरोप लगाया गया है। दोनों उसे इस साल अगस्त माह से परेशान कर रहे थे। वह इस साल की शुरूआत में ही दिल्ली से तबादले के बाद बीकानेर पहुंचे थे। बीकानेर पहुंचने के बाद तीन बार अवकाश के लिए अधिकारियों के सामने आवेदन किया था। लेकिन दोनों ने उन्हें अवकाश पर जाने की अनुमति नहीं दी थी। दोनों हमेशा गालियां देते थे। सेना और पुलिस की सूचना पर वेदपाल के भाई विशेष चौधरी ने बीकानेर के सदर पुलिस थाने में ऑनलाइन मामला दर्ज कराया है। इसमें धवन और राठौर को भाई की मौत के लिए जिम्मेदार ठहराया है। छोटे से बच्चे से लेकर पत्नी, मां भाई, पिता सभी पूरा परिवार अब मामले में सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं।

    अजय कुमार

    Initiate News Agency (INA), अलीगढ़

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.