Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    देवबंद। राज्जुपुर गांव में हुआ ऑल इंडिया मुशायरे का आयोजन

     ...... छोड़कर ताज को सब तेरी ही सूरत देखें, बैठ जाए तू अगर ताजमहल के आगे।

    ......बादशाहों का इंतजार करें, इतनी फुर्सत कहां फकीरों को 

    देवबंद। अंजुमन फिदाय-ए-अदब की ओर से राज्जुपुर गांव में ऑल इंडिया मुशायरे का आयोजन किया गया। जिसमें शायरों ने देर रात्रि तक उम्दा कलाम पेश कर श्रोताओँ की जमकर दाद बटोरी।


    रविवार की रात्रि आयोजित हुए मुशायरे में अंतरराष्ट्रीय शायर डा. नवाज देवबंदी ने पढ़ा..बादशाहों का इंतजार करें, इतनी फुर्सत कहां फकीरों को। 


    अफजल मंगलौरी ने अपने जज्बात कुछ यूं बयां किए..छोड़कर ताज को सब तेरी ही सूरत देखें, बैठ जाए तू अगर ताजमहल के आगे। प्रसिद्ध शायर अलताफ जिया ने पढ़ा..शायद ये तकब्बुर की सजा मुझको मिली है, उभरा था बड़ी शान से अब डूब रहा हूं। वसीम राज्जुपुरी ने कहा..वो आसतीन में खंजर छुपा के आया था, मैं उसका हाथ न कांटू तो मेरा सर जाता। अंतरराष्ट्रीय शायर डा. नदीम शाद ने अपने जज्बात कुछ इस तरह बयां किए..सबब तलाश करो अपने हार जाना का, किसी की जीत पे रोने से कुछ नहीं होगा। अलतमश अब्बास ने पढ़ा..लोग करते हैं यूं पसंद हमे, हम जो उर्दू जुबान वाले हैं सुनाकर देर रात्रि तक श्रोताओं को खूब दाद बटोरी। 


    इनके अलावा बिलाल सहारनपुरी, इसरार, इंतेखाब संभली, अजरा, निकहत अमरोहवी, सुल्तान जहां, काशिफ रजा, महमूद असर, जहाज देवबंदी, गुलजार जिगर, राशिद बिस्मिल ने भी कलाम पेश किया। अध्यक्षता बाबर हुसैन कुद्दुसी व संचालन मध्य प्रदेश से आए मेहमान शायर इस्माईल नजर ने किया। शमा रोशन पूर्व मंत्री स्व. राजेंद्र राणा की पुत्री प्रियमवदा राणा ने की। कार्यक्रम में डा. नवाज देवबंदी, अफजल मंगलौरी, पुलिस चौकी प्रभारी यशपाल सोम, सपना अहसास, अहसान हनफी को सम्मानित भी किया गया। इसमें अनीस फरीदी, अजीम फरीदी, सदाकत अली, सफदर अलवी, जाकिर सागर आदि मौजूद रहे। अंत में मुशायरा संयोजक वसीम राज्जुपुरी व सह संयोजक राशिद बिस्मिल मसरुर रोशन ने सभी का आभार व्यक्त किया।

     Shibli Iqbal 

    Initiate News Agency (INA), देवबंद

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.