Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अयोध्या। अयोध्या का प्रसिद्ध कार्तिक पूर्णिमा मेला सम्पन्न

    •  अयोध्या का कार्तिक पूर्णिमा स्नान सुबह 11 बजे से शुरू हुआ, जो शुक्रवार को दोपहर एक बजे तक चलेगा। 
    • लाखो भक्तों ने सरयू में लगाईं डूबकी 

    अयोध्या। मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम की धर्म नगरी अयोध्या में कार्तिक पूर्णिमा स्नान के साथ कार्तिक माह में लगने वाले प्रमुख पर्व पंचकोसी परिक्रमा 14 कोसी परिक्रमा आज संपन्न, प्रशासन ने ली राहत की सांस।कार्तिक पूर्णिमा का स्नान 18 नवंबर को सुबह 11 बजे से शुरू हुआ जो 19 नवंबर को लगभग 1 बजे तक चलता रहा। उदया तिथि में पूर्णिमा शुक्रवार को होने के कारण संतों-महंतों सहित दस लाख श्रद्धालु इस दिन सरयू स्नान कर पूजन कियाl  भोर से ही सरयू स्नान के साथ मंदिरों में दर्शन आरंभ हो गया।


    •  अयोध्या में श्रद्धालुओं का उमड़ा जनसैलाब।

    गुरुवार को पूरे दिन श्रद्धालुओं ने सरयू स्नान कर कनक भवन, रामजन्मभूमि, हनुमानगढ़ी और नागेश्वरनाथ मंदिर में दर्शन कियाlसुबह से दर्शन के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रहीl शाम होते ही अयोध्या के आसपास के जिलों के लाखों श्रद्धालुओं का समूह अयोध्या पहुंचने लगाl  अयोध्या श्रद्धालुओं से पट गई हैl इसके बावजूद श्रद्धालुओं का आगमन देर रात तक जारी हैlसुरक्षा की दृष्टि से पूरे मेला क्षेत्र को 5 जोन में बांटा गया ।इसमें हर जोन में जोनल मजिस्ट्रेट एवं पुलिस मजिस्ट्रेट के साथ 4-4 सेक्टर/जोनल पुलिस अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई थी। अयोध्या के सरयू तट पर भक्तों की भारी भीड़ देखी गई लोग स्नान पूजन करके नागेश्वरनाथ में दर्शन किया और फिर हनुमानगढ़ी राम जन्मभूमि कनक भवन सहित अन्य मंदिरों में दर्शन पूजन किया।

    •  मजिस्ट्रेट अधिकारियों, पुलिस के जवानों, चिकित्सकों, स्वयं सेवी संगठनों ने कार्तिक मेला में मुस्तैद रहे।

    स्नान के लिए मुख्यतः नयाघाट एवं गुप्तारघाट पर ज्यादा भीड़ रही।घाटों की सुरक्षा के लिए बैरिकेटिंग एवं स्नान की सुरक्षा के लिए भी पुख्ता इंतजाम व विशेष सतर्कता सुनिश्चित किया गया था। चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात थी। नागेश्वरनाथ मंदिर, हनुमानगढ़ी सहित अन्य भीड़ भाड़ वाले मंदिरों/स्थलों पर श्रद्वालुओं के भीड़ के नियंत्रण हेतु समुचित व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने केलिए वाहनों के आवागमन हेतु आवश्यकतानुसार बेरीकेटिंग कराने तथा रूट डायवर्जन किया गया था।

    • लोगों को भीड़ न इकट्ठा होने की सूचना प्रसारित होती रही।

    कार्तिका पूर्णिमा स्नान पर्व पर सुरक्षा के दृष्टिगत रखते हुये समस्त मजिस्ट्रेट अपने-अपने क्षेत्रों का भ्रमण व निरीक्षण करते रहे। घाटों पर अनावश्यक भीड़ न एकत्रित होने दें तथा समय-समय पर एलाउसमेंट के माध्यम से लोगों को भीड़ न इकट्ठा होने की सूचना प्रसारित करते रहे। विगत में आयोजित 14 कोसी व पंचकोसी परिक्रमा मेले के आधार पर इस कार्तिक पूर्णिमा मेले को भी पूर्ण रूप से तत्पर एवं सजग रहकर सम्पन्न करायें। स्नान के दौरान जल पुलिस व नाविको को विशेष रूप से संवेदनशील रहने के निर्देश दिये गये। घाटों पर तैनात मजिस्ट्रेट व पुलिस बल भीड़ भाड़ को घाट से शीघ्र हटाते रहे। 48 मोबाइल शौचालय एवं 28 स्नान चेजिंग रूम की व्यवस्था कार्तिक पूर्णिमा मेले में 48 मोबाइल शौचालय एवं 28 स्नान चेजिंग रूम की व्यवस्था विभिन्न स्थानों पर कर दी गयी।, जिससे श्रद्वालुओं को किसी भी प्रकार की असुविधा न हों तथा साफ सफाई व पेयजल की भी व्यवस्था थी।इस प्रकार अयोध्या का प्रसिद्ध कार्तिक स्नान मेला सम्पन्न हो गया।

    देव बक्श वर्मा 

    Initiate News Agency (INA), अयोध्या

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.