Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    देवबंद: सरकार की शह पर चीनी मिले कर रही किसानों का शोषण

    देवबंद: सहकारी गन्ना समिति परिसर में आयोजित पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा की बैठक में भगत सिंह वर्मा ने कहा कि चीनी मिल मालिक सरकार की शह पर गन्ना किसानों का शोषण कर रही हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भी चीनी मिल मालिक गन्ना किसानों को समय से गन्ना भुगतान नहीं करते हैं। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि जब तक सरकार गन्ने का मूल्य 600 रुपये प्रतिकुंतल घोषित नहीं करती तब तक आंदोलन चलाया जाएगा।

    गुरुवार को किसानों की बैठक में भगत सिंह वर्मा ने कहा कि गन्ना किसानों की लागत और महंगाई को देखते हुए गन्ने का लाभकारी मूल्य 600 रुपये कुंतल मिलना चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकार ने गन्ने का 25 रुपये कुंतल मूल्य बढ़ाया है जो नाकाफी है। उन्होंने आरोप लगाया कि किसानों का 10 हजार करोड़ रुपये चीनी मिलो पर सिर्फ ब्याज का बकाया है। 

    जिसे चीनी मिले सरकार के साथ मिली भगत कर हड़पना चाहती है। बैठक की अध्यक्षता राजेंद्र चैधरी और संचालन आसिम मलिक ने किया। इस दौरान विनोद सैनी, नीरज सैनी, प्रधान रविंद्र चैधरी, प्रधान नरेश कुमार, डा. यशपाल त्यागी, सुभाष त्यागी, हाजी सुलेमान, मोहम्मद याकूब, मो. यासीन त्यागी और महबूब हसन मौजूद रहे।


    Initiate News Agency(INA)

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.