Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अलीगढ़। पुलिस कर्मियों के तन से वर्दी उतार हाथों में थमा दी जाएगी वर्दी, भाजपा पूर्व महापौर का शर्मनाक बयान

    अलीगढ़। जिले में एक मुस्लिम युवक हिंदू किशोरी को बहला-फुसलाकर अपने साथ ले गया था। सूचना पर बीजेपी की पूर्व महापौर मुकदमा दर्ज कराने के लिए कोतवाली बन्नादेवी पहुंची थी। जहां उन्होंने मुकदमा दर्ज करने को लेकर थाने में मौजूद पुलिसकर्मियों की वर्दी को उनके तन से उतारकर हाथों में वर्दी थमा देने को लेकर बेहद ही शर्मनाक बयान दिया गया है। इतना ही नहीं भाजपा की पूर्व महापौर जहां एक बार वर्दी उतारने को लेकर बयान देने पर उतरी उसके बाद इतने पर ही नहीं रुकी एक के बाद एक पुलिसकर्मियों के ऊपर आरोप प्रत्यारोप की बौछार करती चली गई।

    शकुंतला भारती पूर्व महापौर बीजेपी अलीगढ़

    उत्तर प्रदेश के जनपद अलीगढ़ की कोतवाली बन्नादेवी इलाके के सारसोल चौराहे के पास मस्जिद वाली गली से एक मुस्लिम समुदाय का युवक हिंदू किशोरी को बहला-फुसलाकर अपने साथ ले गया था। जिस सूचना पर भारतीय जनता पार्टी की पूर्व महापौर शकुंतला भारती मुकदमा दर्ज करने की मांग को लेकर कोतवाली बन्नादेवी पहुंची थी। लेकिन पूर्व महापौर शकुंतला भारती के पहुंचने से पहले ही कोतवाली प्रभारी द्वारा मामले में मुकदमा दर्ज कर लिया गया था। इस दौरान भारतीय जनता पार्टी के पूर्व महापौर ने थाने में मौजूद पुलिस कर्मियों की वर्दी को लेकर बेहद ही शर्मनाक बयान देते हुए कहा कि प्रदेश में सपा का शासन नहीं है। थानों में अब गुंडा राज नहीं चलेगा।ऐसे वर्दीधारी पुलिस कर्मियों को बीजेपी के लोग अच्छे तरीके से सबक सिखाना जानते हैं। क्योंकि प्रदेश में योगी की सरकार है और केंद्र में मोदी की सरकार हैं। पुलिस की वर्दी पहनने के बाद अगर वर्दी का अपमान करेंगे। तो इनके तन से वर्दी उतारने के बाद उनके हाथों में वर्दी थमा दी जाएगी। जिसको लेकर यह सिद्धांत भारतीय जनता पार्टी का दृढ़ संकल्प है। ऐसे में अगर पुलिसकर्मियों ने अपने अंदर सुधार नहीं लाया तो हम लोग ऐसे पुलिसकर्मियों को उनकी आदतों में सुधार लाना भी अच्छी तरह से जानते हैं। 

    आपको बता दें, कोतवाली में मुकदमा दर्ज करने से पहले पीड़ित पक्ष चौकी पहुंचा था। जहां उसके साथ मुकदमा दर्ज करने को लेकर थोड़ी बहुत चौकी इंचार्ज से कहासुनी हुई थी। जिस बात को लेकर बीजेपी पूर्व महापौर पुलिसकर्मियों पर भड़क गई और उन्होंने अपने गुस्से का इजहार करते हुए पुलिसकर्मियों की वर्दी उनके तन से उतारने तक की धमकी दे डाली।

    जानकारी के अनुसार यूपी का अलीगढ़ जिला एक अतिसंवेदनशील जिले में शुमार है।इस अति संवेदनशील जिले की कोतवाली बन्नादेवी इलाके के सरसोल चौराहा स्थित मस्जिद वाली गली की रहने वाली एक 22 वर्षीय हिंदू किशोरी को मोहल्ले का ही रहने वाला एक मुस्लिम समुदाय का युवक अद्दु खान 25 नवंबर की दोपहर अपने साथ बहला-फुसलाकर ले गया। जिसके बाद परिजनों ने अचानक घर से गायब हुई 22 वर्षीय किशोरी को हर जगह तलाश किया गया। लेकिन काफी तलाश के बाद भी घर से मुस्लिम समुदाय के युवक संग फरार हुई 22 वर्षीय हिंदू किशोरी का कहीं कुछ पता नहीं चल सका। काफी तलाश के बाद जब युवती का कुछ पता नहीं चला तो उसके बाद परिजनों ने किशोरी को मुस्लिम समुदाय के युवक द्वारा अपने साथ बहला-फुसलाकर ले जाने की सूचना भाजपा के पूर्व महापौर शकुंतला भारती को दी गई। मुस्लिम युवक द्वारा हिंदू समुदाय की युवती को अपने साथ भगाकर ले जाने की सूचना मिलते ही भाजपा कार्यकर्ताओं में आक्रोश पनप गया। जिसके बाद भाजपा की पूर्व महापौर सहित बीजेपी के कार्यकर्ता मुस्लिम समुदाय के युवक के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की मांग करने को लेकर कोतवाली बन्नादेवी पहुंच गए। जहां मुस्लिम समुदाय के युवक के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने को लेकर थाना प्रभारी सहित थाने में मौजूद पुलिसकर्मियों से भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं की नोकझोंक भी हुई।लेकिन थाने में हुई नोकझोंक के पहले ही थाना प्रभारी के आदेश पर पुलिस ने पीड़ित परिजनों की तहरीर पर मुस्लिम समुदाय के युवक के खिलाफ हिंदू किशोरी को बहला-फुसलाकर अपने साथ भगाकर ले जाने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया जा चुका था। मुस्लिम समुदाय के युवक के खिलाफ हिंदू किशोरी को भगाकर ले जाने का मुकदमा दर्ज होते ही पुलिस पूरे मामले की जांच करते हुए मुस्लिम समुदाय के युवक की तलाश सहित हिंदू किशोरी की बरामदगी के करने के लिए जुट गई है।

    मुकदमा दर्ज कराने के लिए कोतवाली पहुंचे पूर्व महापौर शकुंतला भारती ने कहा कि एक हिंदू किशोरी को मुस्लिम समुदाय का युवक अद्दु सालसोल स्थित मोहल्ला मस्जिद वाली गली से शुक्रवार को बहला-फुसलाकर अपने साथ ले फरार हो गया। जिसके बाद से किशोरी का कुछ पता नहीं है पीड़ित परिवार मुकदमा दर्ज कराने के लिए थाने से चौकी और चौकी से थाने चक्कर लगा रहा। मुकदमा दर्ज करने को लेकर चौकी इंचार्ज रवि कुमार के द्वारा पीड़ित परिजनों के साथ मुकदमा दर्ज करने को लेकर बदतमीजी की गई थीं।लेकिन क्षमा याचना के बाद पुलिस कर्मियों को उनका द्वारा माफ कर दिया गया। लेकिन माफ करने से पहले ऐसे पुलिसकर्मियों को हिंदी में समझा दिया गया था।इस दौरान भाजपा पूर्व महापौर ने पुलिस की कार्यप्रणाली को लेकर सख्त लहजे में चेतावनी दी गई और कहा कि उत्तर प्रदेश में अब सपा का शासन नहीं हैं और थाने में गुंडाराज किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। ऐसे वर्दीधारी पुलिस कर्मियों को बीजेपी के लोग अच्छे तरीके से सबक सिखाना जानते हैं। क्योंकि प्रदेश में योगी की सरकार है और केंद्र में मोदी की सरकार हैं। पुलिस की वर्दी पहनने के बाद अगर वर्दी का अपमान करेंगे तो इनके तन से वर्दी उतारने के बाद उनके हाथों में वर्दी थमा दी जाएगी। जिसको लेकर यह सिद्धांत भारतीय जनता पार्टी का दृढ़ संकल्प है। ऐसे में अगर पुलिसकर्मियों ने अपने अंदर सुधार नहीं लाया तो हम लोग ऐसे पुलिसकर्मियों को उनकी आदतों में सुधार लाना भी अच्छी तरह से जानते हैं।

    अजय कुमार

    Initiate News Agency (INA), अलीगढ़

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.