Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अयोध्या। दर्शन मार्ग चौड़ीकरण से प्रभावित हो रहे दुकानदारो ने विरोध में अयोध्या बंद

    ...... व्यापारियों ने दुकानें बंद कर एकता दिखाई, प्रशासन को सौंपा ज्ञापन

    ....... व्यापारियों के सामने रोजी-रोटी का संकट

    अयोध्या। मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम की धर्म नगरी अयोध्या में मंदिर निर्माण का कार्य चल रहा है। और सरकार द्वारा अयोध्या के विकास के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है। वहीं पर राम मंदिर जाने वाले मार्ग को भी चौड़ा किया जा रहा है। जिससे तमाम दुकानदार आहत हो रहे हैं। उनकी दुकानों को उजाड़ा जा सकता है। ऐसे में दुकानदार यह चाहते हैं कि उन्हें पहले कहीं स्थापित कर दिया जाए फिर दुकान को तोड़ा जाए। और यह भी चाह रहे हैं कि जहां उन्हें विस्थापित करना है वह स्थान भी चिन्हित कर दिया जाए। किंतु व्यापारियों का आरोप है कि अभी प्रशासन द्वारा ऐसा नहीं किया गया है जिस कारण व्यापारी सशंकित हैं।रामलला दर्शन मार्ग के चौड़ीकरण व उससे पूर्व व्यापारियों को दुकानें न देने के विरोध में आज अयोध्या में दुकानबंद रही। 

    अयोध्या रामलला दर्शन मार्ग के चौड़ीकरण व उससे पूर्व व्यापारियों को दुकानें न देने के विरोध में बंद रही 

    रामलला दर्शन मार्ग चौड़ी करण के विरोध में व्यापारियों ने अयोध्या बंद कर प्रशासन को अपनी एकता का एहसास करा दिया। कई दिनों से चल रही पुलिस की नाकेबंदी के बावजूद अयोध्या पूरी तरह बंद रही और यहां पहुंचे श्रद्धालुओं को चाय व प्रसाद के लिए तरसना पड़ा। 

    हनुमानगढ़ी दर्शन करने जाते श्रद्धालु व बंद पड़ीं प्रसाद की दुकानें।

    व्यापारियों की ऐतिहासिक बाजार बंदी को देखते हुए रेजीडेंट.मजिस्ट्रेट ने अयोध्या उद्योग व्यापार मंडल ट्रस्ट के पदाधिकारियों से श्रृंगारहाट अयोध्या में मुलाकात की और व्यापारियों की मांग दुकान के बदले दुकान और दुकान के पीछे दुकान के संदर्भ में जिलाधिकारी, नगर आयुक्त व एडीएम प्रशासन के साथ व्यापारियों की खुली बैठक दो-तीन दिन में कराने का आश्वासन दिया। व्यापारीयों ने रेजीडेंट मजिस्ट्रेट को ज्ञापन दिया। व्यापार मंडल अध्यक्ष नंदकुमार गुप्त व अन्य, तीन दिन में यदि प्रशासन व्यापारियों के साथ खुली बैठक नहीं करेगा तो फिर बंदी होगी।

    प्रशासन द्वारा आश्वासन को देखते हुए अयोध्या उद्योग व्यापार मंडल ट्रस्ट अनिश्चित कालीन बंदी को स्थगित करने का निर्णय लिया साथ में यह चेतावनी भी दिया कि यदि दो-तीन दिन में  प्रशासन व्यापारियों के साथ खुली बैठक नहीं करेगा तो इसी प्रकार अयोध्या व्यापार मंडल ट्रस्ट अयोध्या के व्यापारी  के लिए आंदोलन को निरंतर जारी रखने पर मजूबर होगाl

    रेजीडेंट मजिस्ट्रेट को दिए गए ज्ञापन में कहा गया है कि  व्यापारी जो अयोध्या के मुख्य मार्ग टेढ़ी बाजार से नया घाट एवं हनुमानगढ़ी से जन्मभूमि तक हमारे प्रतिष्ठान हैं तथा पीढ़ियों से हम यहां के स्थानीय निवासी हैं व अयोध्या आने वाले पर्यटकों की जरूरतों को पूर्ति हम पीढ़ियों से करते आ रहे हैं और उसी से होने वाली आय से हम और हमारा परिवार आश्रित हैl लेकिन विगत कुछ दिनों से शासन एवं प्रशासन हमारे प्रतिष्ठान सुंदरीकरण के नाम पर उजाड़ने पर आमादा है हमारे प्रतिष्ठानों की अनुमानित संख्या 2500 से प्रभावित होने वाली आबादी 25000 हैl व्यापारियों के सामने बेरोजगारी का घोर संकट मंडरा रहा है। हमारा व्यवसाय उसी से संबंधित है इसके न रहने पर हम अयोध्या वासी व्यापारियों के सामने बेरोजगारी का घोर संकट मंडरा रहा है। 

    देव बक्श वर्मा 

    Initiate News Agency (INA), अयोध्या

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.