Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    पीलीभीत: गोमती का सम्मान गंगा से कम नहीं ,पीलीभीत की सुंदरता से मन नहीं भरा दोबारा फिर आऊंगी बोली -मालिनी अवस्थी

    --लोक गायिका मालिनी अवस्थी पहुंची पीलीभीत के मिनी गोवा और गोमती उद्गम तीर्थ स्थल

    --पीटीआर के चूका स्पाट और गोमती उद्गम की सुंदरता देखकर हुई मंत्रमुग्ध

    पीलीभीत: देश की सुप्रसिद्ध लोक गायिका मालिनी अवस्थी अपने निजी दौरे पर परिजनों सहित दो दिवसीय भ्रमण के लिए जनपद मे पीलीभीत टाइगर रिजर्व के सुप्रसिद्ध मिनी गोवा के नाम से मशहूर चूका स्पाट पहुंची चूका बीच  की खूबसूरती को देखकर हुई मंत्रमुग्ध दूसरे दिन परिजनों सहित गोमती नदी के उद्गम तीर्थ स्थल पर पहुंच कर मां गंगा गोमती की पूजा अर्चना कर  नवाया शीश। बोली बहुत ही खूबसूरत है गोमती उद्गम तीर्थ स्थल एवं चूका स्पाट।

    गोमती उद्गम पर पहुंची लोक गायिका मालिनी अवस्थी का स्वागत करते हुए गोमती भक्त

    पीलीभीत जनपद अपने अंक में खूबसूरती को समाए हुए हैं यहां के हरे भरे जंगल, उन में विचरण करते हुए जीव जंतु,नदियां एवं रमणीक स्थल पर्यटकों की पहली पसंद है इसीलिए बड़ी संख्या में पर्यटक पीलीभीत के पर्यटन स्थलों का भ्रमण करने के लिए प्रतिवर्ष पर्यटन सीजन में आते हैं और उन सभी की पहली पसंद पीलीभीत टाइगर रिजर्व का मिनी गोवा के नाम से मशहूर चूका बीच पहली पसंद होता है।

    गोमती नदी के पौराणिक इतिहास को शिलापट पर पढ़ती हुई लोक गायिका मालिनी अवस्थी

    देश की जानी मानी अंतरराष्ट्रीय भारतीय लोक गायिका मालिनी अवस्थी भी शुक्रवार को अपने परिजनो के साथ पीलीभीत टाइगर रिजर्व के दीदार करने के लिए व्यक्तिगत भ्रमण पर  पहुंची बचपन से ही प्रकृति के नजदीक रहने वाली लोक गायिका को पीलीभीत टाइगर रिजर्व के हरे-भरे जंगल एवं महोफ वन के सुप्रसिद्ध चूका बीच जिसके तीन और साल सागौन के पेड़ आच्छादित है और एक तरफ  अथाह नीला शारदा सागर का पानी मन को रोमांचित कर देता है जिसके बीच पर बनी हुई वाटर हट, ट्री हट एवं थारू हट अपने आप में चूका की सुंदरता में चार चांद लगा रही ने मंत्रमुग्ध कर दिया लोक गायिका मालिनी अवस्थी ने चूका स्पॉट की सुंदरता को अपने कैमरे में भी कैद किया और अपनी तस्वीरें भी खिंचवाई। पीलीभीत के जिलाधिकारी पुलकित खरे ने जब उन्हें मां आदि गंगा गोमती नदी के उद्गम तीर्थ स्थल के बारे में बतलाया तो वह मां आदि गंगा गोमती के उद्गम तीर्थ स्थल को देखने के लिए अपने को रोक नहीं सकी और रविवार को अपने परिजनों के साथ आदि गंगा मां गोमती नदी के उद्गम तीर्थ स्थल पहुंची जहां गोमती भक्त निर्भय सिंह और योगेश्वर सिंह ने उन्हें पुष्प भेंट किए उसके बाद उन्होंने गोमती नदी के उद्गम परिसर में बने मंदिरो के बारे में विस्तार में जाना बाबा दुर्गा नाथ के मंदिर में शीश नवाया और मां गंगा गोमती के जल का आचमन कर पूजा अर्चना कर गोमती में दीपदान किया तत्पश्चात माता गोमती के मंदिर में माता गोमती की  चरण वंदना की गोमती तीर्थ स्थल की सुंदरता को देखकर उनका मन प्रसन्न हो गया उन्होंने गोमती उद्गम तीर्थ स्थल के पंचवटी में पहुंचकर रुद्राक्ष वृक्ष को भी देखा और अपने फोटोग्राफ करवाएं इस मौके पर गोमती भक्तों ने उन्हें उद्गम पर होने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रमों के बारे में भी जानकारी जिस पर उन्होंने कहा मां गोमती मुझे यदि सौभाग्य देती तो मैं भी मां गंगा गोमती के इस पावन उद्गम तट पर सांस्कृतिक कार्यक्रम में भागीदारी करूंगी उन्होंने साथ ही कहा उत्तर प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी को गोमती उद्गम तीर्थ स्थल के बारे में अवश्य अवगत कराएंगी गोमती की झील में पाए जानेवाले कछुआ और मछलियों के बारे में भी जाना। 



    इस अवसर पर एसडीएम कलीनगर ऋषि कांत राजवंशी, एसडीओ पूरनपुर कपिल कुमार,थाना प्रभारी निरीक्षक माधोटांडा गौरव बिश्नोई, माधोटांडा के पूर्व प्रधान योगेश्वर, सुजान सिंह, पराग सिंह ,श्री राम कश्यप, श्यामू गुप्ता, संतोष कुमार, आदि लोग मौजूद रहे। 

    • बहुत खूबसूरत है पीलीभीत का चूका बीच और गोमती उद्गम तीर्थ स्थल बोली लोक गायिका

    गोमती उद्गम तीर्थ स्थल पर पत्रकारों से वार्ता करते हुए ख्याति प्राप्त लोक गायिका मालिनी अवस्थी ने कहा। पीलीभीत के चूका बीच के बारे में बहुत सुना था पर कभी भी आने का संयोग नहीं बन पाया लेकिन अपने परिवार और बेटी, बेटा और दमाद के साथ दो दिन रुकने का अवसर मिला और यहां की खूबसूरत जंगल उन में विचरण करते हुए जीव जंतु आदि देखें पर बाघ के दीदार तो नहीं हुए और गोमती उद्गम तीर्थ स्थल की मनोरम छटा तो वास्तव में अत्यंत ही सुंदर है जिसने मन को हर लिया पीलीभीत की सुंदरता से अभी मन नहीं भरा दोबारा फिर आऊंगी।

    • मैं तुम्हारी गोमती हूं -सीरीज के अंक कुंवर निर्भय सिंह ने किए प्रदान- 
    सांस्कृति सरोकारों से संबंधित  लखनऊ से प्रकाशित त्रैमासिक पत्रिका शब्दशत्ता में मां आदि गंगा गोमती नदी से संबंधित मैं तुम्हारी गोमती हूं सीरीज के अंक कुंवर निर्भय सिंह उन्हें प्रदान किए।
    लोक गायिका मालिनी अवस्थी को मैं तुम्हारी गोमती हूं सीरीज के अंक भेंट करते हुए कुंवर निर्भय सिंह एवं योगेश्वर सिंह उर्फ राममूर्ति
    • कौन है मालिनी अवस्थी-
    जानी मानी लोक गायिका मालिनी अवस्थी का जन्म उत्तर प्रदेश के कन्नौज में हुआ, बचपन मिर्जापुर में बीता लखनऊ में पली-बढ़ी इनके पति एक सीनियर आईएएस अधिकारी हैं  जो उत्तर प्रदेश सरकार  में अपर मुख्य सचिव गृह के पद पर कार्यरत हैं। आप भोजपुरी, अवधी, बुन्देलखंडी मे गाती है इसके अलावा ठुमरी और कजरी भी गाती हैं। आपको उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2012 और लोकसभा चुनाव के लिए ब्रांड अंबेसडर बनाया गया था।

    • आपको सांस्कृतिक योगदान के लिए मिले यह सम्मान- 
    अंतर्राष्ट्रीय भारतीय लोक गायिका मालिनी अवस्थी देश विदेश में आमंत्रण पर सांस्कृतिक आयोजनों में बढ़ चढ़कर भाग लेती सांस्कृतिक योगदान के लिए उन्हें केंद्र में नरेंद्र मोदी सरकार ने वर्ष 2016 में पद्मश्री पुरस्कार, वर्ष 2014 में कालिदास सम्मान, वर्ष 2006 में उत्तर प्रदेश सरकार ने यश भारती, वर्ष 2003 में सहारा अवध सम्मान, एवं वर्ष 2000 में नारी गौरव सम्मान से सम्मानित किया गया।

    • विदेशी धरती पर भी अपनी लोक गायकी का बिखेरा जलवा
    मधुर आवाज की मालिक लोक गायिका मालिनी अवस्थी ने देश प्रदेश में ही नहीं वल्कि अपनी लोक गायकी की धूम  त्रिनिदाद, मॉरीशस ,फिजी ,अमेरिका, पाकिस्तान ,लंदन ,नीदरलैंड और लास एंजलिस की विदेशी धरती पर भी मचाई उनकी गायकी को सुनने वाले देश विदेश में लाखों श्रोता है।

    कुंवर निर्भय सिंह

    Initiate News Agency(INA), पीलीभीत







    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.