Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    लखीमपुर खीरी। किसानों के लंबे ऐतिहासिक त्याग को सलाम- जफर अली नकवी पूर्व सांसद

    लखीमपुर खीरी। प्रधानमंत्री अपने संबोधन में तीन कृषि कानून वापस लेने की बात कही है।किसानों के ऊपर लागू किए गए तीन कृषि कानून वापस लिए जाएंगे जिस पर आज लखीमपुर खीरी के पूर्व सांसद जफर अली नकवी न कि देश के इतिहास में आजादी के बाद मैंने कभी नहीं सुना के एक साल तक कई संघर्ष चले, सड़कों पर किसानों को बैठना पड़े जिनको हम अन्नदाता कहते हैं और उन्होंने जो  जिस प्रकार से संघर्षशील होकर के और जिस भावना के साथ में पूरे देश के किसानों का प्रतिनिधित्व कर रहे थे मोदी जी व उनकी सरकार के लोग समझ नहीं पा रहे थे। जो बॉर्डर पर लोग बैठे हुए थे किसान एक प्रकार से पूरे देश के किसानों का प्रतिनिधित्व कर रहे थे उनकी भावनाओं को समझने में यह सरकार फेल रही l तीन काले कानून वापस लिए जा रहे हैं। 

    जफर अली नकवी, पूर्व सांसद

    काले कानून के आने से और अब तक हमारी पार्टी के नेता राहुल गांधी जी एवं प्रियंका गांधी वाड्रा जी ने लड़ाई लड़ी। किसानों ने सत्याग्रह कर अपनी शहादत दी। किसानों के लंबे इतिहासिक त्याग को सलाम करता हूं यह किसानों की जीत है, लोकतंत्र में लोकतंत्र की आवाज कोई दबा नहीं सकता उसके लिए चाहे जितना संघर्ष करना पड़े। किसानों का संघर्ष इसका प्रतीक है l साथ ही श्री नकवी ने कहा कि आंदोलन शुरू होने पर आप किसानों से सार्थक संवाद करते, उनकी पीड़ा समझते और कानून वापस लेते तो आपकी उदारता कहलाती पर 600 से अधिक किसानों के शहीद होने के बाद उन्हें अपशब्द कहना,आतंकी बताने और उपद्रवी तत्व कहने के बाद कानून वापस लेना उत्तर प्रदेश और पंजाब चुनाव से पहले आपका डर कहलायेगा अब चुनाव में हार दिखने लगी तो आपको अचानक इस देश की सच्चाई समझ में आने लगी यह देश किसानों ने बनाया है यह देश किसानों का है किसान ही इस देश का सच्चा रखवाला है और कोई सरकार किसानों के हित को कुचलकर इस देश को नहीं चला सकती। सरकार की मँशा पर विश्वास करना मुश्किल है l कांग्रेस पार्टी के नेतृत्व को  बधाई देता हूं। 

    शहनवाज़ गौरी

    Initiate News Agency (INA), लखीमपुर खीरी

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.