Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    लखीमपुर-खीरी। धड़ल्ले से हो रहा अवैध बालू खनन का कारोबार।

    लखीमपुर-खीरी। पलिया तहसील क्षेत्र में अवैध बालू का कारोबार थमने के बजाये तेजी से बढ़ता ही जा रहा है। पुलिस की नाक के नीचे से अवैध बालू भरी ट्रैक्टर-ट्रालियां निकलती हुई कभी भी देखी जा सकती हैं। दिन हो रात बालू माफिया इस सफेद सोने का कारोबार बेखौफ होकर कर रहे हैं। बावजूद पुलिस प्रशासन हाथ पर हाथ धरे बैठा हुआ है।

    सारदा नदी के किनारे से जंगल तथा कई घाट बालू माफियाओं के लिए कामधेनु साबित हो रही है। सियासी संरक्षण के चलते खनन पर रोक लगाने वाले जिम्मेदार आंख पर पट्टी बांध घूम रहे हैं। अवैध खनन के चलते राजस्व को भारी चूना लगाया जा रहा है, वहीं  शारदा नदी के तटबंधों के किनारे खदान करने से वह अपनी धारा किस ओर मोड़ दे कुछ नहीं कहा जा सकता जबकि अभी हाल ही के दिनों में आई बाढ़ ने पूरे पलिया क्षेत्र को बड़ा घाव दे दिया है उसके बाद भी खनन माफिया है जो रुकने का नाम नहीं ले रहे उन माफियाओं के आगे पूरा प्रशासन ही झुका हुआ है लेकिन पलिया के लोगों का क्या जो हर साल मेहनत से कमाया हुआ पैसा इस बाढ़ आपदा में बह जाता है क्या प्रशासन इतना भी नहीं जनता कि पलिया के लोगों पर इस दौरान क्या बीत रही है उनको  आखिर इस बात की क्या फिकर होगी।

    अगर बात करें आसपास के गांव वालो की तो वह चाह कर भी कुछ नहीं बोल सकते। कारण यह कि सियासी जंजीर में जब पुलिस प्रशासन ही जकड़ा हुआ है तो बेवजह इस जंजाल में कौन फंसे। सूत्रों के मुताबिक इसमें सत्ताधारियों के निचे बैठें कुछ लोग है, जो अपने संरक्षण में इस कार्य को बेखौफ होकर अंजाम तक पहुंचाने में खुद कार्य कर रहे हैं। पुलिस को अपनी कुर्सी बचानी है तो वह चुप बैठने में भलाई समझती है। ऐसी स्थिति में इस अवैध कारोबार पर कौन रोक लगायेगा यह सोचनीय विषय है।


    Initiate News Agency(INA)

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.