Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अलीगढ़। डिप्टी सीएम ने रामघाट रोड का नाम बदलकर किया कल्याण सिंह मार्ग, 150 से अधिक की योजनाओं का हुआ शिलान्यास,

    अलीगढ़। जिले में डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने  रामघाट रोड का नाम बदलकर राम भक्त बाबूजी कल्याण सिंह के नाम पर जोड़ते हुए रामघाट रोड के नाम के साथ शुद्धिकरण किया गया है। जबकि अखिलेश यादव और सभी पार्टियों पर तंज कसते हुए कहा कि 2022 में जब जनता का फैसला आएगा तो सभी दल बेहोश होकर अच्छे डॉक्टरों से अपना इलाज कराने के लिए पहुंचेंगे।

    यूपी के अलीगढ़ जिले में योजनाओं का शिलान्यास करने के लिए शिरकत करने पहुंचे थे। डिप्टी सीएम ने करीब 150 से अधिक की परियोजनाओं का शिलान्यास करते हुए लोकार्पण किया गया है। परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण करने के बाद उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने 2022 में होने वाले चुनावों को लेकर सभी दलों पर जमकर निशाना साधा और कहा कि उनकी पार्टी का गठबंधन केवल अपना दल और निषाद पार्टी से रहेगा। जबकि कृषि कानूनों को लेकर आंदोलन कर रहे किसानों को उन्होंने अपना भाई बताया। और किसानों से अपील भी की गई की इस बिल को वापस कराने के लिए किसानों ने आंदोलन शुरू किया था उस बिल को वापस लेने की प्रधानमंत्री ने घोषणा कर दिया जिसके बाद किसानों को प्रधानमंत्री की घोषणा का स्वागत करते हुए अपने आंदोलन को खत्म कर वापस चले जाना चाहिए।जबकि डिप्टी सीएम ने अलीगढ़ के रामघाट रोड का नाम का शुद्धिकरण करते हुए रामघाट रोड का नाम राम भक्त कल्याण सिंह के नाम के साथ जोड़ा गया है।

    केशव प्रसाद मौर्य डिप्टी सीएम यूपी

    उत्तर प्रदेश के जनपद अलीगढ़ में योजनाओं का शिलान्यास करने के बाद डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने उत्तर प्रदेश 2022 विधानसभा चुनावों को लेकर कहा कि जनता पार्टी 2022 में भी 2017 को दोहराएंगे और प्रचंड बहुमत के साथ बीजेपी यूपी में सरकार बनाएगी,और कहा कि कृषि कानूनों को लेकर जो किसान आंदोलन कर रहे थे वो किसान हमारे भाई हैं।जबकि किसान जिस कृषि कानूनों को लेकर आंदोलन कर रहे थे प्रधानमंत्री ने उनके से कानूनों को वापस लेने की घोषणा कर दी है। जबकि किसान बिल वापसी की घोषणा के बाद भी पीछे नहीं हट रहे तो इस पर केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि सरकार को काम करना था। सरकार ने वह काम अपना कर दिया है। 

    तो वही डिप्टी सीएम ने कहा कि अलीगढ़ के रामघाट रोड का नाम बदलकर अब कल्याण सिंह मार्ग कर दिया गया है। क्योंकि बाबूजी कल्याण सिंह राम भक्त थे। कल्याण सिंह के राम भक्त होने के चलते रामघाट का नाम भी ना बदले और बाबूजी कल्याण सिंह का भी नाम भी रामघाट मार्ग के साथ जुड़ जाए इसीलिए रामघाट रोड के नाम का शुद्धिकरण किया गया है। 

    जबकि सरकार किसानों के लिए हर तरह का काम कर रही है। किसी कानूनों को लेकर आंदोलन कर रहे किसान नेता से डिप्टी सीएम ने अपील की कृषि कानून वापस कराने को लेकर किसान नेता आंदोलन करने के लिए आए थे। कृषि कानून वापसी की घोषणा के बाद प्रधानमंत्री के फैसले का स्वागत करते हुए किसान नेताओं को आंदोलन समाप्त करना देना चाहिए।इसके साथ ही उन्होंने कहा कि प्रदेश के अंदर पूरी अखिलेश यादव की टीम है। प्रदेश में सभी टीमें मिलकर केवल भारतीय जनता पार्टी को ही हराना चाहती है। लेकिन भारतीय जनता पार्टी को जनता जिताना चाहती है। जबकि जनता की अदालत का फैसला 2014,2017 और 2019 में जनता का जो फैसला था वही जनता का फैसला 2022 में होगा। इन 2022 का जो फैसला होगा। उसके बाद सभी दल बेहोशी की हालत में चले जाएंगे और बेहोशी की हालत में होने के चलते अच्छे डॉक्टरों से अपना इलाज कराएंगे। भारतीय जनता पार्टी केवल दो दलों के साथ गठबंधन करेगी जिसमें उनका अपना दल और निषाद पार्टी शामिल है।

    अजय कुमार

    Initiate News Agency (INA), अलीगढ़

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.