Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    आर्यन खान को मिली जमानत, शुक्रवार या शनिवार को आएंगे जेल से बाहर

    आर्यन खान को मिली जमानत, शुक्रवार या शनिवार को आएंगे जेल से बाहर

    बॉम्बे हाई कोर्ट ने मंजूर की जमानत, 3 घंटे की सुनवाई के बाद 3 आरोपियों को मिली जमानत

    मुंबई :  क्रूज ड्रग्स पार्टी मामले में मुंबई की आर्थर रोड जेल में बंद बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान की जमानत को बाम्बे हाई कोर्ट ने मंजूर कर लिया लेकिन न्यायालय के आदेश की कॉपी न मिल पाने के कारण जेल से बाहर नहीं आने दिया गया| उम्मीद है कि शुक्रवार या फिर शनिवार को उन्हें बेल पर रिहा किया जायेगा|  न्यायालय ने इस मामले में सह अभियुक्त मुनमुन धमीचा और अरबाज मर्चेंट को भी जमानत पर छोड़ने का आदेश दिया| जमानत की अर्जियों पर न्यायालय में सुनवाई आज तीसरे दिन अपराह्नन तीन बजे सुनवाई शुरू हुई थी और फैसला करीब 4.45 बजे आया। सुनवाई के दौरान आर्यन खान के वकील मुकुल रोहतगी ने कोर्ट में कहा था कि आर्यन खान की कस्टडी का कोई कारण नहीं दिया गया है। इसके साथ ही आर्यन के पास से ड्रग्स की रिकवरी भी नहीं हुई है, ऐसे में उनकी गिरफ्तारी पूरी तरह गलत है।

    मंगलवार को बहस के दौरान पूर्व अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने तर्क दिया था कि आर्यन खान यंग बॉय है इसलिए उसे जेल के बजाय सुधार गृह में भेजा जाना चाहिए। बॉम्बे हाईकोर्ट ने शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को जमानत दे दी है, लेकिन कल या शनिवार को ही आर्यन जेल से बाहर आ सकेंगे। तीन घंटे की लंबी सुनवाई के बाद कोर्ट ने आर्यन समेत तीनों आरोपियों को बेल दे दी। गिरफ्तार हुए लोगों में सिर्फ आर्यन और अरबाज परिचित थे। ऐसे में साजिश की कोई आशंका ही नहीं है। कोर्ट में एनसीबी की दलील पूरी हो गई है। आर्यन खान के वकील मुकुल रोहतगी ने अपना पक्ष रखते हुए कहा- मानव और गाबा की गिरफ्तारी क्यों नहीं की गई? जिन्होंने आर्यन को क्रूज पर न्योता दिया था। अनिल सिंह ने कोर्ट से कहा- ड्रग्स नहीं मिलने का मतलब ये नहीं है कि शख्स ने कोई गुनाह नहीं किया है। अगर किसी के पास ड्रग्स नहीं मिला है तो भी वो उसके लिए जिम्मेदार हो सकता है। अनिल सिंह ने कोर्ट को बताया, "यह मानते हैं कि गिरफ्तारी के समय कोई अनियमितता थी, जिसे रिमांड आदेश के बाद ठीक कर दिया गया था।" इसके साथ ही उन्होंने कहा कि गिरफ्तारी पूरी तरह से कानूनी है। इसे साजिश साबित नहीं किया जा सकता।" वे अपनी दलीलें समाप्त करते हुए कहते हैं।

    अनिल सिंह ने कहा- 'अरबाज़ के जूते से चरस बरामद हुई थी। जब एनसीबी ने अरबाज से पूछताछ की तो उसने बताया कि वो चरस लेकर आया था और आर्यन से कहा था कि क्रूज पर 'ब्लास्ट' करेंगे। एनसीबी के वकील ने कहा - कॉन्सपिरेसी के मामले में जमानत देना आवश्यक नहीं है। ड्रग्स डीलिंग को सुप्रीम कोर्ट ने भी जघन्य अपराध बताया है। अनिल सिंह ने कोर्ट में कहा कि 'आर्यन खान को पता था कि अरबाज के पास ड्रग्स है। चरस धूम्रपान के लिए था और जिसका सेवन दोनों करने वाले थे, हालांकि यह अरबाज के पास शारीरिक रूप से था। एएसजी पंचनामा पढ़ रहे हैं जहां अरबाज मर्चेंट ने अपने जूतों से ड्रग्स निकालकर एनसीबी अधिकारी को दिया था। साथ ही उन्होंने कहा वो ब्लास्ट होने के लिए अंदर जा रहे थे। चरस को क्रूज यात्रा के दौरान फूंकना था। वह अरबाज के साथ ड्रग्स के पोजेशन में थे और ड्रग्स उनके सेवन के लिए था। एएसजी ने हंसते हुए कहा कि यह एक पार्टी थी और मेरे काबिल मित्र कह रहे हैं कि हमने 2 अक्तूबर यानि गांधी जयंती के दिन लोगों को गिरफ्तार किया है जो की ड्राई डे कहा जाता है। ड्राई डे है इसलिए हमें उन्हें छोड़ देना चाहिए। क्रूज दो दिन के लिए था और वहां पर कई तरह के ड्रग्स मौजूद थे।ऐसे में इसे निजी रूप से सेवन करना नहीं कह सकते क्योंकि कई तरह के अलग अलग मात्रा में ड्रग्स थे। ऐसे में हमनें धारा 28 और 29 लगाई है। एएसजी अनिल सिंह ने कोर्ट से कहा कि सभी जगहों से एक ही दिन में आठ लोगों के पास से कई नशीले पदार्थ पाए गए।

    दवा की मात्रा और प्रकृति को देखें। इस पर कोर्ट ने कहा कि, 'तो आप कह रहें हैं कि ये संचयी है?  इस पर अनिल सिंह ने कहा कि जब मैं साजिश की बात कहता हूं तो मैं सभी व्यक्ति के ड्रग्स की गणना करके कहता हूं। अनिल सिंह ने कहा कि अगर दो लोग साथ हैं और एक व्यक्ति को ड्रग्स के बारे में पता है और दूसरे को ड्रग्स के इस्तेमाल के बारे में पता है तो पहला व्यक्ति(आर्यन) भी साफ तौर पर इसका अधिकारी है। ये मामला ड्रग्स रखने और इसके इस्तेमाल की योजना बनाने के बारे में है। समीर वानखेड़े ने महाराष्ट्र सरकार द्वारा उनके खिलाफ जांच को लेकर अब बॉम्बे हाईकोर्ट का रुख किया है। इस मामले में वो सीबीआई या किसी केंद्रीय एजेंसी से जांच की मांग कर रहे हैं। एएसजी अनिल सिंह ने एनसीबी की तरफ से दलील देते हुए कहा कि आर्यन खान ड्रग्स का नियमित रुप से सेवन करता है और उनके पास ऐसे सबूत मौजूद हैं जो यह साबित करते हैं कि वो ड्रग्स मुहैया कराता है। क्रूज ड्रग्स केस की जांच करने के दौरान वसूली के आरोपों का सामना कर रहे एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े गुरुवार को एसीबी के दफ्तर पहुंचे। इस दौरान  मीडिया ने जब उनसे इस मामले पर सवाल किया तो उन्होंने किसी भी तरह का जवाब देने से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा कि मुझे इस मामले पर कुछ भी कहने की जरूरत नहीं है। आर्यन खान केस में मुख्य गवाह किरण गोसावी को महाराष्ट्र के पुणे से गिरफ्तार कर लिया गया है। गोसावी पर यह कार्रवाई धोखाधड़ी मामले में की गई है। पुणे पुलिस के मुताबिक, गोसावी को देर रात गिरफ्तार किया गया है। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) की ओर से जमानत की अर्जी का विरोध करते हुए अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल (एएसजी) अनिल सिंह ने कहा कि आर्यन को जमानत मिलने पर सबूतों से छेड़छाड़ की जा सकती है। आर्यन पिछले कुछ सालों से नियमित ड्रग्स ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि आर्यन के रिकॉर्ड से पता चलता है कि वे कई लोगों को ड्रग्स उपलब्ध भी कराते रहे हैं। उन्होंने कहा कि जिस मात्रा में ड्रग्स की मिली है, उससे साफ है कि वह नशीले पदार्थों के तस्करों के संपर्क में रहे हैं। सिंह ने सवाल उठाया कि ये बात बार-बार पूछी जा रही है कि हमने ड्रग सेवन की जांच नहीं की है। यह मामला इस बात को लेकर है कि आर्यन के पास ड्रग्स पाई गई है। श्री सिंह ने कहा कि जब आर्यन ने ड्रग का सेवन नहीं किया तो उसकी चिकित्सकीय जांच का का सवाल ही नहीं उठता है? सुनवाई के दौरान आर्यन खान के वकील मुकुल रोहतगी ने कोर्ट में कहा था कि आर्यन खान की कस्टडी का कोई कारण नहीं दिया गया है। इसके साथ ही आर्यन के पास से ड्रग्स की रिकवरी भी नहीं हुई है, ऐसे में उनकी गिरफ्तारी पूरी तरह गलत है। मंगलवार को बहस के दौरान पूर्व अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने तर्क दिया था कि आर्यन खान यंग बॉय है इसलिए उसे जेल के बजाय सुधार गृह में भेजा जाना चाहिए।

    Initiate News Agency(INA News), मुंबई डेस्क

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.