Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    लखीमपुर-खीरी। हिसां में शहीद हुए किसानों का अंतिम अरदास, अंतिम अरदास में पहुंची प्रियंका गांधी वाड्रा, रहा विरोध।

    लखीमपुर-खीरी: तिकुनिया में 3 अक्टूबर को हुई हिंसा में शहीद हुए किसानों का आज सयुंक्त किसान मोर्चा का  श्रद्धांजलि सभा व अंतिम अरदास का कार्यक्रम आयोजित किया गया। 


    जिसमें किसान नेता राकेश टिकैत समेत हजारों की संख्या में किसान मौजूद रहे, अंतिम अरदास कार्यक्रम में कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव एवं यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी भी शामिल हुईं, किसान नेता राकेश टिकैत व प्रियंका गांधी वाड्रा ने हिंसा में शहीद हुए किसानो को श्रद्धा सुमन अर्पित किए,कार्यक्रम में तमाम मौजूद किसानों ने भी शहीद हुए किसानों एवं पत्रकार रमन कश्यप को श्रद्धा सुमन अर्पित किए,अंतिम अरदास का कार्यक्रम घटना स्थल से लगभग एक किलोमीटर दूर आयोजित किया गया,अंतिम अरदास कार्यक्रम में किसी भी राजनीतिक दल को मंच साझा नहीं करने दिया गया। 


    अंतिम अरदास कार्यक्रम में किसान नेता राकेश टिकैत ने बड़ा बयान देते हुए कहा की केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय कुमार मिश्र टेनी को बर्खास्त किये जाए, उनकी धारा 120 B में गिरफ्तार की जाए, यही मेरी दो मांग है संघर्ष से समाधान हमारा मंत्र है, 4 अक्टूबर को संयुक्त किसान मोर्चा के लोगो के सामने बात हुई हम आज भी उसपर कायम हैं,जब तक टेनी गिरफ्तार नही होते दोनो आगरा जेल में नही जाते तब तक सही जांच नही हो सकती है,राकेश टिकैत ने कहा कि 15 अक्टूबर को बुराई का पुतला फूंका जाएगा, 18 को देश भर में 10 से 4 बजे तक ट्रेन रोकी जाएंगी,24 को विधिविधान से अस्थि कलश निकलेंगे, 26 को लखनऊ में बड़ी पंचायत होगी,मांग पूरी न होने तक आंदोलन चलता रहेगा।

    कार्यक्रम में प्रियंका गांधी वाड्रा का रहा विरोध, दिखाए काले झंडे


    तिकुनिया में अंतिम अरदास में शामिल होने के लिए पहुंच रही प्रियंका गांधी वाड्रा के काफिले को रास्ते में किसानों ने काले झंडे दिखाए इसके अलावा गए जगह जगह "नहीं चाहिए फर्जी की सहानुभूति" के बैनर लगाकर उनके आने का विरोध किया गया। 


    काले झंडे के साथ साथ पोस्टर भी दिखाए गए जिस पर लिखा था कि प्रियंका वापस जाओ नहीं चाहिए फर्जी की सहानुभूति  फ़िलहाल प्रियंका गांधी वाड्रा अंतिम अरदास में शामिल हुई हिंसा में शहीद हुए किसानों को श्रद्धा सुमन अर्पित किए लेकिन किसानों ने मंच साझा करने नहीं दिया।
    शहनवाज़ गौरी
    Initiate News Agency (INA), लखीमपुर खीरी

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.