Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    देवबंद: मदरसा माहद-ए-आयशा सिद्दीकिया में दुरूद शरीफ पर अनोखी लेखन प्रतियोगिता का आयोजन

    देवबंद: नगर के मौह0 अबुल बरकात स्थित मदरसा माहद-ए-आयशा सिद्दीकिया कासिम-उल-उलूम लिल बनात में बारह रबीउल अव्वल के उपलक्ष्य में पैगंबर मोहम्मद साहब (सल्लाह.) पर आधारित (दुरूद शरीफ) लेखन प्रतियोगिता का आयोजन हुआ। जिसमें 35 छात्राओं ने बहुत ही उत्साह के साथ प्रतिभाग किया तथा प्रतियोगिता में सोफिया ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। 

    मदरसे में हुई प्रतियोगिता में सोफिया ने प्रथम, जुवैरिया ने द्वितीय व शाहिना ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। जिन्हें प्रतीक चिंह व नकद धनराशि का पुरस्कार दिया गया। जबकि अन्य छात्राओं को सांत्वना पुरस्कार दिए गए।

    इस अवसर संस्था के शेखुल हदीस व अरबी के प्रसिद्ध विद्वान मौलाना नदीम-उल-वाजदी ने कहा कि हमने छात्राओं को पेंटिंग से हटाकर दुरुद शरीफ लिखने का मौका दिया। जिसमें छात्राओं ने अपनी लेखनी का शानदार प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि क्योंकि रबीउल अव्वल का महीना हमारे लिए बहुत ही अहम है और हजरत मोहम्मद साहब की जात हम सबके लिए बहुत ज्यादा अहतराम (इज्जत) के काबिल है। 

    कहा कि हजरत मोहम्मद साहब के जो हक हम पर हैं उनमें से पहला हक इमान लाना है, दूसरा इताअत (अनुसरण) करना, तीसरा आपके हर अमल को जिंदगी में उतारना, चैथा मोहब्बत करना है और पांचवा हक दुरुद शरीफ पढ़ना है। 

    उन्होंने कहा कि छात्राओं को यह समझाया गया कि दुरुद शरीफ बहुत बड़ी फजीलत की चीज है। इसमें बहुत सी मुश्किलों और परेशानियों का इलाज है। कार्यक्रम में मौलाना महमूद कासमी, मुफ्ती मो. शाकिर कासमी, मुफ्ती मेराज कासमी, मौलाना रिजवान कासमी आदि मौजूद रहे।


    Initiate News Agency(INA)

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.