Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    कानपुर। मानसिक रोग एक तरह का विकार है जो मस्तिष्क से जुड़ा होता है, डॉ चिरंजीव प्रसाद का कहना है कि कोविड के बाद से यह बीमारी और बढ़ गयी है,

    कानपुर। बीमारियों और अस्पताल का ज़िक्र आते ही दिमाग में जो पहली तस्वीर आती है, वो अक्सर खांसते-छींकते बुखार या फिर अस्पताल के बिस्तर पर पड़े मरीज़ की होती है।लेकिन क्या आपके ज़ेहन में डिप्रेशन के किसी मरीज की तस्वीर उभरी, जो काउंसलिंग के लिए साइकॉलोजिस्ट के पास आया हो या बाइपोलर डिसॉर्डर का कोई मरीज जो सायकाइट्रिस्ट के कमरे के बाहर अपने नंबर का इंतजार कर रहा हो।

    डॉ चिरंजीव प्रसाद, मनोरोग विशेसज्ञ

    मानसिक रोग एक तरह का विकार है जो मस्तिष्क से जुड़ा होता है। यह विकार व्यक्ति के व्यौहार सोचने समझने की शक्ति को प्रभावित कर देता है। मानसिक रोग में अक्सर व्यक्ति में चिंता तनाव, किसी वस्तु की अधिक लत या फिर पागलपन हो जाता है।

    मानसिक रोग के एक्सस्पर्ट डॉ चिरंजीव प्रसाद का कहना है कि कोविड के बाद से यह बीमारी और बढ़ गयी है, कुछ ऐसे भी मरीज होते है जो अपनी दुनिया मे ही खोए रहते है, उनका कहना है कि अगर समय पर इसका इलाज कराया जाय, तो यह बीमारी ठीक हो सकती है।

    इब्ने हसन ज़ैदी

    Initiate News Agency (INA) , कानपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.