Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    मुज़फ्फरनगर: डीएम कार्यालय पर ट्रैक्टर खड़े कर किसानों ने किया कब्जा

    मुज़फ्फरनगर: लखीमपुर कांड को लेकर संयुयक्त किसान मोर्चा और भारतीय किसान यूनियन के आह्वान पर आज मुज़फ्फरनगर जिला कलक्ट्रेट परिसर पर जिलाधिकारी कार्यालय का घेराव किया गया। सुबह 11 बजे किसानो की भीड़ ट्रेक्टर ट्रॉली लेकर मोदी योगी मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए कलक्ट्रेट परिसर पहुंचे जंहा किसानो ने जिलाधिकारी कार्यालय के चारो और ट्रेक्टर ट्रॉली खड़े कर जमकर हंगामा किया। 

    धर्मेंद्र मलिक(राष्ट्रीय प्रेस प्रवक्ता-भाकियू)

    जिलाधिकारी कार्यालय पर धरना प्रदर्शन कर रहे किसानो के साथ भारतीय किसान यूनियन के प्रेस प्रवक्ता धर्मेंद्र मलिक और चौधरी राकेश टिकैत के पुत्र चरण सिंह टिकैत ने इस धरना प्रदर्शन पर  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम एक ज्ञापन जिला प्रशासन को सौंपा। 

    मुजफ्फरनगर में भारतीय किसान यूनियन ने लखीमपुर कांड में गृह राज्य मंत्री अजय टेनी व उसके बेटे पर कार्यवाही की मांग और स्थानीय मुद्दों को लेकर भारतीय किसान यूनियन ने जिला कलेक्ट्रेट पर धरना प्रदर्शन किया जिसमें भारतीय किसान यूनियन का निशाना केंद्र और उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार रही भारतीय किसान यूनियन के पदाधिकारियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम एक ज्ञापन जिला प्रशासन को सौंपा जिसमें भारतीय किसान यूनियन ने ज्ञापन के माध्यम से कहा कि पिछले 1 साल से किसान 3 कीर्ति कानून को निरस्त किए जाने व न्यूनतम समर्थन मूल्य को कानून बनाने की मांग को लेकर सड़कों पर है. 

    इसी माह 3 अक्टूबर को उत्तर प्रदेश के जनपद लखीमपुर खीरी के तिकुनिया में आयोजित किसान पंचायत से वापस आ रहे किसानों को वहां के स्थानीय सांसद व आपकी सरकार के गृह राज्य मंत्री अजय टैनी के निर्देश पर योजनाबद्ध तरीके से गाड़ी से कुचल कर मार दिया जिससे पूरे देश का किसान और मजदूर आक्रोश में है इसी को लेकर आज 26 अक्टूबर को देश भर में घटना के विरोध में जिला मुख्यालय पर आंदोलन कर अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन किया भारतीय किसान यूनियन मुजफ्फरनगर में प्रदर्शन के माध्यम से आप से निम्न मांग करती है. 

    चरण सिंह टिकैत (राकेश टिकैत का पुत्र)

    नंबर 1 लखीमपुर खीरी कांड के आरोपी केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय सैनी को मंत्रिमंडल से बर्खास्त भी कर उनकी गिरफ्तारी सुनिश्चित की जाए तीनों कृषि कानूनों को वापस लिया जाए न्यूनतम समर्थन मूल्य को कानून का दर्जा दिया जाए देश भर में बेमौसम बारिश में बाढ़ के कारण किसानों की दाल दलहन तिलहन आलू आदि की फसलों को भारी नुकसान हुआ है. 

    किसानों के नुकसान का सत प्रतिशत मुआवजा दिलाया जाए देशभर में किसानों को फसल की बुवाई हेतु खाद की जरूरत है लेकिन देश भर में किसान खाद के लिए कतार में है किसानों की खाद के लिए लाइन में लगे किसानों की मौत की खबरें आ रही है किसानों को बुवाई हेतु खाद उपलब्ध करा जाए इसके साथ ही भारतीय किसान यूनियन ने स्थानीय मुद्दों को लेकर भी जिलाधिकारी के नाम एक ज्ञापन दिया.


    Initiate News Agency(INA)

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.