Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    श्रावस्ती। इंडो नेपाल सीमा के समीप कटान हुई तेज

    श्रावस्ती। राप्ती नदी के आगोश में आकर लगभग सैकड़ों बीघा जमीन फसल सहित राप्ती नदी में समाहित हो गई है।


    पूरा मामला विकास खंड हरिहरपुर रानी अंतर्गत इंडो नेपाल सीमा के समीप बसे ग्राम पंचायत ककरदरी का है, जहां पर राप्ती नदी लगभग महीनों से ही कटान करती नजर आ रही है लगभग 50 साल से लगा सेमर का पेड़ काटकर राप्ती में समाहित हो गया है। 


    ग्रामीणों का आरोप है कि यहां पर कटान की खबरें कई बार हिंदुस्तान व अमर उजाला न्यूज़ पेपर में प्रकाशित भी हुई लेकिन यहां पर कोई आला अधिकारी देखने नहीं आया। जिससे ग्रामीण बहुत ही आक्रोशित है। नो मैंस लैंड पर लगे पिलर संख्या 641 की निगरानी एसएसबी के जवान दिन-रात करते रहते हैं यदि राप्ती नदी के कटान की स्पीड इसी तरह बढ़ती रही और शासन की तरफ से जल्द ही कोई पुख्ता इंतजाम नहीं किया गया तो पिलर संख्या 641 के साथ गांव भी नामो निशान मिट सकता है। 

    प्रधान प्रतिनिधि राजकुमार यादव, राजू


    वही एसएसबी के अधिकारियों से बात करने पर बताया कि इसकी जानकारी उच्च अधिकारियों को दे दी गई है, ग्रामीणों ने सरकार से पुल व बांध की मांग की है।

    सर्वजीत सिंह 
    Initiate News Agency (INA), श्रावस्ती




    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.