Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    लखीमपुर-खीरी। तस्करों के लिए वरदान बनी नेपाल की खुली सीमा।

    लखीमपुर-खीरी। नेपाल राष्ट्र की खुली सीमा तस्करों के लिए वरदान साबित हो रही है। एसएसबी तथा पुलिस को चकमा देकर तस्कर करोड़ों रुपये के मादक पदार्थ देश में पहुंचा रहे हैं। जिले की करीब 80 किमी लंबी सीमा नेपाल राष्ट्र से सटी हुई है। इस सीमा पर तमाम पगडंडी रास्तों का इस्तेमाल दोनों देशों के लोग करते हैं। दोनों देशों के बीच रोटी बेटी का संबंध भी है। 

    इसी खुली सीमा का लाभ तस्कर भी उठा रहे हैं। यह लोग एसएसबी तथा पुलिस को चकमा देकर करोड़ों रुपये के मादक पदार्थ जंगलों के रास्तों से पहले नजदीक शहरों में लाते हैं फिर दिल्ली, पंजाब व महाराष्ट्र आदि प्रदेशों में पहुंचा देते हैैं।

    यह खुलासा पकड़े गए तस्करों ने पूछताछ में भी किया है। तस्करी के इस धंधे में भारत तथा नेपाल राष्ट्र के अपराधी शामिल है। यह अपराधी चरस, कोकीन, हेरोइन, गांजा व हशीस आदि की तस्करी कर रहे हैं। इसके साथ-साथ अवैध असलहा, नकली नोट व उर्वरकों की भी तस्करी हो रही है। इसकी पुष्टि पूर्व में पकड़े गए तस्करों ने भी की है।

    मानव तस्कर भी हैं सक्रिय

    मादक पदार्थों व सामानों के साथ-साथ नेपाल सीमा पर मानव तस्करी की घटनाएं भी आए दिन होती रहती है। एसएसबी ने कई बार तस्करी कर भारत लाई जा रही नेपाली लड़कियों को तस्करों से मुक्त कराकर उन्हें वापस नेपाल प्रहरी के हवाले किया है। मानव तस्कर नेपाली गरीब परिवारों की मजबूरी का फायदा उठाते हैं।

    दिन-रात निगरानी करती एसएसबी

    नेपाल सीमा पर तैनात सशस्त्र सीमा बल के जवान देश विरोधी गतिविधियों तथा तस्करी आदि को रोकने के लिए दिन रात निगरानी करते है। इसके अलावा सीमा क्षेत्र की पुलिस तथा खुफिया एजेंसियां भी इन पर नजर रखती हैं। इसके बावजूद तस्कर अपने मंसूबों को अंजाम देने में सफल दिख रहे हैं।


    Initiate News Agency(INA)

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.