Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अलीगढ़। डेंगू बुखार, मलेरिया बुखार का कहर, मौत का आंकड़ा 40 पार, कई गांवों में पसरा मातम, गांवों में मची है चीखपुकार

    अलीगढ़। जिले में डेंगू बुखार मलेरिया बुखार लगातार बढ़ता जा रहा है। जिले में बुखार से पीड़ित मरीजों की मौत का आंकड़ा करीब 40 को पार कर चुका है। लेकिन स्वास्थ्य विभाग लोगों की हो रही मौतों को लेकर दावा कर रहा है कि जिले में अभी तक एक भी मौत डेंगू से नहीं हुई है।ऐसे में भले ही स्वास्थ्य विभाग डेंगू से मौत को इंकार भले ही करें, लेकिन गांव के लोगों की सच्चाई को भी झुठलाया नहीं जा सकता है। जो गांव के लोगों से लेकर गांव के प्रधान ने अपनी जुबानी बया करते हुए कहा कि उनके गांव के भीतर एक दिन में कई-कई लोगों की मौत बुखार से हुई हैं। लेकिन लापरवाह स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी डेंगू से एक भी मौत होना नहीं मान रहे।भले ही लोगों की मौत के बाद गांव में जा-जाकर डेरा डाल कैम्प लगाते हुए सोर्स रिडक्शन की कार्यवाही कर हैं।तो वही गांव में दवाओं की छिड़काव करने सहित बीमार लोगों की जांच करते हुए दवाएं उपलब्ध करा रहे है।


    उत्तर प्रदेश के जनपद अलीगढ़ में बुखार डेंगू बुखार मलेरिया बुखार ने पूरी तरह से अपने पैर पसार दिए हैं।तो वही शहर से दूर गांवों की तरफ दौड़ा यह बुखार धीरे-धीरे लोगों को अपने आगोश में समाने लगा है।डेंगू व बुखार लोगों के लिए डरावना हो गया है। अलीगढ़ जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में डेंगू और बुखार को लेकर भयावह स्थिति हो गई हैं। जबकि इस बुखार से पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह व उत्तर प्रदेश सरकार में शिक्षा राज्य मंत्री संदीप सिंह का गांव मढ़ौली भी अछूता नहीं रहा है। इस मढ़ौली गांव के अंदर भी पिछले 4 से 5 दिन के अंदर तीन लोगों की मौत बुखार के चलते हो चुकी है।तो वही तहसील खैर इलाके के गांव मानपुर खुर्द,गोमत,लक्ष्मणगढ़ी की तरफ से शुरू हुआ लोगों के मरने का सिलसिला अतरौली तहसील के गांव मढ़ौली,दतावली सहित कई अन्य गांवों तक पहुंच गया है।जबकि बुखार से अब तक 40 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी हैं।लेकिन स्वास्थ्य विभाग के लापरवाह अधिकारी अधीनस्थ कर्मचारी और डॉक्टर लोगों की लगातार एक के बाद एक हो रही मौतों को डेंगू से होना नहीं मान रहा है।जबकि स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने अभी तक डेंगू से एक भी मौत होने से साफतौर पर इंकार किया गया है।कहा गया है कि जिले में एक भी मौत अभी तक डेंगू से नहीं हुई हैं।

    तहसील अतरौली के गांव मढ़ौली में 24 से ज्यादा लोग बुखार की चपेट में हैं। गांव मढोली निवासी युवक संदीप की पांच दिन पहले अलीगढ़ के एक निजी हास्पिटल में मौत हो गई।जबकि ज्ञानवती देवी की शनिवार की शाम और खुशी पुत्री होटल सिंह की रविवार की सुबह मौत हो गई। रूमलेश देवी, मुकेश, कैलाश, अभिषेक, तरुण, गिरीश, हरदेवी, रितु, शिव कुमार सहित दो दर्जन से ज्यादा लोग बुखार से पीड़ित  अपने घरों में चारपाई पर पड़े हुए हैं।अलीगढ़ मुख्य चिकित्सा अधिकारी आनंद उपाध्याय  ने कहा कि मौत की जानकारी  की सूचना पर स्वास्थ्य विभाग की टीम को गांव भेज दिया है।

    तहसील खैर इलाके के गांवों में मरीजों की घर घर चारपाई बिछी हैं। बुखार से आधा दर्जन से अधिक लोगों की मौतों के साथ सैकड़ा से अधिक मरीजों का उपचार जारी है।पिछले एक महीने में सात मरीजों की मौत से गांवो के लोगों में दहशत है। जबकि रविवार को जेएन मेडिकल कालेज में भर्ती गोमत निवासी सुनीता की मौत हो गई है।जिसको बुखार आने पर परिजनों ने जेएन मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया था।

    गंगीरी ब्लाक के गांव दतावली में आठ मरीजों की मौत होने की खबर मिलते ही सीएमओ के नेतृत्व में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने गांव दतावली में कैंप लगाकर मरीजों का उपचार किया। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने घर-घर जाकर बुखार से हुई मौत का सत्यापन किया।

    Initiate News Agency (INA), अलीगढ़

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.