Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    शाहजहाँपुर: पुलिस मुठभेड में बावरिया गिरोह के 02 अन्तर्राज्यीय अभियुक्त गिरफ्तार

    ---भारी मात्रा में सोने चांदी के लगभग 11 लाख रूपये कीमत के जेवरात व अवैध असलहा बरामद।


    शाहजहाँपुर: एस. आनन्द, पुलिस अधीक्षक शाहजहाँपुर के निर्देशानुसार जनपद मे अपराधो की रोकथाम व अपराधियो की गिरफ्तारी के लिए चलाये जा रहे अभियान के क्रम मे संजय कुमार, अपर पुलिस अधीक्षक नगर के पर्यवेक्षण मे व प्रवीण कुमार, क्षेत्राधिकारी के निर्देशन मे थाना रौजा पुलिस व एस.ओ.जी की टीम को बडी कामयाबी हासिल हुई ।

    जयशंकर सिंह, थानाध्यक्ष रोजा व रोहित कुमार प्रभारी एस.ओ.जी के नेतृत्व मे थाना रौजा की पुलिस व एस.ओ.जी. टीम द्वारा शाम करीब 19.30 बजे मुखबिर की सूचना व निशांदेही व सर्विलांस के आधार पर मोहम्मदी रोड स्थित सल्लिया मोड पर भट्टे के पास  पुलिस मुठभेड के दौरान 02अभि0गण. बृजेन्द्र, गंगू को गिरफ्तार किया गया। 

    जिनके कब्जे से 02 अदद तमंचा 315 बोर , 03 अदद जिन्दा कारतूस  , 02 अदद खोखा , चाँदी के 05 किलो जेवरात, सोने के जेवरात लगभग 140 ग्राम व  चोरी / डकैती के उपकरण ( आला नकब ) बरामद हुआ । अभि0 गण के विरूद्ध समुचित धाराओं में अभियोग पंजीकृत कर न्यायालय रवाना किया जा रहा है।

    घटना क्रम - दिनांक 3/4.09.21 की रात्रि बरतारा मार्केट मे मयंक प्रताप सिंह पुत्र जयवीर सिंह निवासी रझौआ कला की बरतारा स्थित ज्वैलर्स शाप मे पीछे के रास्ते अज्ञात चोरों द्वारा नकब लगाकर  तिजोरी तोड़कर सोने चांदी के जेवरात चोरी कर लिये गये थे। जिसके सम्बन्ध मे थाना स्थानीय पर मु.अ.सं. 538/21 धारा 457/380 भा.द.सं. बनाम अज्ञात पंजीकृत होकर विवेचना प्रचलित थी । 

    अथक ,सार्थक व सक्रिय प्रयास द्वारा  घटना का सफलता पूर्वक अनावरण किया गया था तथा पूर्व मे गिरोह के 04 सदस्यो क्रमशः 1. रघुवीर पुत्र सिंधी  2. पंकज पुत्र वीजेन्द्र 3.मंगल पुत्र वीजेन्द्र निवासीगण रम्पुरा थाना पसगंवा जिला खीरी 4.पंकज उर्फ नेमपाल पुत्र करन सिंह निवासी लक्ष्मणपुर गोटिया थाना बण्डा जनपद शाहजहाँपुर   को चार किलो चाँदी व एक तोला सोने के जेवरात कुल कीमती लगभग 07 लाख सहित गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है।

    गिरफ्तारी पूछताछ –पूछताछ मे ज्ञात हुआ कि इस गिरोह के सरगना बिजेन्द्र है तथा बिजेन्द्र और रघुवीर  द्वारा दिनांक 02/09/2021 को मयंक ज्वैलर्स बरतारा के दुकान की रैकी की गयी तथा चोरी की योजना बनाई गयी। दिनांक 3/4-9/2021 को रात्रि लगभग 08.00 बजे 06 लोगो ने  रेलवे लाईन बरतारा के किनारे झाड़ियों मे छिपे रहे। 

    रात्रि 11.00 बजे नकब लगाकर लकड़ी की फैक्ट्री के अन्दर होते हुए ज्वैलर्स शाप की पिछली दीवार को तोड़ दिये तथा दुकान मे घुसकर बेहद शातिराना ढंग से तिजोरी का लॉक तोड़कर उसमे रखे सोने चांदी के जेवरात चोरी करके पुनः रेलवे लाईन के किनारे आकर झाड़ियों मे छिपे रहे। सुबह होने पर दो-दो की संख्या मे अलग-अलग वाहनो से अपने गांव रमपुरा चले गये। 

    संपूर्ण माल का बटवारा करके पुलिस गिरफ्तारी से बचने हेतु यह लोग माल बेचने पंजाब जा रहे थे। प्रायः यह लोग चोरी किये गये माल को अन्य जनपद या अन्य प्रदेश मे बेचतें हैं और ज्यादातर घटनाऐं जनपद से बाहर व अन्य राज्यों मे करते हैं। घटना के समय रघुवीर और पंकज ओर बिजेन्द्र दुकान के अन्दर गये जबकि अन्य तीन  साथी बाहर आने जाने वाले लोगों पर निगरानी कर रहे थे। 

    पुलिस के आने या जनता के लोगों के जाग जाने पर यह लोग अपनी भाषा मे जानवरों की तरह आवाज निकालकर और पथ्थर बजाकर दुकान के अन्दर चोरी कर रहे साथी को एलर्ट कर देते हैं। घटना करने हेतु घटना से पहले घटना स्थल की रेकी करते हैं। गिरोह का सरगना बिजेन्द्र व  रघुवीर संपूर्ण माल मे से आधा भाग स्वयं लेता है क्यूंकि वही तिजोरी तोड़ने लॉकर तोड़ने और नकब लगाने मे माहिर है। 

    तथा दुकान के अन्दर वही दोनो जाते है। इस गिरोह मे तीन – चार अन्य सदस्यों के होने की बात भी पूछताछ से ज्ञात हुई है। जिनके सम्बन्ध मे गोपनीय सूचना एकत्र कर गिरफ्तारी के प्रयास किये जा रहे हैं। गिरोह के बारे मे अन्य जनपदों तथा अन्य राज्यों मे पंजीकृत अभियोगों के सम्बन्ध मे जानकारी की जा रही है। 

    उल्लेखनीय है कि घटना मे 06 लोग क्रमशः1. रघुवीर पुत्र सिंधी  2. पंकज पुत्र वीजेन्द्र3.मंगल पुत्र वीजेन्द्र 4.पंकज उर्फ नेमपाल 5. बृजेन्द्र पुत्र रामलाल  6. गंगू पुत्र चन्दन शामिल थे । यह लोग इतने शातिर है कि आधा माल लेकर पहले 1. रघुवीर पुत्र सिंधी  2. पंकज पुत्र वीजेन्द्र3.मंगल पुत्र वीजेन्द्र 4.पंकज उर्फ नेमपाल पंजाब भेज दिया तथा उन लोगो को यह बताया कि यदि पुलिस तुम  लोगो को पकडे तो हम लोगो का नाम मत बताना और खुद ही तुम लोग जेल चले जाना बचे माल (जेवर) को बेचकर हम लोग तुम लोगो की जमानत करवा लेंगे और अगर तुम लोग पंजाब भागने मे सफल रहे औऱ हम लोग पकडे गये तो हम लोग तुम लोगो का नाम पुलिस को नही बतायेंगे। 

    तुम लोगो के पास जो जेवरात है उसे बेचकर तुम लोग हम लोगो की जमानत करवा लेना । पूछताछ मे यह भी ज्ञात हुआ कि गिरोह के 04 सदस्य के पकडे जाने के बाद इन दोनो ने चोरी के 10 लाख कीमती जेवरात अपने गाँव रमपुरा के बाहर स्थित नहर व सडक के किनारे अलगअलग स्थानो पर जमीन मे गाड दिया था तथा खुद साधु का  भेष बनाकर बरेली बदाँयु व फर्रुखाबाद मे छिप रहे थे । आज मौका पाकर माल जमीन मे से निकालकर भागने की फिराक मे थे तो पकडे गये ।


    फ़ैयाज़ उद्दीन 

    Initiate News Agency(INA), शाहजहाँपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.