Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    शाहजहांपुर : मेडिकल कॉलेज के हड्डी रोग विभाग में मरीजों से की जा रही बसूली : अजीत सिंह (भाजपा युवा नेता )

    शाहजहांपुर। मेडिकल कॉलेज अबैध धन उगाही को लेकर हमेशा सुर्खियों में बना रहता है। यहां आये दिन रुपये लेकर इलाज करने के आरोप लगते रहते है। अभी कुछ दिन पूर्व मेडिकल कॉलेज के वरिष्ठ सर्जन अनिल राज को रिश्वत लेते हुए पकड़ा गया था। जिसका वीडियो भी वायरल हुआ था। जिससे उन्हें जेल भी जाना पड़ा था और उन्हें सस्पेंड भी किया गया था। अब नया मामला हड्डी रोग विभाग में आया है। विकास खण्ड भावलखेड़ा के कनेंग निवासी मिनकु सिंह के साथ हुआ है। इस सम्बंध में भाजपा युवा नेता ने शिक्षा चिकित्सा मंत्री को भेजे पत्र में बताया मेडिकल कॉलेज में हड्डी विभाग में कुछ डॉक्टरों द्वारा गरीब मरीजों से ऑपरेशन के दौरान पड़ने वाली राड व कुछ सामान के नाम पर अवैध धन उगाही की जाती है। उन्होंने बताया ग्राम कनेंग के मिनकु सिंह के पुत्र शेखर सिंह उम्र 12 वर्ष के कोहनी में गंभीर चोट लग जाने के कारण मेडिकल कॉलेज में हड्डी विभाग के डॉक्टर मयंक को दिखाया था। जिन्होंने मिनकु सिंह को बताया कि आप के पुत्र की कोहनी टूट गई है। जिसका ऑपरेशन करना पड़ेगा जिसके लिए आपको 12000 रुपये जमा करने होंगे। मरीज के पिता ने डॉक्टर से हाथ जोड़कर निवेदन किया कि वह बहुत गरीब आदमी है यदि मेरे पास इतना रुपया होता तो वह अपने पुत्र को मेडिकल कॉलेज में क्यों लेकर आता कहीं प्राइवेट अस्पताल में इलाज करवा लेता काफी गिड़गिड़ाने के बाद भी डॉक्टर मयंक ने मिनकु सिंह से 6000 जमा करवाये। जिसकी कोई भी रसीद मिनकु सिंह को नहीं दी गई। जब मिनकु सिंह ने यह बात उन्हें बताई कि डॉक्टर मयंक ने 6000 रुपये जमा करवाएं और दवाइयां भी बाहर से ही लिखते हैं। तब उन्होंने तत्काल मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल से फोन पर बात की और प्रिंसिपल से पूछा कि 6000 रुपये किस बात के जमा कराए गए हैं और दवाइयां बाहर से क्यों मंगाई जा रही है। जिस पर प्रिंसिपल ने बताया ऑपरेशन के समय राड और कुछ सामान की आवश्यकता होती है जिसके लिए रुपए जमा कराएं जाते हैं। डॉक्टर मयंक अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं आए दिन मरीजों से 10,000 से 12000 रुपए जमा कराते हैं। उसके बाद जहां से इनको मोटा कमीशन मिलता है वहां से यह सामान मंगाते हैं। दवाइयां भी इसीलिए बाहर से लिखी जाती हैं जिससे मयंक को मोटे कमीशन मिल सके। 


    उपरोक्त प्रकरण में कठोर कार्रवाई करने की कृपा करें। जिससे डॉक्टरों द्वारा इस प्रकार से अवैध धन उगाही व कमीशन खोरी बंद हो सके व जनहित में गरीब मरीजों की मदद हो सके।

    माननीय मंत्री जी का निर्देश प्राप्त हुआ है उसी आधार पर डॉक्टर मयंक से स्पष्टीकरण मांगा गया है। आगे उसी आधार पर कार्रवाई की जाएगी |

    डॉक्टर राजेश प्राचार्य मेडिकल कॉलेज शाहजहांपुर


    फ़ैयाज़ उद्दीन 

    Initiate News Agency (INA) , शाहजहाँपुर


    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.