Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    पंचायत चुनाव का आगाज, पंचायत समितियों को हो रही है क्षेत्र में दिक्कत सरकार की दोहरी नीतियों के कारण, नहीं कर पाते क्षेत्र का विकास

    पंचायत चुनाव का आगाज, पंचायत समितियों को हो रही है क्षेत्र में दिक्कत सरकार की दोहरी नीतियों के कारण,  नहीं कर पाते क्षेत्र का विकास

    गया- बिहार : बिहार पंचायती राज के तहत पंचायत में  5 पद है जिला परिषद, मुखिया,  पंचायत समिति, सरपंच,  और वार्ड सदस्य सरकार ने सभी पदों के लिए कुछ ना कुछ फंड आवंटित किए जिसमें सबसे सीमित फंड पंचायत समिति का है । जबकि क्षेत्र मुखिया और पंचायत समिति का बराबर हमारी मुलाकात बोधगया प्रखंड के उप प्रमुख डॉo कुमारी सुषमा सिन्हा से हुई बातचीत के दरमियान में उन्होंने बताया कि बिहार में पंचायत चुनाव का तिथि निर्धारित कर दी गई है । सभी प्रतिनिधि अपने अपने क्षेत्र में क्षेत्र भ्रमण कर रहे हैं,  क्षेत्र में जनता अपने प्रतिनिधि से सवाल करती है । सबसे ज्यादा परेशानी पंचायत समितियों को हो रहा है,  क्योंकि सरकार पद तो निर्धारित कर दी है लेकिन फंड नहीं दिया सांड है अभी तो इतनी सीमित जिससे क्षेत्र में हम कोई डेवलपमेंट का काम ही नहीं कर सकते ।

    डॉo कुमारी सुषमा सिन्हा,  उप प्रमुख बोधगया प्रखंड

    पंचम वित्त के तहत हमारी वार्षिक योजना मात्र एक  लाख रुपया है,  पंचायत में 14 गांव हैं । अभी  एक लाख रुपए से 14 गांव का विकास हम कैसे कर सकेंगे चुनाव सामने आ गया है । क्षेत्र में मैं जब जा रही हूं जनता हमसे अनेक सवाल करती है और उनके सवालों को जवाब देने के लिए मेरे पास कोई शब्द नहीं । जनता यह समझने को तैयार नहीं है की पंचायत समिति का फंड निर्धारित की है सरकार ने इतनी सीमित है कि एक गांव क्या एक टोला का भी विकास नहीं कर सकता । पंचायत समितियों के लिए सरकार कुछ ऐसा फंड निर्धारित करें ताकि क्षेत्र का विकास में हमारा भी योगदान हो । हम लोग केवल जनता को शुभकामना ही दे सकते|

    प्रमोद कुमार यादव, गया- बिहार
    INA NEWS(Initiate News Agency)

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.