Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    बलिया: पंजाब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू को पार्टी से निकालने की उठी मांग

    बलिया: U.P.P.C.C. सदस्य और और वरिष्ठ कांग्रेस नेता कमलेश सिंह नें सिद्धू के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि, सिद्धू को अनुशासनात्मक कार्रवाई करते हुए पार्टी से निकाल देना चाहिए। क्योंकि सिद्धू के बयान से पार्टी का नुकसान हो रहा है।

    कमलेश सिंह -P.C.C. सदस्य पूर्व प्रत्याशी कांग्रेस

    जैसा कि सिंह ने पंजाब प्रदेश कांग्रेश अध्यक्ष पर आरोप लगाते हुए कहा कि ,पिछले दिनों पंजाब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सिद्धू नें एक जिम्मेदार पद पर रहते हुए भी गैर जिम्मेदाराना बयान देते हुए कहां की ईट से ईट बजा दूंगा। इसी बयान पर एक प्रेस प्रतिनिधियों ने -

    सिद्धू से पूछा था ,कि आप किसकी ईट से ईट बजा देंगे ,कैप्टन अमरिंदर सिंह की ईट से ईट बजा देंगे  या पार्टी आलाकमान की।

    सिंह ने कहा कि, ऐसे फालतू की बयानबाजी से पार्टी का नुकसान हो रहा है ।आज आवाज उठाई जा रही है सीनियर लीडर मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को हटाया जाए ,कल को दूसरा गुट उठेगा कहेगा कि प्रदेश अध्यक्ष हटाया जाए ,पार्टी आलाकमान को हटाया जाए, ऐसे बयानबाजी से पार्टी का नुकसान हो रहा है। मैं सिद्धू पूछना चाहता हूं की ऐसे बयान बाजी की जरूरत ही क्या है।

    सिंह चिंता व्यक्त करते हुए कहा वर्तमान परिस्थिति में जो कांग्रेस पार्टी की स्थिति वो काफी चिंतनीय  है।  कमलेश सिंह ने कहा कि ,पंजाब और छत्तीसगढ़ मैं क्या चल रहा है । सब देख रहे हैं ,कमलेश सिंह ने दुखी मन से कहा कि कांग्रेस हाईकमान के ढुलमुल रवैए से पार्टी का नुकसान हो रहा है ।कांग्रेस हाईकमान सोनिया गांधी, प्रियंका गांधी ,और राहुल गांधी के रवैया से पीसीसी मेंबर काफी दुखी दिखे।

    सिंह ने कहा की हम लोग इंदिरा जी और राजीव जी के जमाने से कांग्रेस से जुड़े हैं ।लेकिन कांग्रेस पार्टी अब में सीनियर लोगों की बातों को महत्व नहीं दिया जा रहा है। कमलेश सिंह कहां के पहले पार्टी में सीनियर लोगों की बातों को महत्व दिया जाता था ।और उनके विचारों को सुना जाता था ।लेकिन अब पार्टी में नए  लोगों की बात को ज्यादा महत्व दिया जा रहा है। यह ठीक नहीं है।

    सिंह ने कहा कि कांग्रेस का इतिहास 100 साल से ज्यादा का है और पार्टी के विचारों कारण ही जनता और  हम लोग कांग्रेह से जुड़े हैं । अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए सिंह ने कहा कि कि पुराने लोगों की अनदेखी कि जा रही है और नए लोगों को महत्व दिया जा रहा है । यह ठीक नहीं है । क्योंकि ये लोग पार्टी के विचार से नहीं जुड़े। उन्होंने ने बसपा से आए आर. के. चौधरी का उदाहरण देते हुए कहा ,के बसपा से आए थे, और बसपा में वापस चले गए, क्योंकि वह पार्टी की विचारधारा को समझ नहीं सके , कमलेश सिंह ने कहा मेरा मानना है । कि जब तक पार्टी की विचारधारा को समझकर लोग नहीं नहीं जुड़ेंगे तब तक आप पार्टी के लॉयल नहीं हो सकते वफादार नहीं हो सकते है।

    जब उनसे पूछा गया कि आप पार्टी फोरम में भी तो अपनी बात को रख सकते थे । सिंह ने कहा कि पार्टी फोरम में हमारी बात को उतना महत्व नहीं दिया जा रहा है ।इसलिए हम प्रेस  और ट्विटर के माध्यम से अपनी बात प्रियंका गांधी तक पहुंचाएंगे। सिंह ने प्रियंका गांधी की तारीफ करते हुए कहां की, प्रियंका ने पार्टी कैंडिडेट को इलेक्शन लड़ने के लिए जो फंडिंग का तरीका अपनाया है ,वह काफी सराहनीय है। पी.सी.सी सदस्य कमलेश सिंह नें जोर देते हुए कहा कि मेरे विचार से कांग्रेस पार्टी को किसी के साथ गठबंधन नहीं करना चाहिए । क्योंकि  पिछला अनुभव यही बताता है कि गठबंधन से नुकसान हुआ है। अखिलेश यादव ने पिछली हार का जिम्मेदार कांग्रेस पार्टी को बनाया।

    और आज भी बसपा ,सपा के लोग कहते फिरते हैं कि बीजेपी सत्ता में कांग्रेस के बदौलत आई। गठबंधन से कोई फायदा नहीं है जब गठबंधन करके अभी 7, 9,और 27 ही जीतना है। तो गठबंधन का क्या फायदा इससे ज्यादा फिर तो हम गठबंधन के बिना भी अपने बल पर ही हम जीत सकते हैं। जब सिंह से जब एक संवाददाता नें यह सवाल कि आज जो कांग्रेस पार्टी की दशा है, तो क्या राहुल गांधी में वो कुशल क्षमता नहीं है के पार्टी को अच्छी जीत दिला सके।

    इस सवाल के जवाब में कमलेश सिंह राहुल गांधी की तारीफ करते हुए कहा कि  नहीं ,मैं आपकी बात इस बात से सहमत नहीं हूं, राहुल जी पार्टी के लिए कड़ी मेहनत करने के साथ-साथ गरीब किसान अल्पसंख्यक मजदूर सबकी चिंता उन्हें हर समय रहती है।


    Initiate News Agency (INA)

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.