Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    नहीं रहेगा भद्रा का साया, दिन भर भाई की कलाई पर रखी बांध सकेंगी बहनें

    नहीं रहेगा भद्रा का साया, दिन भर भाई की कलाई पर रखी बांध सकेंगी बहनें

    पिहानी- हरदोई : भाई-बहन के अटूट प्रेम का प्रतीक रक्षाबंधन पर्व 22 अगस्त रविवार को है। इस दिन बहनें अपने भाई को तिलक कर उसके हाथों पर रेशम की डोर से बनी राखी बांधती हैं। भाई भी इस प्रेम के बदले अपनी बहन को अपनी जेब अनुसार उपहार भेंट कर उनकी आजीवन रक्षा करने का संकल्प लेते हैं। लेकिन राखी बांधने के लिए शुभमूर्हूत का होना बहुत ही जरूरी होता है।

    रक्षा बंधन के पर्व पर इस बार भद्रा का साया नहीं है। बहनें पूरे दिन स्नेह की डोर से भाइयों की कलाइयां सजा सकेंगी। ज्योतिषियों के अनुसार, इस साल रक्षाबंधन के दिन श्रावण पूर्णिमा, धनिष्ठा नक्षत्र के साथ शोभन योग का शुभ संयोग बन रहा है। ज्योतिष शास्त्र में इन संयोग को उत्तम माना गया है। रक्षाबंधन के दिन तीन खास संयोग भाई-बहन के लिए लाभकारी साबित होंगे।

     पिहानी निवासी ज्योतिषाचार्य आशीष मिश्रा के अनुसार रक्षाबंधन के दिन 22 अगस्त को सुबह 10 बजकर 34 मिनट तक शोभन योग रहेगा। यह योग शुभ फलदायी होता है। इसके साथ ही रक्षाबंधन के दिन रात 7 बजकर 40 मिनट तक धनिष्ठा योग रहेगा। हिंदू पंचांग के अनुसार सावन मास की पूर्णिमा तिथि 21 अगस्त को शाम सात बजे से प्रारंभ हो रही है। इसका समापन 22 अगस्त को शाम 5 बजकर 31 मिनट पर होगा। आमतौर पर भद्रा के कारण बहनों को राखी बांधने के लिए समय कम ही मिलता रहा है। इस बार भद्रा नहीं होने से राखी बांधने के लिए 12 घंटे और 11 मिनट की अवधि का दीर्घकालीन शुभ मुहूर्त है। राखी सुबह 5 बजकर 50 मिनट से शाम 6 बजकर 3 मिनट तक कभी भी बांधी जा सकेगी।


    रक्षा बंधन का शुभ मुहूर्त..

    - शुभ मुहूर्त : सुबह 5.50 मिनट से शाम 6.03 मिनट।

    - दोपहर 1.44 से 4.23 मिनट तक।

    - अभिजित मुहूर्त दोपहर 12.04 से 12.58 मिनट तक।

    - अमृत काल सुबह 9.34 से 11.07 

    डिजाइनर राखियों से सजा बाज़ार, डोरेमोन और छोटा भीम राखियों ने मचाई धूम..

     जगह-जगह राखियों की दुकान से बाज़ार की रौनक़ बढ़ रक्षाबंधन का पर्व एक ही दिन में आने को है, इसको लेकर कस्बे  के बाज़ारों में तैयारियां ज़ोरों पर हैं। जगह-जगह राखियों की दुकान से बाज़ार की रौनक़ बढ़ रही है। 22 अगस्त को धूमधाम से रक्षाबंधन का पर्व पूरे  धूमधाम से मनाया जाएगा। बहनों ने अपने भाइयों के लिए राखियों की ख़रीदारी शुरू कर दी है। हालाँकि इस प्यार के धागे की कोई क़ीमत नहीं होती है, लेकिन समय के साथ-साथ अब डिज़ायनर राखियों का ट्रेंड आ गया है। अब बहने अपने भाईयों को डिजाइनर राखीयां बंधने लगी हैं।

    डोरेमोन और छोटाभीम राखियों की धूम..

    इस बार बाज़ार में छोटे बच्चों की राखियों को लेकर धूम मची पड़ी है। छोटे बच्चों की राखियों की भरमार है। छोटे बच्चे कार्टून केरेक्टर की राखियाँ पहनना काफ़ी पसंद करते हैं।

    जिसके लिए बाज़ार में डोरेमोन और छोटाभीम राखी बड़ी संख्या में आयी हैं। इनके अलावा शिनचेन, बेनटेन, कृष्णा, चुटकी, बाल गणेश, स्पाइडरमैन, मोटू पतलु राखी भी बाज़ार में छाई हुई हैं। इनकी क़ीमत 50 रुपये से लेकर 150 तक है।


    नवनीत कुमार राम जी, पिहानी- हरदोई
    INA NEWS(Initiate News Agency)

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.