Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    फसल अवशेष जलाये जाने से उत्पन्न हो रहे प्रदूषण की रोकथाम हेतु जनपद एवं तहसील स्तर पर सेल का गठन- जिलाधिकारी

    फसल अवशेष जलाये जाने से उत्पन्न हो रहे प्रदूषण की रोकथाम हेतु जनपद एवं तहसील स्तर पर सेल का गठन- जिलाधिकारी

    1. पराली/कृषि अपशिष्ट जलाये जाने की घटना पाये जाने पर सम्बन्धित के विरूद्ध अर्थदण्ड लगाये जाने के सम्बन्ध में कार्यवाही सुनिश्चित की जाये- जिलाधिकारी
    2. पराली जलाने की घटना प्रकाश में आने पर सम्बन्धित लेखपाल जिम्मेदार होंगे- अविनाश कुमार

    हरदोई : जिलाधिकारी अविनाश कुमार ने बताया है कि खरीफ मौसम में फसल अवशेष जलाये जाने से उत्पन्न हो रहे प्रदूषण की रोकथाम हेतु जनपद स्तर पर एक सेल का गठन किया गया है। गठित सेल प्रत्येक दिन अनुश्रवण किये जाने के निर्देश/निर्णय के परिपालन हेतु जनपद एवं तहसील स्तर पर सेल का गठन किया गया है। जनपद स्तर पर गठित सेल में अपर जिलाधिकारी (वित्त एवं राजस्व) अध्यक्ष, अपर पुलिस अधीक्षक, उप कृषि निदेशक, जिला विद्यालय निरीक्षक, जिला पंचायतराज अधिकारी तथा क्षेत्रीय प्रदूषण अधिकारी गठित जनपद स्तरीय सेल में सदस्य के रूप में रहेंगे तथा जिला कृषि अधिकारी सदस्य/सचिव होगे। इसी प्रकार तहसील स्तर पर सचल दल का गठन किया जाता है। जिसमे सदर तहसील हेतु दस्ता प्रभारी उप जिलाधिकारी सदर, क्षेत्राधिकारी सदर, उप सम्भागीय कृषि प्रसार अधिकारी सदर तथा सहायक वि0अधि0 बावन दल में रहेंगे। इसी प्रकार तहसील बिलग्राम हेतु उप जिलाधिकारी बिलग्राम, क्षेत्राधिकारी बिलग्राम, उप संभागीय कृषि प्रसार अधिकारी बिलग्राम, सहायक विकास अधिकारी बिलग्राम सचल दल में सम्मिलित रहेंगे। तहसील सण्डीला के सचल दल में उप जिलाधिकारी सण्डीला, क्षेत्राधिकारी सण्डीला, उप संभागीय कृषि प्रसार अधिकारी सण्डीला तथा सहायक विकास अधिकारी सण्डीला रहेंगे। तहसील शाहाबाद के सचल दल हेतु उप जिलाधिकारी शाहाबाद, क्षेत्राधिकारी शाहाबाद, उप संभागीय कृषि प्रसार अधिकारी शाहाबाद तथा सहायक विकास अधिकारी शाहाबाद रहेंगे तथा तहसील सवायजपुर हेतु उप जिलाधिकारी सवायजपुर, क्षेत्राधिकारी हरपालपुर, उप सम्भागीय कृषि प्रसार अधिकारी बिलग्राम तथा सहायक विकास अधिकारी हरपालपुर  सचल दल में रहेंगे।

    उन्होने बताया है कि गठित सेल प्रत्येक ग्राम के ग्राम प्रधान, क्षेत्रीय लेखपाल एवं कृषि विभाग के क्षेत्रीय कर्मचारी को निर्देशित कर यह सुनिश्चित करेंगे कि किसी भी दशा में अपने से सम्बन्धित क्षेत्र में पराली/कृषि अपशिष्ट न जलाने दिया जाये। पराली/कृषि अपशिष्ट जलाये जाने की घटना पाये जाने पर सम्बन्धित को दण्डित करने तथा क्षतिपूर्ति की वसूली एवं पुनरावृत्ति होने पर सम्बन्धित के विरूद्ध अर्थदण्ड लगाये जाने के सम्बन्ध में कार्यवाही सुनिश्चित की जाये। पराली जलाने की घटना प्रकाश में आने पर सम्बन्धित लेखपाल जिम्मेदार होंगे।

    INA NEWS(Initiate News Agency)

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.