Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    'दीदी का रसोई' का डीएम ने किया उद्घाटन, मरीजों एवं उनके परिजनों को मिलेगा स्वादिष्ट भोजन

    'दीदी का रसोई' का डीएम ने किया उद्घाटन, मरीजों एवं उनके परिजनों को मिलेगा स्वादिष्ट भोजन

    गया- बिहार : जिला के प्रभावती अस्पताल में भर्ती मरीजों एवं उनके परिजनों के लिए पौष्टिक, स्वादिष्ट एवं गुणवत्तापूर्ण भोजन उपलब्ध कराने के उद्देश्य से दीदी की रसोई का उद्घाटन फीता काटकर जिला पदाधिकारी गया अभिषेक सिंह ने किया। जिला पदाधिकारी ने इस अवसर पर कहा कि दीदी की रसोई को ब्रांड के रूप में विकसित कर एक नया प्रयास प्रभावती अस्पताल में दीदी के रसोई के रूप में प्रारम्भ किया गया है।

    ज़िला पदाधिकारी द्वारा दीदी की रसोई का उद्घाटन करते हुए कहा कि अस्पताल के मरीजो एवं उनके परिजनों के अतिरिक्त अन्य बड़े कार्यालयों में कार्यक्रमों एवं समारोहों, बैठकों में शामिल लोगों के लिए भोजन, नास्ता पैकेट इत्यादि उपलब्ध कराया जाएगा। उन्होंने बताया कि अनुमण्डल अस्पताल, टिकारी एवं शेरघाटी में जिला प्रशासन द्वारा दीदी की रसोई का प्रारंभ पूर्व में ही किया गया था।

                  जिला पदाधिकारी ने कहा की अनुमंडलीय अस्पताल शेरघाटी, टिकारी एवं सदर अस्पताल (जय प्रकाश नारायण अस्पताल) के बाद मुख्यमंत्री द्वारा पूरे बिहार के अस्पतालों में दीदी के रसोई का शुभारंभ किया गया है। उन्होंने कहा कि जीविका के माध्यम से ग्रामीण महिलाएं उद्यमी बन रही हैं। उनके द्वारा सामाजिक एवं आर्थिक रूप से काफी कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि दीदी के रसोई के माध्यम से उन्हें रोजगार के साथ साथ उनमें समाज के प्रति जनहित भावना का भी विकास हो रहा है। जब कोई मरीज अस्पताल में भर्ती होता है और उन्हें तथा उनके परिजन को घर जैसा पौष्टिक तथा गुणवत्तापूर्ण भोजन मिलता है तो उनके लिए बहुत बड़ी बात है। जिला पदाधिकारी ने बताया कि कुष्ठ आश्रम में दीदी की रसोई कार्य कर रहा है। उन्होंने दीदी के रसोई में कार्य करने वाली महिलाओं से अनुरोध किया कि भोजन की गुणवत्तापूर्ण तथा पौष्टिकता को बनाए रखेंगे।

    ज़िला पदाधिकारी ने बताया कि प्रभावती अस्पताल में 200 बेड का अस्पताल बनाया जायेगा, जो महिलाओं एवं बच्चो के लिए उपलब्ध होगा। गया ज़िला के अतिरिक्त आस पास के ज़िले के लिए भी यह अस्पताल मददगार साबित होगा। उन्होंने अस्पताल के उपाधीक्षक को निदेश दिया कि अस्पताल की कार्य संस्कृति में और अधिक सुधार करें ताकि अधिक से अधिक मरीज इस अस्पताल में आकर अपना इलाज करा सकें। जिला पदाधिकारी ने लोगों से अपील किया है कि ज़िले में कोरोना के कुछ मामलें बढ़ रहे हैं, जिनसे हमें सावधान एवं सुरक्षित रहने की आवश्यकता है। उन्होंने लोगों से कोरोना के दोनों डोज़ का टीकाकरण लेने, मास्क लगाने, सामाजिक दूरी का निर्वहन करने तथा हाथ को सैनीटाइज करते रहने का अनुरोध किया तभी हम कोरोना के संभावित खतरे से निजात पा सकेंगे। 

    इस अवसर पर दीदी की रसोई के बारे में जीविका गया के जिला परियोजना प्रबंधक मुकेश कुमार सासमल द्वारा बताया गया कि प्रभावती अस्पताल में दीदी की रसोई का संचालन सहारा जीविका संकुल स्तरीय संघ की जीविका दीदियों द्वारा किया जाएगा। हाल ही में टिकारी एवं चंदौती के संकुल स्तरीय संघों की 35 जीविका दीदियों का छः दिवसीय प्रशिक्षण केरल से आई कुदुमश्री परियोजना की दीदियों द्वारा करने के बाद दीदियों का चुनाव कर यहाँ दीदी की रसोई का शुभारंभ किया जा रहा है। डीपीएम जीविका ने बताया कि दीदी की रसोई के माध्यम से जीविका एक वैल्यू-चेन बनाने के लक्ष्य पर कार्य कर रही है। पटना में जिला एवं अनुमंडल अस्पतालों के अलावा भी दीदी रसोई आरबीआई एवं डीएमआई में सफलतापूर्वक चलाई जा रही है। ज़िला पदाधिकारी ने स्वास्थ्य विभाग के सभी चिकित्सक एवं कर्मियों तथा जीविका के समस्त पदाधिकारी एवं कर्मियों को बधाई एवं शुभकामना दिया। उद्घाटन कार्यक्रम में सिविल सर्जन, जिला जन सम्पर्क पदाधिकारी, उपाधीक्षक प्रभावती अस्पताल, डीपीएम जीविका, डीपीएम स्वास्थ्य सहित अन्य पदाधिकारी, चिकित्सक, जीविका दीदी एवं मीडिया प्रतिनिधि उपस्थित थे।

    प्रमोद कुमार यादव, गया- बिहार
    INA NEWS(Initiate News Agency)

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.