Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    मुस्कुराइए क्योंकि आप घियरई गांव में हैं, देखिए यहां की अनगिनत अनियमितताएं..

    मुस्कुराइए क्योंकि आप घियरई गांव में हैं, देखिए यहां की अनगिनत अनियमितताएं..

    1. प्रधान प्रतिनिधि के स्कूल के पास बना सार्वजनिक शौंचालय और ग्राम सचिवालय
    2. ग्राम पंचायत की जमीन पर आवंटित कर दिया पीएम आवास
    3. गरीब पात्रों के स्थान पर हुक्मरान ले रहे सरकारी योजनाओं का लाभ

    शाहाबाद- हरदोई : ब्लॉक शाहाबाद के गांव घियरई में गांव से करीब 300 मीटर की दूरी पर स्थित एक उच्च प्राथमिक के पास ही में सार्वजनिक शौंचालय व ग्राम सचिवालय का निर्माण करा दिया गया।

    प्रधान प्रतिनिधि के स्कूल के पास बना सार्वजनिक शौंचालय

    कहने को तो शौंचालय सार्वजनिक है लेकिन असलियत में इसे हुक्मरानों ने इसे अपने निजी उपयोग के लिए बनवा लिया।

    ग्राम समाज की जमीन पर बना पीएम आवास

    शौंच क्रिया के लिए गांव से करीब 300 मीटर की दूरी पर आखिर कौन सा ग्रामीण जाएगा, यह समझ से परे है। दूसरी तरफ ग्राम सचिवालय का निर्माण भी इसी स्कूल के पास कराया गया है। जो कि गले से नीचे उतरने वाली बात नहीं है।

    निर्माणाधीन सडक की हालत

    इस गांव का विकास चीख-चीखकर अपनी बदहाली और अनियमितताएं बयां कर रहा है। यहां अब तक जो भी निर्माण कार्य हुए हैं, उनके न कोई मानक हैं और न ही सिस्टम।

    प्रधान ने अपनी व अपने चहेतों की सुविधा को प्राथमिकता देते हुए सारे निर्माण कार्य कराए हैं। बात चाहें शौंचालयों की हो, सड़क की हो या फिर ग्राम सचिवालय या पीएम आवासों की।

    सडक के बीच इस तरह से बनाई गयी नाली

    हर जगह प्रधान ने अपनी व अपने चहेतों की सुविधा का पूरा ध्यान रखा है। सरकार की महत्वपूर्ण प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत बनवाये गए आवासों की दशा और ज्यादा खराब है। आवासों के निर्माण के लिए लाभार्थियों को धनराशि देने के बजाय उन्हें निर्माण कुछ सामग्री उपलब्ध करा दी गई।

    सड़क को दो हिस्सों में बांटती नाली

    वो भी इसलिए ताकि निरीक्षण के समय उनका यह कारनामा छिपा रहे। इसके अलावा गांव में सड़क निर्माण में ईंटों के छोटे-छोटे टुकड़ों, बजरी और बालू का लेप लगाया जा रहा है। ये सड़कें शायद बरसात का एक महीना भी झेल नहीं पाएंगी।

    कुछ इस तरह से बनाई जा रही सडक

    पानी के निकास के लिए नाली भी सड़क के बीच बनवाई गई। यहां की नाली सड़क के डिवाइडर का काम कर रही है। इस नाली के किनारे सड़क के दो हिस्से हैं।

    अब गांव में सड़कें पहले से ही कम चौड़ी होती हैं। ऊपर से सड़क के बीच नाली बनवाकर इसे दो हिस्सों में बांट दिया गया। कुल मिलाकर इस गांव में अनियमितताओं की भरमार है।

    ग्राम प्रधान प्रतिनिधि का स्कूल

    मानकपूर्ण तरीके से कोई भी कार्य नहीं किया गया है। प्रधान, सेक्रेटरी सहित अन्य जिम्मेदारों की करतूतें व गांव के सभी निर्माण विकासशील गांव की परिभाषा को धुंधला करते नजर आ रहे हैं।

    INA NEWS(Initiate News Agency)

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.