Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    टोक्यो ओलंपिक में देश के लिए मेडल लाने वाले खिलाड़ियों को मिला सम्मान

    टोक्यो ओलंपिक में देश के लिए मेडल लाने वाले खिलाड़ियों को मिला सम्मान

    लखनऊ : उत्तरप्रदेश सरकार ने टोक्यो ओलंपिक में देश के लिए मेडल लाने वाले और अच्छा प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों के लिए गुरुवार को सम्मान समारोह आयोजित किया| यह कार्यक्रम राजधानी लखनऊ स्थित भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी इकाना इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में आयोजित हुआ. इस दौरान राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने खिलाड़ियों का सम्मान किया. पदक विजेताओं के सम्मान समारोह में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अलावा राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, उपमुख्यमंत्री केशव मौर्य समेत कई मंत्री भी शामिल हुए. यह कार्यक्रम भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेई इकाना स्टेडियम में हुआ. सम्मान समारोह के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यह हमारा सौभाग्य है, प्रयागराज कुंभ की स्मृतियों को आगे बढ़ाने हेतु 'खेल महाकुंभ' में खेल प्रतिभाओं के सम्मान समारोह में उपस्थित हैं. टोक्यो ओलंपिक में देश के पदक विजेताओं व प्रतिभागी खिलाड़ियों का मैं स्वागत करता हूं. उन्होंने कहा कि हम सब 'एक भारत, श्रेष्ठ भारत' के अभिन्न अंग हैं. यूपी सरकार द्वारा आज टोक्यो ओलंपिक में शानदार प्रदर्शन से देश का मान बढ़ाने वाली खेल प्रतिभाओं का सम्मान किया जा रहा है.

    उन्होंने कहा कि कांस्य पदक विजेता भारतीय पुरुष हॉकी टीम के सभी 19 खिलाड़ियों को प्रति खिलाड़ी 1-1 करोड़ की सम्मान राशि प्रदान की गई है. टीम के मुख्य प्रशिक्षक को 25 लाख रुपये व टीम के प्रशिक्षक एवं सहायक स्टाफ को 10 रुपये लाख की सम्मान राशि दी गई. जबकि ओलंपिक में चतुर्थ स्थान प्राप्त करने वाली भारतीय महिला हॉकी टीम की 19 खिलाड़ियों को प्रति खिलाड़ी 50 लाख की सम्मान राशि प्रदान की गई. टीम के प्रशिक्षक व सहायक स्टाफ को ₹10 लाख प्रति सदस्य प्रदान किया गया है.

    मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि खेल प्रतिस्पर्धा को आगे बढ़ाने और खेलो इंडिया के तहत प्रदेश को अग्रणी राज्य के रूप में स्थापित करने के लिए यूपी सरकार पूरी प्रतिबद्धता के साथ कार्य कर रही है. समारोह के दौरान ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट नीरज चोपड़ा समेत सभी पदक विजेताओं को सम्मान राशि प्रदान की गई. राज्य सरकार ने गोल्ड मेडलिस्ट को 2 करोड़, सिल्वर मेडलिस्ट को 1.5 करोड़ और कांस्य पदक विजेता को 1 करोड़ की सम्मान राशि प्रदान की.

    साथ ही उत्तर प्रदेश के खिलाड़ियों को भी 25-25 लाख की सम्मान राशि के साथ कुल 42 करोड़ की पुरस्कार राशि यूपी सरकार की ओर से दी गई है. हॉकी खिलाड़ियों को 1-1 करोड़ उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने इसके अलावा पुरुष हॉकी में ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने वाली टीम के सभी खिलाड़ियों को एक-एक करोड़ रुपये की राशि देकर सम्मानित किया. हॉकी कोच को 25 लाख रुपये की राशि दी गई. टीम के अन्य स्टाफ को 10-10 लाख रुपये दिए गए. जबकि वाराणसी के हॉकी खिलाड़ी ललित उपाध्याय को 25 लाख रुपये की अतिरिक्त राशि भी दी गई.

    **********************

    महिला हॉकी टीम भी सम्मानित...

    कड़े संघर्ष के बाद ओलंपिक में कांस्य पदक से चूकने वाली महिला हॉकी टीम के खिलाड़ियों को भी 50-50 लाख रुपये की राशि दी गई. टीम के कोच को 15 लाख रुपये और अन्य सदस्यों को 10-10 लाख रुपये की राशि प्रदान की गई. जबकि हॉकी खिलाड़ी वंदना कटारिया को 25 लाख रुपये की अतिरिक्त धनराशि दी गई. इन खिलाड़ियों को सम्मानित किया गया|

    टोक्यो ओलिंपिक में गोल्ड मेडल जीतने वाले जैवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा के साथ ही सिल्वर मेडल विजेता महिला वेट लिफ्टर मीरा बाई चानू, पहलवान रवि कुमार दहिया और कांस्य पदक जीतने वाले खिलाड़ियों, बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी संधू, पहलवान बजरंग पुनिया, महिला मुक्केबाज लवलीना बोरगोहेन और पुरुष हॉकी टीम को सम्मान दिया गया. आपको बता दें कि योगी सरकार ने चौथे स्थान पर आने वाली महिला हॉकी टीम, पहलवान दीपक पुनिया और महिला गोल्फर अदिति अशोक को भी सम्मानित किया. 

    **********************

    नीरज चोपड़ा को मिला 2 करोड़...

    यूपी सरकार ने नीरज चोपड़ा को 2 करोड़, रवि दहिया को 1.5 करोड़, पीवी सिंधु को एक करोड़, लवलीना बोरगोहेन को एक करोड़, बजरंग पुनिया को एक करोड़ और पुरुष हॉकी टीम के सभी खिलाड़ियों को एक-एक करोड़ की पुरस्कार राशि से सम्मानित किया. इसके अलावा दीपक पुनिया को 50 लाख और महिला हॉकी टीम की सभी खिलाड़ियों को 50-50 लाख रुपये की पुरस्कार राशि से सम्मानित किया. योगी सरकार ने टोक्यो ओलंपिक में हिस्सा लेने वाले उत्तर प्रदेश के 10 खिलाड़ियों को भी 25-25 लाख रुपये की पुरस्कार राशि से सम्मानित किया है. भारत के पदक विजेताओं का स्वागत अभिनंदन करते हुए सीएम योगी ने कहा कि इन सभी लोगों ने कोरोना महामारी के बीच में अपना बेस्ट दिया। हम सब देश के प्रधानमंत्री के आभारी है। पीएम ने सबका मनोबल बढ़ाया। अब तक के इतिहास में सबसे ज्यादा मेडल पाने के वाले खिलाड़ियों का मनोबल बढ़ाया। 58 खेलों में 10 खिलाड़ी उत्तर प्रदेश के थे, यह हमारे लिए गर्व की बात है। इस दौरान सीएम योगी ने वंदना कटरिया का शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उनकी हैट्रिक हम सब को गौरवान्वित कराती है। एक भारत सर्वश्रेष्ठ भारत का संदेश दिया है। देश में मेजर ध्यानचंद स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी खोलने का ऐलान

    सीएम ने कहा कि वर्तमान में 3 स्पोर्ट्स कॉलेज प्रदेश में संचालित है, सरकार खेल प्रतिभागियों को प्रोत्साहित करने के लिए प्रोत्साहन राशि देती है। मुझे विश्वास है कि टोक्यो में इन खिलाड़ियों के प्रदर्शन से हमारे प्रदेश के खेल प्रतिभागी भी प्रोत्साहित होंगे। हमारी सरकार ने हर गांव में एक खेल मैदान बनाने का निर्णय किया है और ग्राम पंचायत पर ओपन जिम निर्माण का निर्णय है। उत्तर प्रदेश सरकार हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी खोलने का ऐलान करती है। 16 खेल के लिए 44 छात्रावास संचालित हो रहा है। जिसमें बेहतर सुविधाएं दी जा रही हैं।

    **********************

    उत्कृष्ट खिलाड़ियों को प्रदेश में डिप्टी एसपी बनाने का प्रस्ताव...

    सीएम योगी ने कहा कि कुश्ती फेडरेशन के प्रस्ताव को हमने स्वीकार किया है, और हम खिलाड़ियों के डाइट मनी को 250 रु से बढ़ाकर 375 रुपए करने जा रहे हैं। उत्कृष्ट खिलाड़ियों को प्रदेश में डिप्टी एसपी बनाने का प्रस्ताव भेजा जाएगा। अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता और एशियन प्रतियोगिता में भी अनुदान राशि को बढ़ाने का निर्णय लिया गया है। अलग-अलग के जनपदों में भी कार्यक्रम हो रहे हैं और हर जनपद में 75 खिलाड़ियों का सम्मान किया जा रहा है। वहीं, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कहा कि खेलेगा युवा बढे़गा युवा नारे के साथ देश लड़की ने मान सम्मान बढ़ाया। पहले लड़कियों की खेलने किया जाता था, लेकिन लड़कियों ने बेड़ियों को तोड़ दिया। सीएम योगी ने एक खिलाडी का सम्मान नहीं किया, उन्होंने प्रत्येक खिलाड़ियों का सम्मान किया हैं। इससे पहले उत्तर प्रदेश के खेल एवं पंचायती राज्य मंत्री उपेंद्र तिवारी ने कहा कि आज उत्तर प्रदेश के लिए हर्षोल्लास का दिन है। आज का दिन ऐतिहासिक है| जो देश के लिए मेडल जीतने वालो का सम्मान किया जा रहा हैं। हमारे खिलाड़ियों ने यूपी ही नहीं पूरे देश के मान-सम्मान को दुनिया के पैमाने पर बढ़ाने का काम किया है। हम सब इसका सम्मान करते हैं। इस मौके पर इकाना स्टेडियम में करीब 10 हजार से अधिक लोग मौजूद हैं।

    अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ (एफआईएच) के अध्यक्ष डॉ नरेंद्र ध्रुव बत्रा ने कहा कि एथलेटिक्स में जबसे ओलिंपिक शुरू हुआ है। रजत पदक मीराबाई चानू ने और दूसरा रजत पदक रवि दहिया ने जीता। वहीं, भारत की पहली महिला बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी. सिंधु ने कांस्य पदक हासिल किया है। बॉक्सिंग में असम निवासी लवलीना बोरगोहेन ने कांस्य पदक व विश्व के नंबर 1 पहलवान बजरंग पुनिया ने भी कांस्य पदक ओलिंपिक में हासिल कर भारत का मान बढ़ाया है। 41 साल बाद हॉकी की टीम ने विजय हासिल की है।

    तालियों की गूंज के बीच महिला हॉकी टीम की कैप्टन रानी रामपाल ने कहा कि तीन मैच हारे, लेकिन पहला ही मैच हमने हॉलैंड के खिलाफ बढ़िया खेला। वहीं से हौसला आया। उत्तर प्रदेश पहला प्रदेश है, जिसने केवल पदक पाने वाले को नहीं बल्कि सबको बुलाया। इससे सबके दिल में आशा जगेगी कि हमारा सम्मान भी आगे होगा। 100 से ज्यादा अंतरराष्ट्रीय मैच भारत के लिए खेल चुके बनारस के ललित उपाध्याय ने कहा कि देश के लिए हॉकी खेलना गर्व की बात है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के बाहर के खिलाड़ियों को सम्मान देना बहुत बड़ी बात है। योगी सर ने जूम मीटिंग पर हमारा मनोबल बढ़ाया था। हमारा ध्यान खेल पर था। मेडल के लिए हॉकी इंडिया का धन्यवाद दिया। आगे कहा कि हम आशा करते हैं कि यहां के खिलाड़ियों पर सरकार और सीएम का आशीर्वाद बना रहेगा।

    भारतीय रेसलर बजरंग पुनिया ने कहा कि रेसलिंग एक ऐसा खेल है, जिसने 4 बार से मैडल दिया। रेसलिंग संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण की वजह से बहुत लाभ हुआ है। वह जब से आए हैं, तब से हम लोग 3 मैडल ला चुके हैं।

    भारत की पहली महिला खिलाड़ी पीवी. सिंधु ने सबसे पहले उत्तर प्रदेश सरकार का धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि पिछली बार भी हमको सम्मानित किया गया था। यह सम्मान हमारे लिए बहुत मायने रखता है। योगी सरकार के समर्थन के लिए धन्यवाद दिया।

    रेसलर रवि दहिया ने कहा कि इतना अच्छा प्रोग्राम किया गया, इसके लिए सबको धन्यवाद। वो ऐसा मंच था कि हम जीतने के लिए जाते हैं। ऐसे में विरोधी की ओर से दांत काटने पर भी सिर्फ दिमाग में जीत का लक्ष्य था। इसकी हमको पहले ही ट्रेनिंग दी गई थी। जय हिंद-जय भारत। 75 जिलों में भी सम्मान प्रदेश के सभी 75 जिलों में भी ओलिंपिक पदक विजेताओं के कार्यक्रम होंगे। इसमें मिशन युवा शक्ति के तहत सभी 75 जनपद मुख्यालयों पर आयोजित कार्यक्रम में जिलास्तरीय 75-75 खिलाड़ियों को सम्मानित किया जाएगा।

    INA NEWS(Initiate News Agency)

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.