Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    खंड विकास कार्यालय मिश्रित में तैनात अवर अभियंता लघु सिंचाई की भ्रष्ट कार्यशैली बनी चर्चा का विषय

    खंड विकास कार्यालय मिश्रित में तैनात अवर अभियंता लघु सिंचाई की भ्रष्ट कार्यशैली बनी चर्चा का विषय

    हाईलाइट्स-

    1. शिकायतकर्ताओं का आरोप, ग्राम प्रधानों से सुविधा शुल्क लेकर झूठी रिपोर्ट के जरिए कर रहे शिकायतों का निस्तारण
    2. महिला शिकायतकर्ता ने ऐसे भ्रष्ट अधिकारी को बर्खास्त करके एफआईआर दर्ज कराने की जिलाधिकारी से की मांग
    3. जिलाधिकारी विशाल भारद्वाज ने समीक्षा बैठक के दौरान दिया था आदेश, जब तक शिकायतकर्ता पूर्ण रूप से संतुष्ट न हो, शिकायत का नही होगा निस्तारण 

    मिश्रित/सीतापुर- उत्तरप्रदेश : विकासखंड मिश्रित की ग्राम पंचायत बरमी के मजरा गजोधरपुर निवासी मनोहर लाल पुत्र बिंद्रा प्रसाद ने दिनांक 31 जुलाई को प्रधान प्रतिनिधि / रोजगार सेवक अमित कश्यप और पंचायत सचिव पर मनरेगा में अमानक कार्यों के जरिए सरकारी धन का गमन करने सहित अपात्रों से सुविधा शुल्क लेकर दर्जनों सरकारी आवास देने का आरोप लगाते हुए जांच कार्यवाही हेतु मुख्यमंत्री जनसुनवाई पोर्टल पर शिकायत दर्ज कराई थी । जिसकी जांच खंडविकास कार्यालय मिश्रित में तैनात अवर अभियंता लघु सिंचाई महेश कुमार को सौंपी गई थी । आरोप है कि जांच अधिकारी गांव को कभी जांच करने नही गए। रोजगार सेवक अमित कश्यप को अपने कार्यालय में बुलाकर अपात्रों को पात्र बनाते हुए झूठी रिपोर्ट लगाकर शिकायत का निस्तारण कर दिया।

    इतना ही नहीं, इसी ब्लाक की ग्राम पंचायत सरसंई के मजरा अहलादखेड़ा निवासिनी कमला पत्नी जयपाल ने जिलाधिकारी को शिकायती पत्र देकर अवर अभियंता महेश कुमार पर गंभीर आरोप लगाते हुए बर्खास्त करके एफ आई आर दर्ज कराने की मांग की है । पीड़ित महिला का आरोप है कि उसके पति जयपाल ने खंड विकास अधिकारी रामकुमार उपाध्याय को 10 रूपए के हलफनामे पर आईडी संख्या और साक्ष्य सहित अपात्रों को सरकारी आवास देने का आरोप लगाते हुए जांच कार्यवाही हेतु शिकायत की थी । जिसकी जांच अवर अभियंता लघु सिंचाई महेश कुमार को सौंपी गई थी । इसमें भी अवर अभियंता गांव को कभी स्थलीय जांच करने नहीं गए और शिकायतकर्ता को कोई जानकारी भी नही दी । ग्राम प्रधान को अपने कार्यालय में बुलाकर अपात्रों को पात्र बनाते हुए झूठी रिपोर्ट लगाकर शिकायत का निस्तारण कर दिया। पीड़ित महिला ने मांमले का शिकायती पत्र जिलाधिकारी को देकर अवर अभियंता की भ्रष्ट कार्य शैली की जांच कराने तथा बर्खास्त करके एफ आई आर दर्ज कराने की मांग की है ।

    संदीप चौरसिया, मिश्रित/सीतापुर- उत्तरप्रदेश
    INA NEWS(Initiate News Agency)

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.