Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    लोभी ससुरालियों ने फांसी के फंदे पर टांग कर मारने का किया प्रयास

    लोभी ससुरालियों ने फांसी के फंदे पर टांग कर मारने का किया प्रयास

    सम्भल- उत्तरप्रदेश : बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ जैसे स्लोगन आप ने दीवारों पर लिखे देखे होंगे, लेकिन सरकार के कड़े निर्देश होने के बावजूद भी बेटियां अपने आप को सुरक्षित महसूस नहीं कर पा रही है। जहां दहेज के लोभियों ने दहेज की डिमांड पूरी न होने पर पहले पिटाई की। फिर तीन तलाक कहा और इतना करने के बावजूद भी परिवार के सदस्यों ने मिलकर फांसी के फंदे पर टांग कर मारने का प्रयास किया है। वहीं पति के द्वारा महिला की वीडियो बनाकर डायल 112 को देकर के आत्महत्या करने का मामला दर्शाने का प्रयास किया है।

    यूपी के जनपद सम्भल के थाना हयातनगर क्षेत्र के मोहल्ला चकली कोटला की रहने वाली महिला गुलाफ्शां की शादी बीते 4 वर्ष पूर्व अकरौली गांव से हुई थी। जहां पर महिला की मायके वाले अकरौली निवासी तौफीक ने अपनी ढाई बीघे जमीन बेच करके मांगी गई दहेज की धनराशि दे कर के मुस्लिम धर्म के हिसाब से निकाह किया था। वही महिला के पास दो बेटियां मौजूद हैं। जबकि आए दिन लगातार दहेज के लोभी ससुराल पक्ष के द्वारा प्रताड़ित करने और तीन तलाक देने की धमकी दी जा रही है। इतना ही नहीं हद तो जब हो गई। जब महिला अपने पति के घर पर कमरे में बच्चों को लेकर बैठी थी।

    तभी महिला का आरोप है कि ससुराल पक्ष के उसका पति अहमद हसन तथा जेठ नूर हसन एवं एबले हशन और उसकी जेठानी महाराज, नाजिया तथा सांस हाजरा बेगम एवं ननंद रोशन के पर आरोप है कि जबरन बेड के ऊपर टंगे पंखे में फांसी लगाकर मारने का प्रयास किया गया। फिर बाद में उस महिला की पति के द्वारा वीडियो बनाकर आत्महत्या दिखाने का ससुराल पक्षियों के द्वारा दावा किया गया। जबकि पीड़ित महिला का आरोप है कि डायल 112 घटनास्थल पर पहुंची तो वह सभी छोड़कर के घटना से फरार हो गए और बेड पर पेर टिक जाने के कारण सांसे चलती रही। जहां डायल 112 ने बमुश्किल बचाया है। वही दोषियों के चंगुल से बचकर के बेटी गुलअफशा ने अपने मायके अकरौली गांव पहुंची। जहां अपने पिता को अपने साथ हुई घटना की जानकारी दी है। वही मायके पक्ष के लोगों ने अपने क्षेत्रीय थाना बनियाठेर में तहरीर देकर के पुलिस प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है। लेकिन 24 घंटे बीत जाने के बाद भी पुलिस की ओर से आरोपियों के खिलाफ कोई भी एक्शन नहीं लिया गया है। अब देखना होगा कि पीड़ित बेटी को क्या न्याय मिल सकता है या फिर तहरीर की कॉपी फाइलों में सिमटकर के रह जाती है।

    उवैश दानिश, सम्भल- उत्तरप्रदेश 
    INA NEWS(Initiate News Agency)

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.