Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    जिलाधिकारी ने जारी किये ब्लॉक प्रमुख चुनाव के लिए दिशा निर्देश

    जिलाधिकारी ने जारी किये ब्लॉक प्रमुख चुनाव के लिए दिशा निर्देश

    सीतापुरउत्तरप्रदेश : जिला मजिस्ट्रेट विशाल भारद्वाज ने बताया कि राज्य निर्वाचन आयोग, उ0प्र0 के पत्र दिनांक 05 जुलाई 2021 द्वारा प्रमुख क्षेत्र पंचायत के सामान्य निर्वाचन-2021 हेतु निर्देश जारी किये गये हैं। आयोग द्वारा निर्धारित समय सारिणी के अनुसार प्रमुख क्षेत्र पंचायत के निर्वाचन हेतु मतदान दिनांक 10 जुलाई 2021 को (पूर्वान्ह 11.00 बजे से अपरान्ह 3.00 बजे तक) सम्पन्न कराया जाना है। प्रमुख क्षेत्र पंचायत निर्वाचन हेतु निर्वाचन अनुपाती प्रतिनिधित्व प्रणाली के अनुसार एक संक्रमणीय मत द्वारा होगा तथा ऐसे निर्वाचन में मतदान गुप्त मत द्वारा होगा। मत (वोट) मतदाताओं द्वारा स्वयं ही डाले जायेंगे और कोई मत प्रतिनिधिक मतदान  (Proxy) द्वारा स्वीकार नहीं किये जायेंगे।

    उत्तर प्रदेश क्षेत्र पंचायत (प्रमुख तथा उप प्रमुख का निर्वाचन और निर्वाचन विवादों का निपटारा) नियमावली, 1994 के नियम 25 (7) में निरक्षरता, अन्धता या अन्य अशक्तता के कारण मतपत्र को पढ़ सकने या उस पर अपना मत अभिलिखित कर सकने में असमर्थ सदस्यों को इस निमित्त अपने साथ एक साथी जिसकी आयु 21 वर्ष से कम न हो, और जो मतपत्र पढ़ सकने और उस पर सदस्य की इच्छानुसार उसकी ओर से मत अभिलिखित कर सकने और यदि आवश्यक हो तो मत को छिपाने के लिए मतपत्र को मोड़ने और उसे मतपेटी में डालने में समर्थ हो, ले जाने की अनुमति देने का प्राविधान है। प्रतिबन्ध यह है कि किसी व्यक्ति को किसी मतदान केन्द्र पर एक ही दिन एक से अधिक निर्वाचक के साथी के रूप में कार्य करने की अनुमति नहीं दी जायेगी।

    ‘‘यदि कोई सदस्य (निर्वाचक) निरक्षरता/दृष्टिबाधा/अन्य अशक्तता के कारण सहायक/साथी की मांग करता है तो वह मतदान प्रारम्भ होने के कम से कम 48 घण्टे पहले लिखित रूप में सहायक/साथी के पूर्ण विवरण के साथ निर्वाचन अधिकारी को आवेदन पत्र मेडिकल सार्टिफिकेट के साथ प्रस्तुत करेगा। निरक्षरता के सम्बन्ध में निर्वाचन अधिकारी सदस्य क्षेत्र पंचायत सा0नि0-2021 के निर्वाचन में नामांकन पत्र पर व नामांकन पत्र के साथ दाखिल शपथ पत्र पर किये गये हस्ताक्षर करने के ढंग को देखकर समाधान करेंगे तथा सहायक/साथी के सम्बंध में अनुमति प्रदान करेंगे। यदि उसने उसने हस्ताक्षर किया है तो सामान्यतः यह माना जायेगा कि व साक्षर है। दृष्टि बाधा/अन्य अशक्तता के सम्बंध में निर्वाचन अधिकारी उक्त आवेदन पत्र को मुख्य चिकित्साधिकारी को संदर्भित कर उन्हें जाँचोपरान्त प्रमाण पत्र निर्गत करने के निर्देश देंगे। मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा निर्गत प्रमाण पत्र के आधार पर निर्वाचन अधिकारी द्वारा निर्वाचक को सहायक/साथी की अनुमति प्रदान की जाएगी।

    निर्वाचन अधिकारी द्वारा सहायक/साथी के रुप में यथासम्भव उसके माता, पिता, पुत्र, भाई, बहन या पति/पत्नी में से ही किसी एक ऐसे व्यक्ति को अनुमति प्रदान की जायेगी।

    (क) जिसने 21 वर्ष की आयु पूर्ण कर ली हो। 

    (ख) जो सदस्य (निर्वाचक) की इच्छानुसार उसकी ओर से मत अभिलिखित कर सकने और यदि आवश्यक हो तो मत को छिपाने, मत को मोड़ने और मतपेटी में डालने में समर्थ हो।

    सहायक/साथी की अनुमति दिये जाने से पूर्व उससे निर्धारित प्रारुप पर घोषणा पत्र प्राप्त किया जायेगा कि निर्वाचक की ओर से अभिलिखित किये गये मत को गोपनीय रखेगा और उसने इसके पूर्व उस दिन मतदान में किसी अन्य सदस्य के सहायक/साथी के रूप में कार्य नहीं किया है।

    शरद कपूर,  सीतापुरउत्तरप्रदेश
    INA NEWS(Initiate News Agency)

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.