Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    पीलीभीत में रचा गया इतिहास सामूहिक रूप से हुआ तीन पुस्तकों का विमोचन

    पीलीभीत में रचा गया इतिहास सामूहिक रूप से हुआ तीन पुस्तकों का विमोचन

    डीसीओ व आरटीओ ने किया विमोचन, अतिथियों ने की पुस्तकों की सराहना

    पीलीभीत- उत्तरप्रदेश : सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी अमिताभ राय ने कहा है कि एक साथ तीन पुस्तकों का विमोचन पीलीभीत के इतिहास में नई इबारत लिख गया है। एक काव्य संग्रह, एक गीत संग्रह तथा एक कहानी संग्रह का विमोचन किया। इन रचनाकारों ने समाज के यर्थाथ को अपनी कलम से कागज पर उतारकर पुस्तक का रूप दिया है।

    सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी अमिताभ राय भारतीय निशक्तजन सेवा संस्थान और नवोदित साहित्यक संस्था के तत्वावधान में आयोजित पुस्तक विमोचन और काव्याजंलि कार्यक्रम में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि वह मोहित को जानते है, उनकी जिजीविषा से प्रेरणा मिलती है। ईश्वर यदि कोई कमी करता है तो उसकी भरपाई कोई और उपलब्धि देकर पूर्ण करता है। मोहित इसका उदाहरण है। उन्होंने गीतकार संजीव मिश्र शशि और डॉ.अरीबा हबीव की पुस्तकों को भी यर्थाथ का रुप बताया।

    समारोह में अतिथि जिला गन्ना अधिकारी जितेंद्र मिश्र ने कहाकि साहित्य समाज का दर्पण होता है। आज विमोचित तीनों पुस्तकों में इसका प्रतिबिंब झलकता है। उन्होंने इस अवसर पर मोहित शर्मा, डॉ.अरीबा हबीव और संजीव मिश्र शशि को बधाई दी कि उन्होंने सत्य का साक्षात्कार अपने साहित्य से कराया है।  

    आज का दिन पीलीभीत जिले के लिए काफी खास रहा, जब जनपद के तीन रचनाकारों की पुस्तकों का एक साथ एक ही कार्यक्रम में विमोचन किया गया। आप सब ने सामूहिक विवाह कार्यक्रम के आयोजन तो बहुत देखे होंगे लेकिन पीलीभीत में आज एक पहला ऐसा आयोजन था इसमें एक साथ तीन रचनाकारों संजीव शशि के गीत संग्रह राजदुलारी, डॉक्टर अरीवा हबीब के काव्य संकलन बोलते जज्बात मेरे और आपके और मोहित शर्मा स्वतंत्र गंगाधर के कहानी संग्रह का विमोचन अमेजन बैंकट हाल में विमोचन किया गया। जिला गन्ना अधिकारी जितेंद्र मिश्र व आरटीओ अमिताभ राय ने पुस्तकों का विमोचन करते हुए तहे दिल से इनकी सराहना की। कार्यक्रम संयोजक सुखवीर सिंह भदौरिया ने अतिथियों का स्वागत किया। समारोह की अध्यक्षता  वरिष्ठ कवि व पत्रकार अमिताभ अग्निहोत्री ने की।

    दूसरे सत्र में काव्याजंलि का आयोजन किया गया। इसमें लखीमपुर से आये ज्ञानप्रकाश आकुल, औरंगाबाद महाराष्ट्र से आये दिलशाद महेंदी, बलरामपुर से आये राजेश यादव, संजीव मिश्रा शशि, ज्ञान प्रकाश आकुल, सतीश मिश्र अचूक, जितेश राज नक्श, विकास स्वप्न, दीपक मौर्या, कुलदीप कल्प, प्रतीक सक्सेना, रुपाली शर्मा, अंकित चक्रवर्ती, संजय पांडे गौहर, केशव सक्सेना, शिवांग विसरिया, राहुल रावत, मोहित स्वतंत्र, डॉ. अरीबा हबीब, गुलनाज ने अपनी काव्य रचनाएं सुनाकर लोगों को सराबोर कर दिया। अध्यक्षता अमिताभ अग्निहोत्री, संचालन केशव सक्सेना व युवा कवि रचित दीक्षित ने किया।

    कुंवर निर्भय सिंह, पीलीभीत- उत्तरप्रदेश
    INA NEWS(Initiate News Agency) 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.