Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    हिंदुत्व के पहरेदार बंटी सक्सेना को योगिराज में नही मिल रहा इंसाफ

    हिंदुत्व के पहरेदार बंटी सक्सेना को योगिराज में नही मिल रहा इंसाफ

    • आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोपी ससुर और पत्नी को चार दिन बाद भी जेल नही भेज रही पुलिस
    • चार दिन पहले हयातपुरा निवासी अमित सक्सेना बंटी  ने किया था सुसाइड, जान देने से पहले वीडियो बनाकर लगाया था प्रताड़ना का आरोप
    • मुकदमा दर्ज होने वाले दिन ही ससुर और पत्नी को पुलिस ने पकड़ा था, अब तक जेल नही भेजे गए आरोपी

    शाहजहाँपुर- उत्तरप्रदेश : सोशल मीडिया पर भाजपा और हिंदुत्व का झंडा बुलंद करने वाले अमित सक्सेना बंटी को योगी आदित्यनाथ की सरकार में ही इंसाफ मिलते दिखाई नही दे रहा है। परिवार के लोग अफसरों के चक्कर काट रहे हैं, पुलिस चार दिन से ससुराल पक्ष के आरोपियों को कोतवाली में बैठकर आवभगत कर रही है। पीड़ित परिवार का कहना है कि पुलिस इस मामले में उनपर राजीनामे का दबाव बना रही है।

    आपको बता दें कि गत 14 जुलाई को चौक कोतवाली क्षेत्र के हयातपुरा निवासी अमित सक्सेना बंटी ने जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या कर ली थी। मरने से पहले बंटी ने अपने मोबाइल से वीडियो बनाये थे जिसमें वह अपनी पत्नी और ससुराल पक्ष के लोगो पर प्रताड़ित करने का आरोप लगा रहा है। उसी दिन बंटी के भाई सपा नेता अंकित सक्सेना की तहरीर पर पुलिस ने मृतक अमित सक्सेना बंटी की पत्नी और ससुर के खिलाफ आत्महत्या के लिए मजबूर करने का मुकदमा पंजीकृत किया था। उसी दिन पुलिस ने दोनो नामजद आरोपियों को हिरासत में ले लिया था। बाद में बंटी की पत्नी को छोड़ दिया गया जबकि उसके ससुर को कोतवाली में बैठा लिया। तीन दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस ने अबतक गिरफ्तार आरोपियों को जेल भेजना जरूरी नही समझा। ससुर अभी तक कोतवाली में बैठे हैं जबकि गिरफ्तारी के बाद 24 घंटे में आरोपी को कोर्ट में पेश किया जाना चाहिए। कोतवाली पुलिस इस मामले में पूरी तरह से लापरवाही बरत रही है। वहीं मृतक बंटी के भाई अंकित का कहना है कि पुलिस आरोपियों को जेल नही भेजना चाहती है, उन्हें सन्देह है पुलिस ने इस मामले में आर्थिक समझौता कर लिया है।

    फ़ैयाज़ उद्दीन, शाहजहाँपुर- उत्तरप्रदेश
    INA NEWS(Initiate News Agency)

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.