Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    दारुल उलूम परिसर में निर्माणाधीन पुस्तकालय और हेलीपैड बनाने का मामला

    दारुल उलूम परिसर में निर्माणाधीन पुस्तकालय और हेलीपैड बनाने का मामला

    आरटीआई से मिली जुर्माने जमा किए जाने की जानकारी

    देवबंद/सहारनपुर उत्तरप्रदेश : दारुल उलूम परिसर में निर्माणाधीन पुस्तकालय पर हेलीपैड बनाए जाने के प्रकरण में आरटीआई के तहत मांगी गई में जानकारी में पता चला है कि दारुल उलूम ने अभी तक 25 लाख रुपये का जुर्माना जमा किया है। बजरंग दल के प्रांत संयोजक विकास त्यागी ने आरटीआई के तहत प्रशासन से इस संबंध में सूचना मांगी थी। 

    बजरंग दल के प्रांत संयोजक विकास त्यागी ने आरटीआई के तहत जनसूचना अधिकारी नियतप्राधिकारी से दारुल उलूम में कंपाउंटिंग व शमन शुल्क गणना के लिए सहयुक्त नियोजक मेरठ कार्यालय को कितने पत्र लिखे गए, कंपाउंटिंग का कितना शमन शुल्क जमा कराया गया तथा अवैध निर्माण पर क्या कार्रवाई की गई है के संबंध में जानकारी मांगी थी। 15 जुलाई को दी गई जानकारी में बताया गया कि कंपाउंटिंग और शमन शुल्क की गणना के लिए सहयुक्त नियोजक मेरठ कार्यालय को अभी तक नौ पत्र भेजे जा चुके हैं। दारुल उलूम में बिना मानचित्र के निर्माण कार्यों पर अग्रिम धनराशि के रुप में अभी तक 25 लाख रुपये का जुर्माना जमा कराया जा चुका है। साथ ही यह भी बताया गया कि संस्था में अवैध निर्माण पर आरबीओ एक्ट 1958 के प्रावधानों के अनुसार कार्रवाई की जा रही है। विकास त्यागी ने कहा कि स्थानीय प्रशासन के बार बार पत्र लिखे जाने के बावजूद भी सहयुक्त नियोजक मेरठ कार्यालय के द्वारा अभी तक गणना न किया जाना खेद का विषय है। इस संबंध में शासन को अवगत कराया जाएगा।गौरतलब है कि विकास त्यागी ने दारूल उलूम में निर्माणाधीन पुस्ताकालय और हेलीपैड सहित अन्य निर्माण कार्यों को अवैध बताते हुए जांच की मांग की थी। जिसके बाद शासन ने जांच के आदेश दिए थे। जांच में हेलीपैड बनाने की कोई पुष्टि नहीं हुई थी, लेकिन पुस्तकायल के अन्य निर्माण कार्यों की कंपाउंटिंग कराई गई थी।

    शिबली इक़बाल, देवबंद/सहारनपुर उत्तरप्रदेश
    INA NEWS(Initiate News Agency)

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.