Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अयोध्या जनपद में लाखों की लागत से बने गांवों में सामुदायिक शौचालयों में लटके रहते हैं ताले

    अयोध्या जनपद में  लाखों की लागत से बने गांवों में सामुदायिक शौचालयों में लटके रहते हैं ताले

    अयोध्या - उत्तरप्रदेश : अयोध्या जनपद में गांव के सर्वांगीण विकास और पर्यावरण की सुरक्षा एवं स्वच्छता मिशन के तहत गांव में घर-घर शौचालय बनवाने का कार्य किया गया जिसे इज्जत घर भी कहा जाता है। और वहीं पर  लाखो रुपये की लागत से गांवों में सामुदायिक शौचालय बनवाए गए हैं, लेकिन तमाम गांव ऐसे हैं, जहां जिम्मेदारी की अनदेखी के चलते ताले लटकते नजर आ रहे हैं। नतीजतन लोग खुले में शौच जाने को आज भी मजबूर हैं। कई बार विभागीय अधिकारियों से ग्रामीणों ने शिकायत भी की,लेकिन ताला नहीं खुलवाया गया। कुछ गांव तो ऐसे हैं जहां पर तालाब की जमीन पर तालाब के किनारे सामुदायिक शौचालय बनवाए गए हैं। प्रधान की लापरवाही और सेक्रेटरी की लापरवाही यहां पर है जानते हुए भी तालाब की जमीन पर सार्वजनिक शौचालय बनवा दिए हैं। और बनने के बाद उसमें ताला लगा दिए हैं। तब से आज तक ताला नहीं खुला है। इससे ग्रामीणों में नाराजगी भी है।आलम यह है कि दिन प्रतिदिन बढ़ रहे प्रदूषण से हमारा पर्यावरण दूषित हो रहा है।

     संक्रामक  बीमारियों से बचाव के लिए और पर्यावरण को शुद्ध रखने के उद्देश्य से शासन ने गांवों में लोगों के घरों पर शौचालय बनवाए जाने के अलावा सार्वजनिक शौचालय के निर्माण के लिए भी करोड़ों रुपये खर्च किए। सार्वजनिक शौचालय बनवाए जाने का उद्देश्य यह रहा कि ठहरने वाले प्रवासियों व राहगीरों को भी शौच के लिए खुले में न जाना पड़े।अयोध्या जिले के  आने वाली सभी ग्राम पंचायतों में लाखों रूपए की लागत से सामुदायिक शौचालयों का निर्माण तो करा दिया गया है, लेकिन अधिकतर शौचालयों पर ताला लटके दिखते हैं। जिन शौचालयों पर ताला नहीं लगा था। वहां पर पानी सप्लाई की कोई व्यवस्था भी नहीं थी। ना ही विद्युत कनेक्शन ही मौके पर मिला।

    देव बक्श वर्मा, अयोध्या - उत्तरप्रदेश
    INA NEWS(Initiate News Agency) 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.