Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    राइस मिलर्स ने दी चेतावनी, मांग न मानने पर धान की कुटाई नहीं करेगी मिल

    राइस मिलर्स ने दी चेतावनी, मांग न मानने पर धान की कुटाई नहीं करेगी मिल

    गाजीपुर : गाजीपुर में उत्तर-प्रदेश राइस मिलर्स वेलफेयर एसोसिएशन की बैठक हुई| जिसमें राइस मिल मालिकों ने सरकार की नीतियों के विरोध में एक बैठक की और सरकार को चेतावनी दी कि यदि उनकी मांग सरकार नहीं मानती है और मिलर्स का उत्पीड़न नहीं बन्द करती है तो इस वर्ष पूरे प्रदेश में कोई भी राइस मिल धान की कुटाई नहीं करेगी।राइस मिल मालिकों ने कहा कि सरकार धान से चावल की रिकवरी 58 से 60 प्रतिशत और कुटाई की रेट 250 रुपया प्रति क्विंटल करे।

    धान की कुटाई से पहले यूपी के गाजीपुर में राइस मिलर्स एसोसिएशन की बैठक हुई।आज प्रदेश अध्यक्ष उमेशचन्द्र मिश्रा की अगुवाई में हुई राइस मिलरों की इस बैठक में कस्टम धान से चावल की रिकवरी को 58-60 प्रतिशत करने, कुटाई के रेट को बढ़ाकर 250 रुपये कुन्तल करने की मांग की गई। इसके साथ ही धान परिवहन और सीएमआर परिवहन टेण्डर द्वारा निर्धारित दर पर करने समेत कई अहम मांगो को मिलरों ने सरकार के सामने रखा।

    प्रदेशभर से जुटे मिलरों ने धान की कुटाई से होने वाली समस्त भुगतानों को तय समय सीमा में भी करने की मांग की। बैठक में अपनी मांग को ज़ोरदार तरीक़े से उठाते हुए मिलरों ने सरकार को आगाह किया कि अगर उनकी मांगें नही मानी गई तो मिलर्स ना तो अपनी मिलों का सत्यापन करायेंगे और ना ही इस साल  धान की कुटाई करेंगे।

    मिलरों की इस मांग के बाद अब किसानों की नजर सरकार पर टिक गई है क्योंकि धान की बुवाई का काम शुरु हो गया है। ऐसे में अगर उनके धान की ख़रीद नहीं हुई तो लॉकडाउन में कहीं उनकी कमर और ना टूट जाए।

    महताब आलम, गाजीपुर
    INA NEWS(Initiate News Agency)

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.