Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    प्रशासक और ग्राम पंचायत सचिव ने कागजों पर विकास कार्य दिखाकर किया लाखों का गड़ बड़ घोटाला

    प्रशासक और ग्राम पंचायत सचिव ने कागजों पर विकास कार्य दिखाकर किया लाखों का गड़ बड़ घोटाला

    मिश्रित/सीतापुर- उत्तरप्रदेश : विकासखंड मिश्रित की ग्राम पंचायत बिनौरा निवासी जाबिर , यासीन , शोफीन , मिन्दर , हरी प्रसाद , शिवनरायन पाल , महाबीर आदि एक दर्जन तक ग्रामीणों ने मुख्य मंत्री जन सुनवाई पोर्टल शिकायत दर्ज कराकर कार्यवाही करने की मांग की है । ग्रामीणों का आरोप है कि ग्राम पंचायत बिनौरा में तैनात प्रशासक व ग्राम विकास अधिकारी ने विकास कार्य कराने के नाम पर लाखो रुपयों की धनराशि निकाली है । परन्तु ग्राम पंचायत के किसी भी मजरे में इस दौरान  कोई विकास कार्य नही कराया गया है । सभी विकास कार्य कागजों पर दिखाकर सरकारी धन का गमन किया गया है । ज्ञात हो कि बीते 25 दिसंबर 2020 को ग्राम प्रधानों का कार्य काल पूरा होने के कारण विकासखंड मिश्रित की 71 ग्राम पंचायतों में ग्राम प्रधानों के खातों पर रोंक लगाकर विकास कार्य कराने हेतु प्रशासक नियुक्त करते हुए ग्राम विकास अधिकारियों को विकास कार्य कराने का जिम्मा सौंपा गया था । जिससे ग्राम पंचायत बिनौरा में तैनात प्रशासक और ग्राम पंचायत सचिव ने इस दौरान कागजों पर विकास कार्य दिखाकर लाखों रुपयों की धनराशि आहरित की है । वर्ष 2021 में चतुर्थ राज्य बित्त से दिनांक 22 मई को हैण्ड पम्प मरम्मत के नाम पर 30 हजार पांच सौ रुपए निकाले गये है । जबकि मई मांह में किसी भी हैण्ड पम्प की मरम्मत नही कराई गई है । 22 मई को ही पंचायत भवन निर्माण के नाम पर 1, 20229 रुपए निकाले गए है । ग्राम पंचायत में आज तक कहीं भी पंचायत भवन का निर्माण नही कराया गया है । 22 मई को ही गांव में  इण्टर लाकिंग कार्य दिखाकर 32 , 494 रुपए की धनराशि निकाली गई है ।

    आज तक इंटर लाकिंग कार्य नही हुआ है । दिनांक 21 मई को तीन बार में 68,391 रुपए प्रशासनिक ब्यय के नाम पर निकाले गए है ।  22 मई को ही 1,26775 जन सुविधा केंद्र के नाम पर निकाले गए है । 23 मई को चतुर्थ राज्य वित्त आयोग से लाल मोहम्मद के मकान से तालाब तक नाली निर्माण कार्य दिखाकर 85525 रुपए निकाले गए है । जब कि आज तक नाली का निर्माण कार्य नही कराया गया है । ग्रामीणों का आरोप है । कि यह तो मात्र बानगी भर है । अगर ग्राम पंचायत के सभी मजरों का स्थलीय निरीक्षण करा लिया जाय । तो सारी कलई खुद व खुद खुल कर सामने आ जाएगी । इस लिए यहां के सभी ग्रामीणों ने जिला प्रशासन व प्रदेश शासन का ध्यान इस ओर आकर्शित कराते हुए दिनांक 1 अप्रैल से 30 मई 2021 तक तैनात प्रशासक और पंचायत सचिव व्दारा ग्राम पंचायत में कराए गये विकास कार्यों की उच्चस्तरीय जांच कराकर दोषी लोगों के विरुध्द कार्यवाही करने की मांग की है ।

    संदीप चौरसिया, मिश्रित/सीतापुर- उत्तरप्रदेश
    INA NEWS(Initiate News Agency)

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.