Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अयोध्या से बसपा ने किया 2022 के चुनावी शंखनाद

    अयोध्या से बसपा ने किया 2022 के चुनावी शंखनाद

    सतीश मिश्रा ने कहा बसपा की सरकार बनने पर ब्राह्मणों को पूरा सम्मान मिलेगा

    अयोध्या - उत्तरप्रदेश : विधानसभा का चुनाव 2022 में पुणे है जिसके लिए सभी राजनीतिक दल अभी से ही चुनावी प्रचार शुरू कर दिए हैं उसी क्रम में बसपा ने आज अयोध्या से अपनी चुनावी शंखनाद कर दी।बसपा के महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा ने अयोध्या पहुंचकर सबसे पहले सरयू पूजन।सरयू में  आचमन किया । सवा कुंटल दूध से  दुग्धाभिषे किया।उसके बाद अयोध्या से ताराजी रिसार्ट कार्यक्रम स्थल पहुंचे।

    बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा ने कहा कि चुनावी शुरुआत हमने अयोध्या से की है। राम लला का दर्शन,हनुमान जी का दर्शन सरयू माता का दर्शन तथा संत महंत व संतो से आशीर्वाद लिया मुलाकात किया।सरयू माता का भी दर्शन पूजन किया। कोरोना काल के चलते छोटा सा कार्यक्रम है। कोरोना काल खत्म होने के बाद बड़ी सभा की जाएगी। उन्होंने कहा लोग पूछ रहे हम अयोध्या क्यो आये। हम पूछना चाहते हैं क्या भाजपा की ठेकरदारी हो गयी है अयोध्या की। भगवान राम को वर्षो भाजपा ने टेंट में रखा।।केंद्र व प्रदेश में सरकार भाजपा की थी।सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद अब शुरू हुआ मन्दिर निर्माण। मन्दिर के नाम पर वर्षो से चंदा इक्कठा किया।।एक वर्ष हो गया।अभी राम लला मन्दिर में नही है। एक साल में नीव भी नही बन पाई|

    क्या अयोध्या के महंतो से मन्दिर निर्माण पर राय ली गयी।हमारी सरकार में एक साल में भव्य स्मारक बन गया। ये एक साल में नीव नही बना पाए। पूरे प्रदेश में शंखनाद होगा। 2022 में बसपा की बनेगी सरकार ब्राह्मणों को मिलेगा पूरा सम्मान। ये मंदिर बनाना नही चाहते।हम इन्हें मजबूर कर देंगे। मन्दिर बनाने के लिए। ये कहते है ब्राह्मण को क्यो जोड़ रहे है।।उन्होंने ब्राह्मणों के लिये क्या किया। पत्रकारिता में भी 90 % ब्राह्मण है। वकालत छोड़ कर हम समाज सेवा कर रहे है।।हमे राज्यसभा भेजा गया। ब्राह्मणों को सम्मान दिलाना है जिसके लिए जीते है। 13% ब्राह्मण है फिर भी हासिये पर है।इसका कारण ब्राह्मण एक जुट नही हो पा रहा है। ब्राह्मणों को एक जुट होना पड़ेगा।असली ताकत तभी मिलेगी जब ब्राह्मण एक जुट होगा।13% ब्राह्मण व 23% दलित एक हो जाएगा।।तो सरकार बनने से कोई नही रोक पायेगा। ब्राह्मण समाज बुद्धजीवी समाज है। हाथी नही गणेश है। ब्रम्हा विष्णु महेश है। बसपा सरकार में 62 सीट ब्राम्हण जीते। ब्राह्मण समाज के कारण ही बसपा की पूर्ण बहुमत की सरकार आयी थी। 2200 ब्राह्मणों को सरकारी वकील बनाया गया। बसपा सरकार में ब्राह्मण अधिकारी को उचित तैनाती दी गयी। प्रदेश के ब्राह्मणों से आह्वान है।जितनी ब्राह्मणों की हत्या हुई उससे सबक ले। ब्राह्मण, ब्राह्मण है चाहे वो कान्यकुब्ज हो या सरयू पारीण। क्या दोष है उस लड़की खुशी का जो 16 साल की है जो जेल में बंद है। हादसे के 48 घण्टे भी नही हुए थे उसे आये हुए।फिर भी उसे जेल भेज दिया।उसके मा बाप कानपुर और उसे बाराबंकी जेल में रखा गया। जिसका नाम खुशी और वो दुखी हो गयी। मुख्यमंत्री जी को इस मामले पर खुद संज्ञान लेना चाहिए।

    समाजवादी पार्टी का तो जिक्र ही नही करना चाहिए। ब्राह्मण को तो वो दुश्मन समझते है। ब्राह्मण समाज जिधर घूम जाएगा वो सरकार बना देगा। ब्राह्मण समाज के पास इसलिये आये है कि 10 सालो से ब्राह्मण समाज उपेक्षित है। उसे सम्मान दिलाना है।हम हमने आराध्य भगवान राम के पास आये है। तो इन्हें क्या परेशानी है। पूरा विश्व जानता है जब बहन जी की सरकार आती है तो कानून व्यवस्था दुरुस्त हो जाती है। दूसरे चरण में हम वृंदावन मथुरा जाएंगे। बांके बिहारी का करेंगे दर्शन पूजन करेंगे। भाजपा वाले भगवान राम की बात करते है लेकिन माता सीता की बात नही करते। तीसरे चरण में हम कासी विश्व नाथ जाएंगे। अंत मे सतीश चन्द्र मिश्र ने  जय श्रीराम के नारे लगाए।जय परशुराम के नारे। जय भीम जय भारत माता के नारे लगाए।

    देव बक्श वर्मा, अयोध्या - उत्तरप्रदेश
    INA NEWS(Initiate News Agency) 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.